JharkhandPalamu

पलामू: चार लैंड माइंस बरामद, विस्फोट कर किया गया नष्ट

विज्ञापन

Palamu: जिले के मनातू थाना क्षेत्र से आज चार शक्तिशाली लैंड माइंस बरामद किया गया. बरामद लैंड माइंस को मौके पर ही विस्फोट कर नष्ट कर दिया गया. लैंड माइंस काफी शक्तिशाली थे और विस्फोट होने पर पुलिस पार्टी को भारी नुकसान हो सकता था. समय रहते लैंड माइंस को बरामद कर पुलिस ने नक्सलियों के मंसूबे को विफल कर दिया है. जिले के पुलिस अधीक्षक संजीव कुमार ने इसकी पुष्टि की है.

इसे भी पढ़ें –बिहार :  243 सीटों के लिए 28 अक्तूबर, 3 नवंबर और 7 नवंबर को होंगे चुनाव

गुप्त सूचना पर मिली कामयाबी

गुरूवार की शाम पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि मनातू थाना से 6 किलोमीटर दूर मनातू-चक मुख्य पथ गिधनी मोड़ के समीप लैंड माइंस लगाये गये हैं. सूचना पर जगुआर और जिला पुलिस की टीम मौके पर पहुंची. सभी को बरामद करने के बाद उन्हें मौके पर ही नष्ट करने का निर्णय लिया गया. शुक्रवार को बम निरोधक मौके पर पहुंचा और सारे बमों को विस्फोट कर नष्ट कर दिया. विस्फोट की आवाज करीब एक किलोमीटर दूर तक सुनी गयी.

10-10 किलो के 3 और एक था 5 किलो का

मनातू के थाना प्रभारी संतोष कुमार ने बताया कि बरामद मौके से चार लैंड माइंस बरामद किये गये थे. इसमें तीन का वजन 10-10 किलो और एक का पांच किलो था. गुरुवार शाम बरामद करने के बाद शुक्रवार सुबह सभी को मौके पर ही विस्फोट कर नष्ट किया गया. इलाके में सर्च अभियान तेज किया गया है. नक्सलियों की एक्टिविटीज की जानकारी एकत्रित की जा रही है.

अति उग्रवाद प्रभावित इलाका रहा है मनातू

पलामू जिले में मनातू की पहचान अति उग्रवाद प्रभावित क्षेत्र के रूप में रही है. मनातू की सीमा बिहार से सटती है. नतीजा बिहार से झारखंड में आने जाने के लिए नक्सली मनातू क्षेत्र का इस्तेमाल करते थे. मनातू के चक में लंबे समय तक नक्सलियों का प्रभाव रहा था. इस इलाके में निर्माण कार्य नहीं होते थे. करीब 15 किलोमीटर लंबी मनातू-चक सड़क को पुलिस सुरक्षा में बनाया गया था. इस सड़क से पिछले 10 वर्ष के दौरान चार दर्जन से अधिक लैंड माइंस बरामद किये जा चुके हैं. जबकि पुलिस पार्टी पर कई बार हमला भी हो चुका है.

माओवादियों का चल रहा है स्थापना सप्ताह 

बता दें कि इन दिनों प्रतिबंधित नक्सली संगठन माओवादियों का स्थापना सप्ताह चल रहा है. 21 से 27 सितंबर तक स्थापना दिवस चलेगा. स्थापना दिवस पर माओवादियों ने सुरक्षाबलों को टारगेट किया. हालांकि जिस जगह पर लैंडमाइंस बरामद किया गया, उससे काफी दूर पुलिस पार्टी थी.

इसे भी पढ़ें –प्रधानमंत्री मोदी ने कृषि बिल पर विपक्ष पर तंज कसा, कहा-आजादी के बाद किसानों के नाम पर खोखले नारे लगते रहे

adv
advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button