JharkhandPalamu

पलामू: दुष्कर्म और हत्याकांड के अलग-अलग मामलों में युवती सहित चार गिरफ्तार

Palamu :  दुष्कर्म और हत्याकांड में पुलिस ने कार्रवाई की है. चैनपुर थाना क्षेत्र में दिव्यांग बीमार लड़की के साथ दुष्कर्म के आरोप में उसके चचेरे भाई सहित दो को गिरफ्तार किया गया है, वहीं सदर थाना क्षेत्र में पिछले दिनों हुई एक महिला की हत्या मामले में एक युवती सहित दो को गिरफ्तार किया गया है. दोनों घटनाओं के उद्भेदन में सदर एसडीपीओ संदीप गुप्ता लीड कर रहे थे.

Jharkhand Rai

इसे भी पढ़ेंः किस्सा: काफ्का, बच्ची और गुड़िया की लिखी वो चिट्ठी

9 जुलाई को चचेरे भाई ने की थी दिव्यांग बीमार किशोरी से दुष्कर्म

सदर एसडीपीओ ने बताया कि गत नौ जुलाई की संध्या पांच बजे चैनपुर थाना क्षेत्र में एक दिव्यांग नाबालिग लड़की के साथ दुष्कर्म की घटना हुई थी. इस संबंध में पीड़िता के पिता के बयान पर तीन लोगों के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज की गयी थी. इस मामले में कार्रवाई करते हुए आज कांड के मुख्य आरोपी सहित दो को गिरफ्तार किया गया है. गिरफ्तार आरोपियों में राजेन्द्र चैधरी और बाबूलाल चैधरी है. राजेन्द्र ने स्वीकार किया है कि उसने नौ जुलाई को दिव्यांग किशोरी के साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया था. बाबूलाल चैधरी ेघटना के दौरान निगरानी कर रहा था.

21 जून को मिले शव मामले में हुई कार्रवाई

सदर थाना क्षेत्र के दरहा बाबा के नाला से 21 जून को मिली एक महिला की लाश मामले में पुलिस ने एक युवती सहित दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है. सदर एसडीपीओ ने बताया कि शव की पहचान सदर थान क्षेत्र के बड़की बैरिया निवासी रूपवंती देवी के रूप में हुई थी. जांच के क्रम में महिला की पहचान उसके भाई लेस्लीगंज के रजहरा निवासी संतोष भुइयां ने की थी.

Samford

संतोष ने बताया था कि 20 दिनों से उसके बहन का कहीं कोई अता-पता नहीं है। जब पुलिस ने शव के साथ बरामद कपड़े एवं अंगूठी दिखाया गया, तो संतोष भुइयां ने अपनी बहन की पहचान की. साथ ही बहन की हत्या ससुराल वालों द्वारा कर फेंक देने की आशंका व्यक्त की.

इसे भी पढ़ेंः देश के पास खेल की एक पूरी परंपरा है, लेकिन खेल की संस्कृति नहीं है :  रीजीजू

हर दिन के लड़ाई झगड़े के कारण महिला की कर दी गयी थी हत्या

शव की पहचान होने के बाद मामले में छानबीन तेज की गयी और मृत्तका के ससुराल पहंुचकर उनके ननदोषी देवमंगल भुइयां को कब्जे में लेकर पूछताछ की गयी. देवमंगल ने स्वीकार किया कि उसके साला शत्रुघ्न भुइयां की पत्नी रूपवंती देवी अपने घर में काफी लड़ाई-झगड़ा करती थी. 14 जून को अपने ससुराल बैरिया गये. 18 जून को रूपवंती देवी उसके ससुर और साली बबीता कुमारी ने आपस में झगड़ा की. इससे दुखी होकर साली बबीता कुमारी से मिलकर योजना बनाई कि आज रात में रूपवंती का काम तमाम कर देना है. ताकि घर में रोज-रोज का झगड़ा न हो.

शौच के बहाने ले जाकर ननद और नददोषी ने की थी हत्या

योजना के अनुसार बबीता कुमारी रात करीब 11.30 बजे शौच के बहाने रूपवंती को घर से बाहर सुनसान जगह पर ले गयी. योजना के अनुसार पीछे से वह भी गया और रूपवंती का गला पकड़कर जमीन पर गिरा दिया. तब तक गला दबाए रखा, जब तक उसकी मौत न हो गयी. इस दौरान बबीता रूपवंती का दोनों पैर पकड़ी थी. हत्या के बाद दोनों ने मिलकर मृत्तका का शव टांग कर एवं घसीटते हुए मौके से डेढ़ किलोमीटर दूर गुरसुती नदी किनारे छिपा दिया. बाद में ग्रामीणों की सूचना शव बरामद किया गया.

कार्रवाई में ये थे शामिल

चैनपुर और सदर थाना क्षेत्र में की गयी कार्रवाई में क्रमशः चैनपुर थाना प्रभारी, सुधीर कुमार, पुलिस निरीक्षक राजीव रंजन शाही, पुअनि निरंजन कुमार, प्रपुअनि जयप्रकाश पासवान और नन्दकिशोर दास व सअनि मंटूस्ट महतो, जबकि सदर में थाना प्रभारी राकेश कुमार रवि, सअनि बंधनी लकड़ा और सुरेन्द्र सिंह शामिल थे.

इसे भी पढ़ेंः Sci&Tech : मोबाइल पर टिंडर, स्पॉटीफाई और पिन्ट्रैस्ट का इस्तेमाल करते हैं तो ये खबर आपके लिए है… 

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: