JharkhandPalamu

पलामू : 20 साल से ओपी के रूप में काम कर रहा सतबरवा बना 32वां थाना

Palamu : नक्सलियों और अपराधियों के खतरनाक मंसूबों को फेल करने के लिए पलामू जिले में ओपी और पिकेट के साथ-साथ नये थानों का सृजन किया जा रहा है. इसी कड़ी में लातेहार जिले की सीमा से सटे और करीब 20 वर्षों से ओपी के रूप में काम कर रहे सतबरवा को गुरुवार को थाना का दर्जा दे दिया गया. हालांकि, थाना बनाने का नोटिफिकेशन दो माह पहले जारी किया गया था. गुरुवार से आधिकारिक तौर पर सतबरवा थाने में काम होना शुरू हो गया.

इसे भी पढ़ें- जेएमएम ने कहा-मसानजोर डैम हमारा मुद्दा, बीजेपी को नहीं है विस्थापितों की परवाह

एसपी ने थाने की डायरी का भार ग्रहण कराया

ram janam hospital
Catalyst IAS

जिले के पुलिस अधीक्षक इंद्रजीत महथा ने थाने की डायरी का भार ग्रहण करते हुए लिखा कि सरकार के उपसचिव, गृह, कारा एवं आपदा प्रबंधन विभाग के निर्गत आदेश के अनुसार सतबरवा ओपी को थाने के रूप में उत्क्रमित किया गया है. सतबरवा 20 सालों से भी अधिक समय से ओपी के रूप में काम कर रहा है. सतबरवा थाने में पांच एसआई, तीन एएसआई, चार हवलदार, दो चालक हवलदार, 23 आरक्षी, दो चालक आरक्षी, दो रसोइया, एक जलवाहक, एक स्वीपर का पद स्वीकृत किया गया है. सतबरवा थाना क्षेत्र के अंतर्गत 10 पंचायतों के 70 गांव आते हैं.

The Royal’s
Pushpanjali
Sanjeevani
Pitambara

इसे भी पढ़ें- पलामू : रक्षा बंधन पर बहनों को गिफ्ट करें शौचालय और बनें ‘भैया नंबर वन’

आसान हो जायेगा प्राथमिकी दर्ज कराना

एसपी इंद्रजीत महथा ने कहा कि पुलिस लोगों को बेहतर सुरक्षित माहौल दे रही है. सतबरवा की चार पंचायतें लेस्लीगंज के इलाके में आती हैं. इसे पब्लिक के आवेदन पर सतबरवा में शामिल करने का प्रयास किया जायेगा. सतबरवा के थाना बन जाने के बाद एनएच 39 डालटनगंज-रांची मुख्य पथ और लातेहार से सटे पलामू के सीमावर्ती गांवों को फायदा होगा. पहले इलाके के लोगों को सतबरवा ओपी में शिकायत दर्ज करवानी पड़ती थी. इसके बाद में सदर थाने में मामले की प्राथमिकी दर्ज होती थी. लेकिन, अब ऐसा नहीं होगा. अब शिकायत देने के बाद सतबरवा में ही प्राथमिकी की प्रक्रिया पूरी कर ली जायेगी.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Related Articles

Back to top button