JharkhandLead NewsNEWSPalamuTOP SLIDER

पलामू : जमीन कारोबारी पप्पू के हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर दूसरे दिन भी बंद रहा हरिहरगंज बाजार

Palamu : जिले के सूदूरवर्ती औऱ बिहार की सीमा से सटे हरिहरगंज में बढ़ती आपराधिक घटनाओं से शहरवासी काफी चिंतित हैं. पिछले कई दिनों से लगातार आपराधिक घटनाएं घटित होने से हरिहरगंज के लोग भय और दहशत के साये में जीने को विवश हैं. बता दें कि गत बुधवार को व्यवसायी सह जमीन कारोबारी पप्पू शौंडिक की हत्या के बाद लोगों में भारी आक्रोश व्याप्त हो गया है. हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर घटना के तीसरे दिन शुक्रवार को भी हरिहरगंज बाजार बंद रखा गया.

इसे भी पढ़ें : Jharkhand: नक्सल प्रभावित क्षेत्र के लिए 9 रोड व 14 पुल निर्माण का प्रस्ताव केंद्र को भेजा गया

घटना के विरोध में जमकर नारेबाजी की

ram janam hospital
Catalyst IAS

इसे घटना को लेकर बाजार क्षेत्र के दर्जनों लोगों ने भारी आक्रोश के बीच शहर भ्रमण कर घटना के विरोध में जमकर नारेबाजी की. पप्पू शौंडिक अमर रहे, वीर बहादुर अमर रहे के नारे लगाते हुए लोगों से बाजार के दुकान प्रतिष्ठान को बंद रखने और साथ देने की अपील की.

The Royal’s
Pitambara
Sanjeevani
Pushpanjali

इसे भी पढ़ें : शिक्षकों के अंतर जिला ट्रांसफर में दिव्यांग, गंभीर बीमारी से ग्रस्त, पति-पत्नी व महिला शिक्षकों को ही प्राथमिकता

इसके पहले पूर्व विधायक कुशवाहा शिवपूजन मेहता सहित दर्जनों व्यवसायों ने गुरुवार दोपहर में थाना जाकर पुलिस अधिकारियों से हत्यारों की अविलंब गिरफ्तारी पर जोर दिया. हालांकि इस बाबत पुलिस हत्यारों की गिरफ्तारी के लिए प्रयास कर रही है. पुलिस जल्द ही पप्पू हत्या कांड में शामिल हत्यारों की गिरफ्तारी की उम्मीदें हैं.
बता दें कि बीते बुधवार को पप्पू की अपराधियों ने शहरी क्षेत्र अन्तर्गत एनएच 98 किनारे स्थित बेलोदर मोड़ के समीप प्रिंस ढाबा में निर्मम तरीके से हत्या कर शव को छोड़ दिया था. इसे पुलिस ने बरामद कर पोस्टमार्टम के बाद गुरुवार को शव परिजनों को सौंपा था. व्यवसायी के गुरुवार को हुए दाहसंस्कार में सैकड़ों लोग जुटे थे.


एक हिरासत में, अन्य की तलाश तेज

पप्पू हत्याकांड में पुलिस एक आरोपी को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है, उसने हत्याकांड को लेकर कई खुलासे किए हैं. पुलिस कांड में शामिल अन्य अपराधियों को चिन्हित कर उन्हें गिरफ्तार करने में जुटी हुई है. घटना के पीछे जमीन विवाद सामने आया है.

इसे भी पढ़ें : Jharkhand: आकांक्षा कोचिंग में एडमिशन के लिए 18 अप्रैल से भरे जाएंगे फॉर्म

Related Articles

Back to top button