JharkhandLead NewsPalamu

Palamu : हिंडालको के कठौतिया माइंस में विस्फोट से किशोर की मौत, जीएम समेत 10 पर नामजद एफआइआर

Palamu : जिले के पंडवा प्रखंड के कठौतिया में हिंडालको के कोयला खदान में विस्फोट से एक 14 वर्षीय बच्चे की मौत के मामले में कंपनी के जीएम समेत 10 पदाधिकारियों के खिलाफ पंडवा थाना में प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है. बच्चे के पिता बदेश्वर महतो, पिता बेचन महतो के लिखित आवेदन पर इस संबंध में प्राथमिकी दर्ज की गयी है. बताते चलें कि सोमवार दोपहर करीब 2 बजे दिन में बदेश्वर महतो के 14 वर्षीय पुत्र मंजीत कुमार महतो की ब्लास्टिंग के बाद बारूद के जहरीले धुंए से दम घुटने से मौत हो गयी थी.

12 घंटे तक शव के साथ प्रदर्शन

लापरवाही और सुरक्षा मानक के विपरीत माइंस की ब्लास्टिंग से बच्चे की मौत होने का आरोप लगा कर बदेश्वर महतो के अलावा अन्य लोगों ने कठौतिया कोल माइंस परिसर में 12 घंटे तक प्रदर्शन किया था. सोमवार-मंगलवार की रात करीब 1.30 बजे जिले के सहायक पुलिस अधीक्षक सह सदर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी ऋषभ गर्ग के समझाने पर प्रदर्शनकारी शांत हुए थे. एसडीपीओ ऋषभ गर्ग ने मंगलवार को जानकारी दी कि मामले में बच्चे के पिता के लिखित आवेदन पर कंपनी के जीएम समेत 10 पदाधिकारियों के खिलाफ पंडवा थाना में प्राथमिकी दर्ज की गई है. मामले में छानबीन की जा रही है.

शव पोस्टमार्टम के लिए रिम्स रेफर

इधर, शव को बरामद करने के बाद पंडवा पुलिस पोस्टमार्टम के लिए एमआरएमसीएस में भेजा, लेकिन यहां से उसे रांची रिम्स रेफर कर दिया गया. पुलिस सूत्रों के अनुसार बच्चे की मौत विस्फोट के बाद बारूद की जहरीली गैस की चपेट में आने से मौत हुई है। ऐसे में रिम्स में ही बेहतर पोस्टमार्टम हो पाएगा और उसकी रिपोर्ट आ आएगी.

पंडवा के थाना प्रभारी नवल कुमार साह ने बताया कि कंपनी के जीएम मयंक चक्रवर्ती, माइंस मैनेजर राजू सिंह, सेफ्टी मैनेजर अश्विनी कुमार, एचआर हेड अरूप बनर्जी, डिप्टी मैनेजर विशाल कश्यप, लैंड मैनेजर चेतलाल विश्वकर्मा, संजय गुप्ता, अमूल्य प्रताप सिंह, सेफ्टी ऑफिसर नितेश पुरानिक एवं मां अंबे माइनिंग प्राइवेट लिमिटेड के बलेश्वर सिंह के खिलाफ सुरक्षा मानक की अनदेखी कर खनन एवं ब्लास्टिंग करने का आरोप लगाते हुए बच्चे की मौत का कसूरवार बताया है एवं प्राथमिकी दर्ज की गई है.

लापरवाही से विस्फोट करने के कारण हुई मौतः पिता

आवेदन में बदेश्वर महतो कहा है कि सोमवार 23 जनवरी की दोपहर करीब 2 बजे सुरक्षा मानक की अनदेखी कर खनन एवं ब्लास्टिंग की जा रही थी. हिंडालको कंपनी स्वयं खनन नहीं करती, खनन का कार्य अंबे माइनिंग प्राइवेट लिमिटेड से कराती है. अपने घर के समीप से काफी जोर से बम फटने की आवाज सुनाई दी. घर से बाहर निकलने पर धुंआ ही धुंआ ही दिखाई दे रहा था. धुंआ कम होने पर देखा कि कंपनी के उपरोक्त लोग सुरक्षा मानक की अनदेखी कर खनन एवं ब्लास्टिंग करवा रहे हैं. साथ ही अन्य लोगों को भागो भागो कह रहे थे और स्वयं भाग रहे थे. इसी बीच उसका पुत्र मंजीत माइंस के खनन क्षेत्र में जमीन पर लेटा हुआ मिला. देखा तो छटपटा रहा था. तभी मैं अभिषेक मेहता उर्फ पंचम मेहता से पूछा तो उसने बताया कि कंपनी के कर्मचारियों के द्वारा ब्लास्टिंग की गई है, जिसके जहरीले धुएं से मनजीत अचेत पड़ गया है. मंजीत को उठाकर पंडवा अस्पताल ले गए, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया.

इसे भी पढे़ं – महिला बैंक मैनेजर ने फंदे से झूल कर की आत्महत्या

Related Articles

Back to top button