JharkhandPalamu

पलामू : नशा उन्मूलन पर जागरूकता के लिए सड़कों पर उतरे न्यायिक पदाधिकारी, बस स्टैंड व डाकघर के बाहर लोगों को किया आगाह

Palamu : आजादी के अमृत महोत्सव पर पलामू जिला विधिक सेवा प्राधिकार के तत्वावधान में मंगलवार को बस स्टैंड व डाकघर परिसर में नशा उन्मूलन पर जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया कार्यक्रम का नेतृत्व प्राधिकार के सचिव अरविंद कच्छप ने किया.

शिविर में उन्होंने कहा कि नशा करने वाला व्यक्ति का जीवन कभी खुशहाल नहीं होता. नशा मुक्त समाज बनाने के लिए हर व्यक्ति को अपने स्तर पर प्रयास करना चाहिए. नशा की लत से हमने बड़े-बड़े घर को उजड़ते देखा है.

advt

नशा करने वाला व्यक्ति अपना मान सम्मान सब कुछ खो देता है. अपना अच्छा और बुरा नहीं समझ पाता है और वह गलत राह पर चलने लगते हैं.

इसे भी पढ़ें:4 में हुई कोरोना की पुष्टि, कुल संक्रमितों की संख्या पहुंची 51,911

बीएन लॉ कॉलेज के प्राचार्य पंकज कुमार ने कहा कि नशा करने वाला व्यक्ति अपनी स्मृति व संवेदनशीलता अस्थाई रूप से खो देता है. नशे के सेवन से दिमाग की कोशिकाओं पर बहुत बड़ा प्रभाव पडता हैं.

नशाखोरी भारतीय समाज में बड़ी समस्या बन चुकी हैं. लोग जीवन के तनाव व विफलताओं से पीछा छुड़ाने के लिए नशे की लत का सहारा लेते हैं.

इसे भी पढ़ें:रोक के बावजूद नगर आयुक्त ने लागू कर दी जल संयोजन की नयी नियमावली : मेयर

मौके पर पीएलभी करण थापा ने कहा कि 70 फीसदी से अधिक अपराध नशे की हालत में रहते हैं. या अपराध को अंजाम तक पहुंचाने के लिए नशा करते हैं. उन्होंने जिला विधिक सेवा प्राधिकरण से मिलने वाली सुबिधा के बारे में विस्तार से चर्चा की. कहा कि न्याय सबके लिए अब सुलभ हो गया हैं.

विदित हो कि रेलवे स्टेशन पर रेलवे न्यायिक दंडाधिकारी मनोज कुमार द्वारा व विभिन विभिन्न पंचायत में पैनल अधिवक्ता व पीएलभी द्वारा भी नशा मुक्ति पर जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया.

इसे भी पढ़ें:हेमंत की शिकायतों पर केंद्र गंभीर- नीति आयोग, कोयला, ऊर्जा और जल शक्ति मंत्रालय से होगी वार्ता, 7 अक्टूबर तक मांगा प्रपोजल

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: