Crime NewsJharkhandPalamu

पलामू: 10 हजार रिश्वत लेते रोजगार सेवक गिरफ्तार, एसीबी ने इस वर्ष का छठा ट्रैप केस पूरा किया

Palamu : पलामू एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम ने मंगलवार को बड़ी कार्रवाई करते हुए एक रोजगार सेवक को 10 हजार रिश्वत लेते गिरफ्तार किया. जिले के छतरपुर प्रखंड कार्यालय परिसर से रोजगार सेवक को गिरफ्तार किया गया. गिरफ्तार करने के बाद एसीबी की टीम रोजगार सेवक को लेकर मेदनीनगर पहुंच गयी है. कागजी प्रक्रिया पूरी करने और मेडिकल जांच के बाद रोजगार सेवक को न्यायिक हिरासत में भेज दिया जाएगा.

एसीबी के डीएसपी करुणा नंद राम ने ने बताया कि रोजगार सेवक को गिरफ्तार करने के साथ ही मेदिनी नगर इकाई द्वारा इस वर्ष का छठ ट्रैप केस को पूरा कर लिया गया है. उन्होंने बताया कि छतरपुर प्रखंड के कंचनपुर निवासी वादी शंभू नाथ यादव (25) को महात्मा गांधी रोजगार गारंटी अधिनियम (मनरेगा) के फॉर्म पर हस्ताक्षर कराना था.

advt

इसके लिए शंभू नाथ यादव द्वारा रोजगार सेवक अब्दुल रहमान से संपर्क किया गया तो उन्होंने 10 हजार रिश्वत मांगे. वादी रिश्वत नहीं देना चाहता था. कई बार आग्रह करने के बाद भी जब रोजगार सेवक ने फार्म पर हस्ताक्षर नहीं किए तो वादी के द्वारा इस संबंध में एसीबी की मेदिनीनगर कार्यालय में शिकायत दर्ज कराई गयी.

शिकायत के आलोक में टीम बनाकर मामले का सत्यापन किया गया. मामला सही साबित होने पर इस संबंध में कार्रवाई के लिए एक टीम बनाई गयी. वादी को केमिकल लगे घूस के 10 हजार देकर टीम के साथ छतरपुर प्रखंड कार्यालय भेजा गया. कार्यालय परिसर में जैसे ही रोजगार सेवक ने घूस के 10 हजार रुपए लिए, मौके पर मौजूद ऐसी एसीबी के जवानों ने रोजगार सेवक को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया.

रोजगार सेवक को गिरफ्तार करने के बाद मेदनीनगर लाया गया, यहां से उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया. रोजगार सेवक अब्दुल रहमान मेदनीनगर के लाल कोठा क्षेत्र के रहने वाले हैं.

विदित हो कि इस वर्ष अब तक पलामू एसीबी की टीम ने 6 ट्रैप केस को पूरा कर लिया है. बीडीओ से लेकर कई पदाधिकारी और जनप्रतिनिधि एसीबी की गिरफ्त में आ चुके हैं.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: