न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

पलामू: दयाशंकर हत्याकांड में पांच दिन बाद भी पुलिस के हाथ खाली, स्वतः स्फूर्त बंद रहा पांकी, यात्रियों को हुई भारी परेशानी

237

Palamu: पलामू जिला के पांकी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में एमपीडब्ल्यू के पद पर कार्यरत दयाशंकर प्रसाद की हत्या के पांच दिन बीत गये. इतने दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस के हाथ खाली हैं. इस हत्याकांड में पुलिस अबतक कोई सुराग नहीं जुटा पायी है. स्थानीय लोगों के साथ व्यवसायियों में इसे लेकर भारी रोष है. कल देर शाम कैंडल मार्च निकालने के बाद गुरुवार को पांकी बाजार को बंद रखा गया. बंद स्वतः स्फूर्त रहा. इस कारण दूसरी जगहों से पांकी होकर गुजरनेवाले यात्रियों को भारी परेशानी हुई.

mi banner add

इसे भी पढ़ें – सीएनटी ही नहीं आर्मी की जमीन पर भी माफिया ने कर लिया कब्जा और देखता रहा प्रशासन-1

कैंडल मार्च निकाला

दयाशंकर हत्याकांड में अभी तक अपराधियों की गिरफ्तारी नहीं होने के कारण बुधवार की संध्या में प्रखंड मुख्यालय के व्यवसायियों ने कैंडिल मार्च निकाला और हत्यारों को जल्द गिरफ्तार करने की प्रशासन से मांग की. कैंडल मार्च में शामिल व्यवसायी आंबेडकर चौक से शहीद भगत सिंह चौक होते हुए कर्पूरी चौक पहुंचे. कर्पूरी चौक पहुंच कर कैंडल मार्च समाप्त हुआ. व्यवसायी दयाशंकर के हत्यारों को जल्द गिरफ्तार करो- जैसे नारे लगा रहे थे.

इसे भी पढ़ें – शर्मनाक: झारखंड के 21,49550 लोगों के पास इनकम का कोई साधन नहीं, 61750 लोग मांगते हैं भीख

31 मई की रात हुई थी दयाशंकर की हत्या

गौरतलब है कि 31 मई की रात दयाशंकर के घर में ही घुस कर अपराधियों ने उसकी नृशंस हत्या कर दी थी. पुलिस ने हत्याकांड के उद्भेदन के लिए खोजी कुत्ते का भी सहारा लिया, लेकिन नतीजा शून्य रहा. दयाशंकर की हत्या से पांकी प्रखंडवासी काफी मर्माहत हैं, वही पांकी बस्ती के लोग भयभीत भी हैं. बस्ती जैसी घनी आबादीवाले क्षेत्र में अपराधी बेखौफ हत्या कर चलते बने.

इसे भी पढ़ें – झारखंड में शिक्षा का हाल : 58.7% युवा आबादी को नहीं आता है पढ़ना-लिखना

पुलिस का प्रयास अब तक असफल

पुलिस के द्वारा इस हत्याकांड के खुलासे को लेकर लगातार प्रयास किया जा रहा है, लेकिन पुलिस किसी ठोस नतीजे पर अबतक नहीं पहुंची सकी है. वैसे थाना प्रभारी ने जल्द ही उद्भेदन का व्यवसायियों को भरोसा दिलाया है. कहा कि पुलिस का अनुसंधान जारी है. जल्द ही अपराधी सलाखों के पीछे होंगे. पांकी पुलिस ने दयाशंकर के भाई को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है.

इसे भी पढ़ें – डॉ अजय और नक्सली की तथाकथित बातचीत की सीडी मामले में सरयू राय और दिनेशानंद गोस्वामी कोर्ट से बरी

छोटे-मोटे दुकानों से लेकर बड़े प्रतिष्ठान रहे बंद

दयाशंकर के हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर पांकी गुरुवार को स्वतः स्फूर्त बंद रहा. प्रखंड मुख्यालय के सभी व्यवसायियों ने अपनी-अपनी दुकानें बंद रखीं. बंद के कारण बाजार में सन्नाटा पसरा रहा. पांकी से खुलनेवाली बसें सामान्य दिनों की तरह नियत समय पर खुलीं. दुकान बंद होने से यात्रियों को काफी परेशानी हुई. ठेले खोमचे वाले भी बंद में साथ थे.

इसे भी पढ़ें – श्यामा प्रसाद मुखर्जी यूनिवर्सिटी ने फीस में की 40 प्रतिशत की बेतहाशा वृद्धि, छात्रों ने कुलपति को घेरा

दयाशंकर की हत्या को पचा नहीं पा रहे पांकीवासी

दयाशंकर काफी सरल और मृदुभाषी थे. उनकी हत्या को लोग पचा नहीं पा रहे हैं. उनकी निर्मम हत्या ने प्रखंडवासियों को अंदर से झकझोर कर रख दिया है. सभी एक स्वर में हत्यारों की जल्द गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ें – गिरिडीहः कुख्यात अपराधी शहादत अंसारी बुढ़वाशेर गांव से गिरफ्तार, एक पिस्तौल और जिंदा कारतूस बरामद

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: