Crime NewsJharkhandPalamu

पलामू : गोलीकांड में रेडक्रॉस के सचिव डॉ सत्यजीत गुप्ता सहित तीन पर FIR

विज्ञापन

Palamu : मेदिनीनगर शहर थाना क्षेत्र के सुदना स्थित बैंक कॉलोनी के समीप बुधवार की देर शाम हुई फायरिंग के मामले में संदेह जताते हुए तीन लोगों पर एफआईआर दर्ज की गयी है. इनमें पलामू रेडक्रॉस सोसायटी के सचिव डॉ सत्यजीत गुप्ता, सुदना के अघोर आश्रम रोड में रहनेवाली गीता देवी और लातेहार के बारेसाढ़ निवासी सोनू को आरोपी बनाया गया है.

गोली चलने के बाद डॉ सत्यजीत गुप्ता और महिला को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया था. पूछताछ के बाद उन्हें छोड़ दिया गया है. दोनों को शहर में ही रहने की हिदायत दी गयी है.

विदित हो कि पंडवा थाना क्षेत्र के गाड़ी निवासी अजय चंद्रवंशी को डालटनगंज से पंडवा जाने के दौरान सुदना स्थित बैंक कॉलोनी के समीप बुधवार की देर शाम पीछे से गोली मार दी गयी थी. अजय चंद्रवंशी ने जख्मी अवस्था में गोली चालन के पीछे डॉ सत्यजीत गुप्ता, गीता देवी और गीता की बहन के बेटे सोनू पर आशंका व्यक्त की थी.

इसे भी पढ़ें : जानिये एक शातिर ने कैसे रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी को लगाया लाखों का चूना

प्रेम प्रसंग को लेकर चली थी गोली

पलामू के सहायक पुलिस अधीक्षक के. विजय शंकर ने बताया कि गोली प्रेम प्रसंग को लेकर चली थी. तीन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. पूरे मामले की छानबीन की जा रही है. महिला समेत दो आरोपियों को पूछताछ के बाद छोड़ दिया गया है.

शहर थाना प्रभारी अरुण कुमार महथा ने बताया कि जख्मी अजय चंद्रवंशी को बेहतर इलाज के लिए रांची स्थित रिम्स रेफर किया गया है. रेफर करने से पहले उनके द्वारा दिये गये बयान के आधार पर मेदिनीनगर के घड़ापट्टी निवासी डॉ सत्यजीत गुप्ता, सुदना की गीता देवी और उसकी बहन के बेटे सोनू पर संदेह जताते हुए मामला दर्ज किया गया है.

गीता बोली- अजय से थे अनैतिक संबंध

थाना प्रभारी ने बताया कि गोली लगने के बाद अजय चंद्रवंशी ने कहा था कि गीता और डॉ सत्यजीत गुप्ता के बीच संबंध थे. लेकिन, पूछताछ के दौरान गीता ने बताया है कि अजय चंद्रवंशी के साथ उसके अनैतिक संबंध थे.

गीता डॉ सत्यजीत गुप्ता के अल्ट्रासाउंड क्लिनिक में 16 वर्षों से काम कर रही है. तीन वर्ष तक अजय चंद्रवंशी ने चालक का कार्य किया था. जब गीता और अजय के संबंध की जानकारी डॉ सत्यजीत को हुई, तो उन्होंने अजय को काम से हटा दिया था.

इसे भी पढ़ें : किसानों के साथ खड़ी है कांग्रेस, 15 जनवरी को होगा बड़ा आंदोलन : डॉ इरफान

गीता की बेटी को भगा ले गया था सोनू, अजय ही ढूंढकर लाया था वापस

थाना प्रभारी ने बताया कि गीता की बहन का बेटा सोनू उसके सुदना स्थित घर पर रहकर पढ़ाई करता था. कुछ माह पूर्व गीता की बेटी को ही सोनू भगा ले गया था. बाद में अजय गीता की बेटी को ढूंढकर लाया था.

आशंका व्यक्त की जा रही है कि लड़की को ढूंढकर लाये जाने के कारण सोनू अजय से चिढ़ गया होगा. इसी कारण उसने मौका देखते ही गोली चला दी होगी. हालांकि, यह सिर्फ कड़ी से कड़ी जोड़नेवाली बातें हैं. सोनू की गिरफ्तारी के लिए पुलिस प्रयास कर रही है. उसकी गिरफ्तारी के बाद स्थिति पूरी तरह स्पष्ट हो पायेगी.

इसे भी पढ़ें : VBU: जीबी को गैर-कानूनी बताने वाली याचिका पर सुनवाई, हाइकोर्ट ने कहा- तीन माह में वीसी लें निर्णय

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: