न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

दोहरी भूमिका में सीआरपीएफ, नक्सल अभियान और सामाजिक उत्थान साथ-साथ 

33

Palamu : नक्सल अभियान के साथ सीआरपीएफ द्वारा अब सामाजिक सरोकार के मामलों में भी तेजी से दिलचस्पी ली जा रही है. सामाजिक बदलाव और ग्रामीणों को राहत देने के लिए सीआरपीएफ की ओर से कई कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं, जिससे सुखद परिणाम सामने आये हैं. ऐसे कार्यक्रमों से ग्रामीणों में सीआरपीएफ की नकारात्मक छवि दूर हुई है, वहीं सामाजिक कार्यों से इलाके में बदलाव आया है.

mi banner add

कौन-कौन से चल रहे हैं कार्यक्रम

सीआरपीएफ की 134वीं बटालियन की ओर से पलामू जिले में 11वें आदिवासी यूथ एक्सचेंज कार्यक्रम, सिविक एक्शन प्रोग्राम के तहत कंबल, पाठ्य सामग्री और दैनिक इस्तेमाल के सामानों का वितरण, पुस्तकालय की शुरूआत, शिक्षित युवक-युवतियों को कंप्यूटर कोर्स, बेरोजगारों को मोटर ड्राइविंग की ट्रेनिंग के साथ-साथ अन्य समाजिक कार्य किए जा रहे हैं.

20 छात्राएं आज तकनीकी शिक्षा ले रही हैं

वित्तीय वर्ष के दौरान करीब चार दर्जन से अधिक युवक-युवतियों को 11वें आदिवासी युवा एक्सचेंज कार्यक्रम के तहत दूसरे राज्यों की सांस्कृतिक गतिविधियां की जानकारी के लिए मेदिनीनगर से बाहर भेजा गया है. दूसरे प्रदेशों में जाकर जानकारी लेने वाले वैसे युवक-युवतियां हैं, जिन्होंने कभी शहरी क्षेत्र का भ्रमण तक नहीं किया है. आर्थिक स्थिति खराब रहने के कारण कंप्यूटर कोर्स से वंचित करीब 20 छात्राएं आज तकनीकी शिक्षा ले रही हैं. इसी तरह 15 से 20 युवक मोटर ड्राइविंग सीखकर युवा रोजगार पा रहे हैं. पुस्तकालयों की शुरूआत होने से बच्चे शिक्षा के प्रति जागृत हुए हैं. दैनिक सामानों के वितरण से ग्रामीणों को राहत पहुंचा है.

नक्सलवाद से विमुख करने के लिए चलाये जा रहे हैं सारे कार्यक्रम : कमांडेंट

बटालियन के कमांडेंट अरुण देव शर्मा ने कहा कि नक्सल प्रभावित इलाका में रहने वाले आदिवासी युवक एवं युवतियों को नक्सलवाद से विमुख करने के लिए ऐसे कार्यक्रमों की शुरूआत की गयी है. ताकि वे विकास के रास्ते पर अग्रसर हो सकें. उनका भटकाव ना हो. सिविक एक्शन प्लान के तहत लोगों के बीच उपयोगी सामग्री का वितरण कर राहत देने का प्रयास किया जा रहा है. इस प्रकार के कार्यक्रम के आयोजन से सीआरपीएफ और आम लोगों के बीच मित्रवत संबंध स्थापित करना है. जिससे क्षेत्र से नक्सलवाद का खात्मा एवं लोगों में पुलिस के प्रति विश्वास कायम होगी.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: