न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पलामू : हर गली में कूड़े के ढेर और बजबजाती नालियां, पार्षद व मेयर को झांकने की फुरसत नहीं

eidbanner
27

Palamu : बहुत सपने संझोए थे कि मेदिनीनगर नगर परिषद को नगर निगम का दर्जा मिलने पर जनसुविधाओं का अंबार लग जाएगा. लेकिन एक साल बीतने के बाद अब निगम की मनमानी के साथ लापरवाही से परेशान लोग कह रहे हैं कि ‘पहले वाले ही अच्छे थे.’ कम से कम जनता की बात तो सुनते थे. लेकिन वर्तमान में निगम के कर्मी एवं पार्षद सीधे मुंह बात करने को तैयार नहीं हैं.

इसे भी पढ़ें – 19 साल बाद सुलझेगा झारखंड-बिहार के बीच 2584 करोड़ के पेंशन देनदारी का मामला

पूरे शहर में गंदगी ही गंदगी

निगम क्षेत्र में कर्मियों द्वारा भ्रष्टाचार के अनोखे प्रयोग किए जा रहे हैं. शहरभर में गंदगी ही गंदगी का साम्राज्य है. नालियां बजबजा रही हैं. गंदे पानी से लबालब भरी नालियों और नालों का गंदा पानी सड़कों पर बह रहा है. शहर की गलियां हों या मुख्य क्षेत्र, सब तरफ कूड़े और गंदगी के पहाड़ जमा हैं.

मेदिनीनगर की ह्दय स्थली छःमुहान यानि डा. राजेन्द्र प्रसाद चौक पर गंदगी का ढेर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा शुरू किए गए स्वच्छता अभियान को ही मुंह चिढ़ा रहा है.

बाजार क्षेत्र में तो स्थिति बदतर 

इससे आगे बढ़ने पर हनुमान मंदिर, मुख्य सब्जी बाजार, मोदी बताशा गली, बसंत बहार चौक, आढ़त बाजार, चौधराना बाजार, पंचमुहान की स्थिती भी बदतर है. वहां के शिवाला रोड, मुस्लिम नगर, शास्त्री नगर, भट्ठी मुहल्ला, मदन मोहन रोड का अगर एक चक्कर लगाया जाये तो वहां भी गंदगी देखकर चक्कर आ जाए.

नगर निगम की यह लापरवाही गंदगी तक ही सीमित नहीं है, बल्कि नागरिक अब खुलेआम चिल्ला-चिल्ला कर अपनी व्यथा सुनाते हुए बताते हैं कि आर्य समाज रोड के अलावा कई मुख्य पथों पर खुदाई करके बिजली विभाग के अधिकारी अंडरग्राउंड वायरिंग यानि भूमिगत बिजली तार बिछा रहे हैं. इस तानाशाह विभाग के संवेदक द्वारा जहां-तहां खुदाई कर नीचे बिछे जलापूर्ति पाईप को क्षतिग्रस्त कर दिया गया है.

इसे भी पढ़ें – डैमों की सफाई के लिए होती है 2.60 करोड़ के फिटकिरी, चूना,ब्लीचिंग की खरीदारी, आपूर्तिकर्ता हैं…

नहीं पहुंचता कई घरों में जलापूर्ति का पानी 

इस समय की भीषण गर्मी में कई लोगों के घरों तक पानी नहीं पहुंच रहा है. बूंद-बूंद पानी को बचाने का नारा देने वाले अधिकारियों की जानकारी में पानी भूमि के अंदर बहकर बर्बाद हो रहा है. लेकिन उसे रोकने की सुध नगर निगम के बड़बोले अधिकारियों को नहीं है.

घर बैठे मेयर जारी करती हैं विज्ञप्ति

मेयर घर में बैठेकर ही विज्ञप्ति जारी करती हैं. निगम चुनाव के वक्त तो बड़ा-बड़ा दावे मेयर ने किए थे. लेकिन शहर में फैली गंदगी मेयर को नजर नहीं आ रही और ना ही इसपर कोई काम ही किया जा रहा है.

इसके अलावा बिजली विभाग की ओर से की जा रही अंडरग्राउंड वायरिंग के दौरान फट रहे पानी के पाइप लाइन की ओर ही इनका ध्यान जा रहा है. जनता पानी के लिए परेशान है.

इसे भी पढ़ें – कोचांग गैंगरेप : फादर अल्फांसो समेत सभी छह दोषियों को आजीवन कारावास

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

hosp22
You might also like
%d bloggers like this: