Crime NewsJharkhandPalamu

पलामू: गैंगस्टर कुणाल सिंह मर्डर केस का मास्टरमाइंड गिरफ्तार, ओड़िशा में रह रहा था

Palamu: पलामू के गैंगस्टर और एक्स आर्मीमैन कुणाल सिंह मर्डर केस के सूत्रधार मेदिनीनगर निवासी शक्ति सिंह को पुलिस ने शनिवार को उसके घर से गिरफ्तार कर लिया. शक्ति सिंह ओड़िशा के पुरी में रह रहा था. गुप्त सूचना पर पलामू से पुलिस की एक टीम पुरी गयी और उसे वहां से उसे हिरासत में लिया. बाद में उसे उसके मेदिनीनगर के नावाटोली स्थित घर से गिरफ्तार किया. उसके घर से कई बैंक दस्तावेज, लाइसेंसी हथियार और गोलियां पुलिस ले लायी है. पुलिस इसकी जांच कर रही है.

मेदिनीनगर शहर थाना में शक्ति सिंह की गिरफ्तारी की जानकारी देते हुए पलामू के एसपी चंदन कुमार सिन्हा ने कहा कि अपराध के पैसों पर पलने वाले लोग बक्शे नहीं जायेंगे. अपराधी चाहे झारखंड में रहे हो या दूसरे राज्यों में, उनकी गिरफ्तारी होगी.

इसे भी पढ़ें :Good News : रेलवे टिकट बुकिंग अब और आसान, UTS एप से हिंदी में भी बुक करें टिकट, जानें तरीका

advt

एसपी ने कहा कि शक्ति सिंह कुख्यात अपराधी गिरोह डब्लू सिंह के लिए पैसा कलेक्शन करता था. गैंगस्टर कुणाल सिंह हत्याकांड में साजिश रचने वालों में शक्ति सिंह भी शामिल था. उसका नाम एफआईआर में नहीं था, लेकिन अनुसंधान में सामने आया. न्यायालय से वारंट निर्गत कराकर उसे गिरफ्तार किया गया.

डब्लू सिंह 26 से 27 आपराधिक कांडों का आरोपी है. सूचना मिली है कि इस गिरोह से जुड़े लोग आधे पैसे में जमीन बेचवा देने सहित अन्य अवैध कार्य कर बड़ी कमाई कर रहे हैं. इनकी सोच ब्लैक मनी से बड़ा सम्राज्य खड़ा करना है, लेकिन ऐसा नहीं होने दिया जाएगा.

adv

गिरफ्तारी अभियान में आइपीएस अधिकारी सह मेदिनीनगर के एसडीपीओ के. विजय शंकर, प्रशिक्षु आईपीएस कपिल चौधरी के अलावा शहर थाना प्रभारी अरूण कुमार महथा दल बल के साथ शामिल थे. मौके पर टाउन इंस्पेक्टर अभय कुमार सिन्हा उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें :बंपर सरकारी नौकरी : बिहार में एएनएम स्टाफ नर्स के 8853 पोस्ट के लिए करें अप्लाई

विदित हो कि कुणाल सिंह की हत्या गत 3 जून 2020 की सुबह 7 बजे शहर थाना क्षेत्र के सुदना पॉवर ग्रिड के सामने कर दी गयी थी. घटना के समय कुणाल सिंह अपनी चार पहिया वाहन से बीसफुट्टा की ओर जा रहा था.

इसी क्रम में सामने से दूसरे वाहन से उसके वाहन में टक्कर मारी गयी थी और बाद में कई गोलियां मारकर उसकी हत्या कर दी गयी थी.

कुणाल सिंह हत्याकांड में शक्ति सिंह की गिरफ्तारी के बाद अबतक आधा दर्जन अपराधियों को न्यायिक हिरासत में भेजा जा चुका है.

इसे भी पढ़ें :रघुवर दास ने की नगर आयुक्त से बात, बिरसा नगर में 10 दिनों के भीतर लाभुकों को पीएम आवास का किया जायेगा आवंटन

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: