JharkhandPalamu

पलामू: गैंगस्टर बाबू बक्शी हत्याकांड में जमुने के उपमुखिया पति गिरफ्तार,  साथियों के साथ दिनदहाड़े मार दी थी गोली

Palamu :  सदर थाना पुलिस ने गैंगस्टर रमेश भुईयां उर्फ बाबू बक्शी हत्याकांड के मुख्य आरोपी जमुने पंचायत के उपमुखिया पति को गिरफ्तार कर लिया है. उपमुखिया पति शंकर राम हत्याकांड के बाद से लगातार फरार चल रहे थे. बीड़ी पता कारोबार में रंगदारी मांगे जाने पर और जान को खतरा देखकर शंकर राम ने अपने साथियों के साथ मिलकर गत 4 जून को दिनदहाड़े बाबू बक्शी को गोली मार दी थी.

इसे भी पढ़ेंः आखिर किस विधायक के बागी होने का डर था बीजेपी शीर्ष नेतृत्व को

मेदिनीनगर सदर थाना क्षेत्र के चियांकी रजवाडीह बाईपास रोड में मटपुरही स्कूल के पास बाबू बक्शी की हत्या की गयी थी. हत्याकांड के बाद 14 दिनों से मुख्य आरोपी फरार चल रहा था. इस मामले में चार आरोपियों को पहले ही जेल भेजा जा चुका है. गुप्त सूचना पर उसे उसके घर से दबोचा गया.

सदर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी संदीप गुप्ता ने बताया कि रमेश भुईयां उर्फ बाबू बक्शी हत्याकांड में मृतक के भाई निर्मल भुइयां के फर्दबयान पर 10 नामजद एवं 10-12 अज्ञात के विरूद्ध मामला दर्ज किया गया था. पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर उनके नेतृत्व में छापामारी दल  ने पिछले दिनों प्राथमिकी अभियुक्त संजय राम, चानु भुईयां, रवि राम उर्म रवि कुमार, बिक्की कुमार को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेजा है.

शेष नामजद अभियुक्तों की गिरफ्तारी हेतु संभावित ठिकानों पर लगातार छापामारी की जा रही थी. इसी क्रम में कांड के मुख्य प्राथमिकी अभियुक्त शंकर राम को मटपुरही स्थित उसके घर से गिरफ्तार किया गया.

इसे भी पढ़ेंः  खनन कंपनियों पर एक साल भी लागू रहा कोविड-19 टैक्स तो सरकारी खजाने में आयेंगे करीब 180 करोड़

गिरफ्तार आरोपी शंकर राम द्वारा बयान में बताया गया है कि बाबू बक्शी उर्फ रमेश भुईयां (मृतक) को पैसा को लेकर गोली चलायी थी. जिसमें बाल बाल बच गये थे. बाबू बक्शी द्वारा बीडी पत्ता को लेकर एक लाख रूपए रंगदारी की मांग की गयी थी. जिससे वह परेशान था.

4 जून 2020 को शंकर राम सहयोगियों की साथ मटपुरही स्कूल के पास था. इसी दौरान बाबू बक्शी एवं उसके दोस्त रूजन भुईयां और गुड्डू भुईयां मटपुरही स्कूल के पास आकर शंकर राम को गाली गलौज करते हुए बोलने लगा कि बीड़ी पत्ता का काम बंद कर दो, नहीं तो गोली मार देंगे.

इस पर बाबू बक्शी एवं शंकर और उसके साथियों के बीच गाली गलौज एवं मारपीट होने लगी. शंकर राम को लगा कि बाबू बक्शी उसको जान से मार देगा. इस पर शंकर राम ने अपने पास रखे पिस्टल से बाबू बक्शी उर्फ रमेश भुईयां पर गोली चला दी. जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गयी.

छापामारी टीम में सदर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी संदीप कुमार गुप्ता, पु.अ.नि. सह सदर थाना प्रभारी राकेश कुमार रवि, स.अ.नि. बंधनी लकड़ा और सशस्त्र बल शामिल थे.

इसे भी पढ़ेंः सुंदर पहल : बच्चों की कॉपी के माध्यम से शिक्षा विभाग घर-घर देगा कोरोना से बचाव की जानकारी

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: