Palamu

पलामू: टाइगर रिजर्व क्षेत्र में फिर हुई हाथी की मौत, छानबीन में जुटा वन विभाग

Palamu : पलामू टाइगर रिजर्व क्षेत्र में एक और हाथी की मौत हो गयी है. गारू पश्चिमी वन क्षेत्र के रमनदाग के लादी जंगल में बुधवार को एक हाथी को मृत पाया गया. एक सप्ताह के भीतर दो हाथियों की मौत हो जाने से वन विभाग में हड़कंप मचा हुआ है. मौत के कारणों का पता लगाने में वन अधिकारी और कर्मी जुटे हुए हैं. जांच में वन विभाग का कहना है कि हाथी काफी बूढा हो गया था. इस कारण उसकी मौत हुई.

जानकारी के अनुसार पलामू टाइगर रिजर्व इलाके में हाथियों की मौत का सिलसिला थमने का नाम ही नहीं ले रहा है. बुधवार को पीटीआर के गारू वन क्षेत्र के रमनदाग के लादी जंगल में एक हाथी की मौत हो गयी है.

दरअसल, कुछ दिन पहले ही पीटीआर के पलामू किला वन क्षेत्र में दो जंगली हाथियों ने एक पालतू हाथी काल भैरव को मार डाला था. पालतू हाथी की मौत का मामला अभी शांत भी नहीं हुआ था कि बुधवार को गारू वन क्षेत्र के रमनदाग जंगल में एक और हाथी की मौत हो गयी. हाथी की मौत की सूचना मिलने पर गारू पश्चिमी के रेंजर सुवेन्द्र कुमार मौके पर पहुंचे और मामले की छानबीन की. रेंजर ने बताया कि हाथी काफी बूढा हो गया था. इस कारण उसकी मौत हुई.

ram janam hospital
Catalyst IAS

वन विभाग के वरीय अधिकारियों ने स्पष्ट कहा कि मामले की जांच के बाद ही स्पष्ट रूप से कुछ बताया जा सकता है लेकिन प्रथम दृष्टया यह सामान्य मौत लग रही है. 15 दिनों के अंदर लगातार दो हाथियों की मौत से वन विभाग में हड़कंप मच गया है. मौके पर ही उसका पोस्टमार्टम किया गया. शव को वहीं पर दफन कर दिया गया है.

The Royal’s
Sanjeevani
Pushpanjali
Pitambara

पालतू हाथी की मौत मामले का नहीं हुआ है खुलासा

पलामू किला वन क्षेत्र में जंगली हाथियों के हमले में मारे गए पालतू हाथी काल भैरव मौत मामले का अभी तक खुलासा नहीं हो पाया है. हालांकि सिविल प्रशासन ने हाथी की मौत मामले में वन विभाग की लापरवाही बताया है. उपायुक्त वन अधिकारियों को जांच प्रतिवेदन समर्पित करने के लिए रिमांइडर भेज चुके हैं.

Related Articles

Back to top button