न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पलामू: वाहनों को जब्त कर उजाड़ दी गयी दुकानें, दुकानदारों में भारी आक्रोश

730

Palamu : सड़क किनारे लगे वाहन और दुकानों पर नगर निगम की गाज गिरी. निगम ने कार्रवाई करते हुए पलामू समाहरणालय जाने वाली मुख्य सड़क पर लगे दो पहिया वाहनों को जब्त लिया. साथ ही आस-पास लगी दुकानों को भी उजाड़ दिया गया.

वाहनों को जब्त कर नगर निगम परिसर में रखा गया. जिसे बाद में संबंधित वाहन मालिकों को जुर्माना लगाकर उनके वाहन वापस कर दिए गए. वहीं सड़क किनारे लगे छोटे-मोटे दुकानों को भी हटाये जाने से दुकानदारों में प्रशासन के प्रति भारी नाराजगी देखी गयी.

इसे भी पढ़ें – दर्द-ए-पारा शिक्षक: परिवार में तीन शिक्षक, सिर पर दो लाख का कर्ज-कई महीनों से घर में नहीं पकी दाल

किसी तरह पेट पालते थे दुकानदार

झोपड़ियां लगाकर सत्तू, फल, चाय सहित अन्य सामान बेचने वाले दुकानदारों ने आरोप लगाया कि कार्रवाई के बाद तेज धूप में उन्हें भटकना पड़ा. अगर दुकानें हटानी थी तो उन्हें अगाह किया जाता. वे खुद अपनी दुकान हटा लेते.

अचानक आकर उन्हें उजाड़ देना, कहीं से भी न्यायोचित नहीं है. उनकी दुकानों से किसी तरह की जाम की स्थिति नहीं बन रही थी, लेकिन प्रशासनिक पदाधिकारी ने वाहनों को हटाने के बाद उन्हें भी उजाड़ दिया.

इसे भी पढ़ें- दनुआ-बनुवा घाटी में फिर सड़क हादसा, अलग-अलग घटनाओं में दो की मौत 10 घायल

जाम लगने पर की गयी कार्रवाई

मेदिनीनगर सदर सीओ रामनरेश सोनी ने बताया कि अक्सर शिकायत मिलती थी और देखा भी जाता था कि कचहरी के मुख्य रास्ते में लोग नो-पोर्किंग जोन में वाहन खड़ा कर देते थे. इससे जाम की स्थिति बन जाती थी.

जाम की स्थिति न बने, इसलिए वाहनों को वहां से हटाया गया. जल्द ही पार्किंग स्थल निर्धारित किया जायेगा. सेवा शुल्क लेकर इसका संचालन किया जायेगा.

इसे भी पढ़ें- पानी को तरस रहा कुलडीहा गांव का 80 परिवार, डोभा खोद बुझा रहे प्यास

मुख्य शहर में भी चलेगा इस तरह का अभियान

एक सवाल के जवाब में सीओ ने कहा कि शहरी क्षेत्र के व्यवसायियों ने भी शिकायत की थी कि उनके प्रतिष्ठानों के बाहर भी जहां-तहां वाहन लगा दिए जाते हैं. सड़कों के किनारे दुकानें लगायी जा रही है, जिससे जाम की स्थिति बन जा रही है.

इस मामले में दुकान हटा लेने को लेकर पहले नगर निगम के सहयोग से प्रचार किया जायेगा. इसके बाद भी स्थिति बनी रही तो अतिक्रमण हटाओ अभियान शुरू किया जायेगा.

कचहरी परिसर में अभियान के दौरान नगर निगम के कार्यपालक पदाधिकारी विनीत कुमार, पुलिस निरीक्षक दीपक कुमार, सहायक अवर निरीक्षक मंटूस महतो, निगम के जमादार मो. इस्तेयाक शाह सहित अन्य जवान और कर्मी शामिल थे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
क्लर्क नियुक्ति के लिए फॉर्म की फीस 1000 रुपये, कितना जायज ? हमें लिखें..
झारखंड में नौकरी देने वाली हर प्रतियोगिता परीक्षा विवादों में घिरी होती है.
अब JSSC की ओर से क्लर्क की नियुक्ति के लिये विज्ञापन निकाला है.
जिसके फॉर्म की फीस 1000 रुपये है. यह फीस UPSC के जरिये IAS बनने वाली परीक्षा से
10 गुणा ज्यादा है. झारखंड में साहेब बनानेवाली JPSC  परीक्षा की फीस से 400 रुपये अधिक. 
क्या आपको लगता है कि JSSC  द्वारा तय फीस की रकम जायज है.
इस बारे में आप क्या सोंचते हैं. हमें लिखें या वीडियो मैसेज वाट्सएप करें.
हम उसे newswing.com पर  प्रकाशित करेंगे. ताकि आपकी बात सरकार तक पहुंचे. 
अपने विचार लिखने व वीडियो भेजने के लिये यहां क्लिक करें.

you're currently offline

%d bloggers like this: