Crime NewsJharkhandPalamu

पलामू : गैंगस्टर कुणाल सिंह हत्याकांड का आरोपी श्वेतकेतु की बिहार के डेहरी में गोली मारकर हत्या

Palamu : एक्स आर्मी मैन और कुख्यात गैंगस्टर कुणाल सिंह हत्याकांड के आरोपी श्वेतकेतु (उम्र 31वर्ष) की बिहार के डेहरी में गोली मार कर हत्या कर दी गयी. श्वेतकेतु को पीछे से चार गोलियां मारी गयी, जिससे मौके पर ही उसकी मौत हो गयी. श्वेतकेतु डेहरी कैसे पहुंचा और उसकी हत्या के पीछे क्या वजह रही, इसकी छानबीन में पुलिस जुटी हुई है. बताते चलें कि श्वेतकेतु कुणाल सिंह हत्याकांड में जमानत पर बाहर था. श्वेत केतु मेदिनीनगर के हमीदगंज निवासी वेद प्रकाश का पुत्र था.

इसे भी पढ़ें:विधायक अमर बावरी बोले,समाज को बांटने का काम कर रही है हेमंत सरकार

दिनदहाड़े हुई हत्या

ram janam hospital
Catalyst IAS

बताया जाता है कि शुक्रवार की पूर्वाहन करीब 11 बजे डेहरी नगर थाना क्षेत्र के स्टेशन से सटे पाली रोड में श्वेतकेतु पैदल जा रहा था. इसी बीच पीछे से आये बाइक सवार दो अपराधियों ताबड़तोड़ फायरिंग की.

The Royal’s
Pushpanjali
Sanjeevani
Pitambara

एक गोली उसके सिर में, जबकि तीन गोली उसकी पीठ में लगी. गोली लगते ही मौके पर ही उसकी मौत हो गयी. सूचना पर डेहरी नगर थाना प्रभारी अरूण कुमार मौके पर पहुंचे और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया.

श्वेतकेतु के पास से मिले आधार कार्ड से उसकी पहचान हुई. इसके बाद बिहार पुलिस ने मेदिनीनगर पुलिस से संपर्क साधकर पूरे मामले की जानकारी दी.

इसे भी पढ़ें:रिलीज होते ही इंटरनेट पर LEAK हुई रणवीर सिंह की 83, करोड़ों रुपये का हो सकता है नुकसान

जमानत पर निकलने के बाद से बाहर रह रहा था श्वेत केतु

मेदिनीनगर के शहर थाना प्रभारी इंस्पेक्टर अरूण कुमार महथा ने घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि श्वेतकेतु गैंगस्टर कुणाल सिंह हत्याकांड में 14-15 जून 2020 को गिरफ्तार हुआ था. उसकी जमानत 2 मार्च 2021 को हुई थी. उसके बाद से वह शहर से बाहर रह रहा था. रांची में उसके रहने की सूचना मिल रही थी.

अचानक बिहार के डेहरी कैसे पहुंचा. या फिर उसे वहां ले जाया गया, यह स्पष्ट नहीं हो पाया है. पुलिस इसके लिए डेहरी नगर थाना प्रभारी से संपर्क में है. हत्या के पीछे दूसरे गैंग के अपराधी हो सकते हैं.

इसे भी पढ़ें:Jharkhand : सरकार ने माना राज्य में महिलाओं के खिलाफ बढ़े हैं हिंसा के आंकड़े

कुणाल सिंह हत्याकांड में श्वेतकेतु ने की थी रेकी

गैंगस्टर कुणाल सिंह हत्याकांड में श्वेतकेतु पर रेकी करने का आरोप लगा था. श्वेत केतु अन्य आरोपियों के साथ मिलकर कुणाल सिंह की हत्या से पूर्व उसकी हर गतिविधि पर नजर रखता था.

2 जून 2020 को श्वेतकेतु ने कुणाल सिंह के उसके घर से निकलकर सुदना के बीसफुट्टा की ओर जाने की जानकारी अपने साथियों को दी थी.

इसके बाद उसकी कार में टक्कर मारने के बाद गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी. इस हत्याकांड को अपराधी सरगना डब्लू सिंह ने अंजाम दिलाया था.

इसे भी पढ़ें:दिग्गज स्पिनर हरभजन सिंह का 23 साल का इंटरनेशनल क्रिकेट करियर खत्म, संन्यास लिया

Related Articles

Back to top button