JharkhandPalamu

पलामू: लूटकांड में चार गिरफ्तार, हथियार-गोलियां, लूट के पैसे और दो मोटरसाइकिलें बरामद

Palamu:  हैदरनगर-मोहम्मदगंज मुख्य मार्ग से सटे जीनताड़-रमजीता में हुई एक लाख रुपये के लूटकांड का पुलिस ने उद्भेदन कर दिया है. इस घटना को अंजाम देने वाले चार लुटेरों को गिरफ्तार किया गया है. उनके पास से हथियार, गोलियां, लूट के पैसे, सामान और मोटरसाइकिलें बरामद की गयी है.

इसे पढ़ेंः वर्ल्ड कप में  हार का साइड इफेक्ट : रोहित शर्मा को वनडे और टी-20 का कप्तान बनाये जाने की संभावना

दिनदहाड़े हुई थी लूट 

विदित हो कि गत 12 जुलाई की दोपहर करीब 12.20 बजे माईक्रो फाईनेंस कंपनी के फील्ड कर्मचारी सुनील कुमार सिंह से 1 लाख 4 हजार रुपये पिस्तौल का भय दिखा कर लूट ली गयी थी. भुक्तभोगी कर्मचारी विभिन्न गांवों में कार्यरत स्वयं सहायता समूहों से राशि की संग्रह कर हुसैनाबाद स्थित कंपनी के कार्यालय बाइक से जा रहा था. मोटरसाइकिल में टक्कर मारने के बाद पिस्तौल दिखाकर नकाबपोश बदमाश नगदी से भरा बैग लूट ले गये थे.

advt

इसे भी पढ़ेंः भाजपा नेता कलराज मिश्र  हिमाचल के, आचार्य देवव्रत गुजरात के राज्यपाल बनाये गये  

भीम बराज क्षेत्र से पहले दो लुटेरे पकड़े गये  

पुलिस अधीक्षक अजय लिंडा ने पत्रकारों को बताया कि लूट की वारदात के बाद हुसैनाबाद के अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी विजय प्रसाद के नेतृत्व में टीम बनायी गयी. हुसैनाबाद,  हैदरनगर और मोहम्मदगंज थाना प्रभारियों को इसमें शामिल किया गया. 14 जुलाई को मोहम्मदगंज के भीम बराज के पास एक अपाची मोटरसाइकिल पर तीन सवार दिखे. उन्हें रुकने का इशारा किया. इसमें एक युवक मौके से फरार हो गया, जबकि दो पकड़ में आ गये.

adv

पूछताछ के दौरान दो और लुटेरों की हुई पहचान

पकड़े गये दोनों युवकों की तलाशी ली गयी. उनके पास से हथियार और गोलियां मिली. बाद में उनकी पहचान काजू सिंह उर्फ उत्कर्ष सिंह और शुभम सिंह के रूप में हुई. पकड़ाये अपराधियों ने दो दिन पूर्व हुए लूटकांड में अपनी संलिप्तता स्वीकार की.

शुभम सिंह की निशानदेही पर लूटकांड में इस्तेमाल की गयी मोटरसाइकिल उसके घर से बरामद की गयी.  बाद में दोनों लुटेरों ने अपने दो अन्य साथियों रंजन कुमार पाठक उर्फ बाबा और अंकित कुमार सिं उर्फ झारखंडी की भी जानकारी दी. उसे भी गिरफ्तार किया गया.

कांड में शामिल दो अन्य अपराधियों के खिलाफ छापामारी अभियान जारी है. लूटी गयी बाकी राशि के बरामदगी की संभावना है.

क्या-क्या मिला लुटेरों के पास से

लुटेरों के पास से एक देसी पिस्तौल, 315 बोर की तीन गोलियां, तीन मोबाइल फोन, घटना में इस्तेमाल की गयी दो मोटरसाइकिलें, लूटे गये 11,500 रुपये, लूटा गया काला रंग का बैग, वादी का आंशिक रूप से जला हुआ पहचान पत्र, बैंक से संबंधित वादी के अन्य कागजात बरामद किये गये हैं.

इसे भी पढ़ेंः मंत्री नीलकंठ मुंडा के विधानसभा क्षेत्र में ही दम तोड़ रहीं योजनाएं, 13.44 लाख का शौचालय घोटाला

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: