Palamu

पलामू: स्वास्थ्य मंत्री के गृह क्षेत्र में उद्घाटन के एक वर्ष बाद भी नहीं खुला स्वास्थ्य केन्द्र का दरवाजा, लोगों ने दी आत्मदाह की धमकी

Medininagar: राज्य के स्वास्थ्य मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी के अपने ही गृह क्षेत्र विश्रामपुर विधानसभा क्षेत्र के रेहला स्वास्थ्य केन्द्र का बुरा हाल है. यहां एक वर्ष पूर्व पूरे तामझाम के साथ उद्घाटन किये गये प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र से अबतक स्वास्थ्य सुविधाएं मिलनी शुरू नही हुई हैं. मंत्री की इस उपेक्षा से लोगों में काफी आक्रोश है. लोगों ने चेतावनी दी है कि अगर स्वास्थ्य केन्द्र में सुधार नहीं हुआ तो वे आत्मदाह करेंगे.

एक वर्ष बाद भी नहीं मिला स्वास्थ्य केन्द्र का लाभ

दरअसल, रेहला स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के नए भवन का उद्घाटन बड़े ही तामझाम के साथ एक साल पूर्व हुआ था. मगर आज तक उसमें ईलाज की कोई व्यवस्था नहीं की गई है. यहां तक कि किसी चिकित्सक और चिकित्सीय कर्मचारियों की पदस्थापना तक नहीं की गई है. उद्घाटन के दिन केवल ताला खुला, उसके बाद से स्वास्थ्य केन्द्र के दरवाजे बंद हैं.

लोग 50 किलोमीटर दूर से आते हैं इलाज के लिए

स्वास्थ्य केन्द्र के अभाव में रेहलावासियों को 50 किलोमीटर दूर जिला मुख्यालय डालटनगंज आना पड़ता है या फिर गढ़वा जाना पड़ता है. स्थानीय स्तर पर स्वास्थ्य जांच और इलाज की सुविधा नहीं रहने के कारण लोगों को भटकना पड़ रहा है.

हस्ताक्षरयुक्त आवेदन उपायुक्त-एसपी को दिया गया

इस मामले में विश्रामपुर प्रखंड के 98 लोगों ने स्वास्थ्य मंत्री सह स्थानीय विधायक रामचंद्र चंद्रवंशी समेत पलामू के उपायुक्त, पुलिस अधीक्षक, अनुमंडल पंदाधिकारी, नगर पर्षद अध्यक्ष और थाना प्रभारी को हस्ताक्षरयुक्त आवेदन देकर चेतावनी दी है कि अगर 15 दिनों की अंदर स्वास्थ्य केन्द्र में चिकित्सक व अन्य कर्मचारियों की पदस्थापना नहीं हुई तो प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के समक्ष वे आत्मदाह करेंगे.

जनहित के प्रति स्वास्थ्य मंत्री का कोई ध्यान नहीं: राहुल

इस मामले पर झारखंड नवनिर्माण मोर्चा के मीडिया प्रभारी राहुल कुमार दुबे ने कहा कि स्वास्थ्य मंत्री को अपने ही विकास से फुरसत नहीं है. वे जनता की कोई परवाह नहीं कर रहे हैं. स्वास्थ्य मंत्री के इलाके में स्वास्थ्य केन्द्र का बदहाल होना, जनता के प्रति उनकी उपेक्षा को दर्शाता है. उन्होंने कहा कि जनता संगठित होकर अगले चुनाव में उनका राजनीतिक स्वास्थ्य खराब कर देगी.

एचआर स्वीकृति के लिए सरकार को भेजा गया प्रस्ताव

जिला प्रबंधक (स्वास्थ) प्रवीण कुमार सिंह ने बताया कि विश्रामपुर क्षेत्र में एक प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र की स्वीकृति पांडू के लिए हुई है. पांडू में भवन न बनाकर रेहला में पीएचसी के लिए भवन बना दिया गया है, जबकि यहां स्वास्थ्य उपकेन्द्र का भवन बनना चाहिए था. इसके बावजूद सरकार को रेहला पीएचसी में एचआर स्वीकृति के लिए प्रस्ताव बनाकर भेजा गया है. सरकार से गाइडलाइन जारी होते ही वहां डाक्टरों के साथ-साथ चिकित्साकर्मियों की प्रतिनियुक्ति कर दी जायेगी.

इसे भी पढ़ें – बोकारो: उपायुक्‍त ने किया कसमार का दौरा, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में मिली गड़बडी पर भड़के

Telegram
Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close