JharkhandPalamu

पलामू: कैटेगरी वन के तहत बालू घाटों का संचालन ग्राम पंचायत करेगी, फर्जी चालान पर रहेगी विशेष नजर

Palamu : उपायुक्त शशि रंजन की अध्यक्षता में गुरुवार को उनके कार्यालय में जिला खनन टास्क फोर्स की बैठक हुई, जिसमें जिले में खनिजों के अवैध उत्खनन, भंडारण एवं परिवहन पर सख्त कार्रवाई का निर्देश दिया गया. जिला खनन पदाधिकारी आनंद कुमार ने वित्त वर्ष 2021-22 में अवैध खनन पर कार्रवाई का प्रतिवेदन उपलब्ध कराया. बताया कि वित्तीय वर्ष 2021-22 में 23 मार्च 2022 तक अवैध खनन, परिवहन, भंडारणकर्ताओं की संख्या 251 है, जिसमें खनन से संबंधित 12 में प्राथमिकी दर्ज की गयी है तथा 248 वाहन जब्त किये गये हैं.

उपायुक्त द्वारा खनन टास्क फोर्स के सदस्यों को आपस में समन्वय स्थापित कर विशेषकर बालू के अवैध उत्खनन, परिवहन एवं भंडारण के खिलाफ छापेमारी कार्रवाई करने एवं इसके रोकथाम के लिए आवश्यक निर्देश दिया गया.

इसे भी पढ़ें :UFC Star कॉनर मैकग्रेगर खतरनाक ड्राइविंग के आरोप में हुए गिरफ्तार, चला रहे थे 1.42 करोड़ की बेंटले कॉन्टिनेंटल जी.टी. कार

ram janam hospital
Catalyst IAS

उपायुक्त ने स्पष्ट निर्देश दिए कि जिले में जितने भी जगहों पर अवैध खनन स्थल हैं, उन्हें चिह्नित करते हुए दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करना सुनिश्चित करें.

The Royal’s
Sanjeevani

उन्होंने बिना डीलर लाइसेंस के संचालित क्रशरों पर कार्रवाई करने का निर्देश दिया. इसके अलावे उपायुक्त ने सभी अनुमंडल पदाधिकारी को नियमित रूप से बालू का स्टॉक वेरीफिकेशन करने हेतु निर्देशित किया.

इसे भी पढ़ें :BIG NEWS : हाईकोर्ट ने मंदिरों में VIP दर्शन की वजह से भक्तों को होनेवाली परेशानी पर जताई आपत्ति

उन्होंने कैटेगोरी वन के तहत बालू घाटों का संचालन ग्राम पंचायत द्वारा सुनिश्चित करवाए जाने की बात कही, ताकि आम लोगों को प्रधानमंत्री आवास के निर्माण में बालू से संबंधित किसी तरह की समस्या का सामना न करना पड़े.

बैठक में उपायुक्त के अलावा अपर समाहर्ता सुरजीत कुमार सिंह, हुसैनाबाद अनुमंडल पदाधिकारी कमलेश्वर नारायण, छतरपुर अनुमंडल पदाधिकारी एनके गुप्ता, वन प्रमंडल पदाधिकारी, खनन पदाधिकारी आनंद कुमार वन एवं प्रदूषण विभाग के कर्मी उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें :2 दिन के लिए देशभर में हो सकता है बिजली संकट , जानें क्या है इसकी वजह

Related Articles

Back to top button