JharkhandPalamu

पलामू: कार लूट और हत्याकांड का उद्भेदन-पति-पत्नी सहित चार गिरफ्तार

Palamu :  पलामू जिले की चैनपुर थाना पुलिस ने दो कांडों का उद्भेदन करते हुए दंपति सहित चार को गिरफ्तार किया है. इसमें दो लुटेरे भी शामिल हैं. लुटेरों के पास से लूटी गयी स्वीफ्ट डिजायर कार की चाभी और तीन मोबाइल फोन बरामद किए गए हैं.

21 जून को लूटी गयी थी कार 

मेदिनीनगर सदर एसडीपीओ संदीप गुप्ता ने बताया कि गत् 21 जून को जिले के मनातू थाना के कांके निवासी हीरालाल महतो की स्विफ्ट डिजायर कार (जेएच01सीसी 4743) को रांची से डालटनगंज जाने के लिए 3200 रू. भाड़े पर बुक किया गया था. डालटनगंज आने के बाद लूटेरों ने कार चालक को चैनपुर के नेउरा की ओर जाने के लिए कहकर सलतुआ जंगल की ओर ले गए और चाकू दिखाकर उसे काबू में कर लिया. और गाड़ी से गिराकर भाग निकले. इस कांड में एक नामजद और दो अज्ञात के विरुद्ध मामला दर्ज कराया गया था.

इसे भी पढ़ेंः पतंजलि का यूटर्न, उत्तराखंड आयुष विभाग के नोटिस पर कोरोना की दवा के दावे से पलटा

पुलिस कार्रवाई से घबराकर लावारिस छोड़ गए थे कार  

सूचना के बाद कार्रवाई तेज की गयी और पुलिस छानबीन से घबराकर लुटेरे कार को काराकाट बन्दुआ में लावारिश छोड़कर फरार हो गये. कार को जब्त करने के बाद अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए छापामारी तेज की गयी थी. इसी क्रम में तकनीकी साक्ष्यों के आधार पर 28 जून को बारियातू थाना क्षेत्र से निशांत कुमार सिंह एवं मेदिनीनगर के बारालोटा से आलोक राज को गिरफ्तार किया गया. आलोक के पास से कार की चाभी बरामद हुई.

20 जून को बनायी गयी थी कार लूटने की योजना 

लुटेरा निशांत कुमार सिंह ने स्वीकारोक्ति बयान में बताया कि 20 जून को चार चक्का वाहन लुटने की योजना बनाकर कार बुक की थी. डालटनगंज पहुंचने पर चालक को नेउरा पहुंचाने के बहाने सलतुआ जंगल की ओर ले गए और दोनों ने मिलकर चालक को चाकू का भय दिखाया और गाड़ी से नीचे गिरा दिया. चालक का मोबाइल छीनकर गाड़ी लेकर फरार हो गये. पुलिस की सख्ती देखकर बंदुआ काराकट रोड में गाड़ी को छोड़ दिया.

इसे भी पढ़ेंः Kolkata : मेट्रो ने किया स्पष्ट- रेल मंत्रालय की अनुमति के बगैर नहीं चलेगी ट्रेन

हत्याकांड में पति-पत्नी गिरफ्तार, छह माह से चल रहे फरार 

चैनपुर के गरदा गांव में गत् 26 जनवरी 2020 को हुई पूनम देवी हत्याकांड का भी पुलिस ने खुलासा किया है. एसडीपीओ संदीप गुप्ता ने बताया कि पूनम की हत्या का आरोप लगाकर उसके भाई ब्रजकिशोर ने मामला दर्ज कराया था. इसमें पूनम की गोतनी मीना देवी और देवर विष्णु कुमार पासवान को आरोपी बनाया गया था. घटना के बाद से दोनों फरार चल रहे थे. उनकी गिरफ्तारी के लिए लगातार कार्रवाई की जा रही थी. 28 जून को सतबरवा स्थित सोमर साव के मकान से दोनों को गिरफ्तार किया गया.

पैतृक जमीन के झगड़े में की थी हत्या

गिरफ्तार विष्णु पासवान ने बताया कि उसके बड़े भाई संजय पासवान और भाभी पूनम देवी से हमेशा पैतृक जमीन को लेकर झगड़ा होता रहता था. 26 जनवरी की सुबह पत्नी एवं साला गजन उर्फ ज्ञानचंद पासवान के साथ मिलकर पूनम देवी की गला दबाकर हत्या कर दी थी. और मामले को आत्महत्या करार देने के लिए शव को पटवट के उपर कंडी में मृतका की साड़ी से टांग दिया था. आरोपी पति-पत्नी पूर्व में जेल जा चुके हैं.

दोनों कांडों के गिरफ्तारी अभियान में एसडीपीओ के अलावा पुलिस निरीक्षक आर.आर. शाही, पुलिस निरीक्षक सह थाना प्रभारी सुनीत कुमार, परि.पु.अ.नि जयप्रकाश पासवान सहित अन्य शामिल थे.

इसे भी पढ़ेंः ट्रंप के खिलाफ ईरान ने जारी किया गिरफ्तारी वॉरंट, इंटरपोल मुख्यालय से मांगी मदद

Telegram
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close