JharkhandPalamu

पलामू: उपायुक्त देते हैं जूता मारने की धमकी, झासा ने खोला मोर्चा, कहा- साथ काम नहीं कर सकते

Palamu: झारखंड प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों ने पलामू डीसी डॉ शान्तनु कुमार अग्रहरि के खिलाफ मोर्चा खोला है. पलामू में तैनात राज्य प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों ने डीसी पर कई गंभीर आरोप लगाये हैं. शुक्रवार की देर रात झारखंड प्रशासनिक सेवा संघ के अधिकारियों की बैठक हुई. जिसमें पलामू डीसी के खिलाफ मोर्चा खोला गया.

इसे भी पढ़ें – रिप्लिका इस्टेट ने आर्मी लैंड का पहले बनाया हुक्मनामा, फिर करायी रजिस्ट्री और म्यूटेशन करवा कर बेच दिया-3

जूता मारने की देते हैं धमकी

बैठक में पलामू में तैनात 27 से अधिक वरीय अधिकारी मौजूद थे. बैठक में कहा गया कि सात जून को डीसी ने फाइल से जुड़े किसी मामले में अधिकारियों के साथ असंसदीय भाषा का इस्तेमाल किया. बैठक की प्रोसिडिंग में लिखा गया है कि डीसी किसी भी बैठक के दौरान वरीय अधिकारियों को जूते से मारने, हत्या कर देने, गोली मारने आदि बोल कर डराते हैं.

 

इसे भी पढ़ें – खुल कर सामने आया कांग्रेस का अंतर्कलह, जम कर हुई धक्का-मुक्की, हंगामा, देखें वीडियो

‘धमकी देते हैं डीसी’

अधिकारियों ने प्रोसिडिंग में लिखा है कि डीसी के व्यवहार से अधिकारी अवसाद से ग्रसित हैं. बात-बात पर कार्रवाई करने, प्राथमिकी दर्ज करने, प्रपत्र क गठित करने, एसीआर खराब करने आदि की धमकी देते हैं.

इसे भी पढ़ें – गिरिडीह : अहिल्यापुर में छापामारी, साइबर पुलिस ने पांच अपराधियों को गिरफ्तार किया, आठ फरार

27 वरीय अधिकारियों के हस्ताक्षर

अधिकारियों ने प्रोसिडिंग में लिखा है कि डॉ शान्तनु कुमार अग्रहरि का वे डीसी के रूप में विरोध करते हैं. बैठक की प्रोसिडिंग में पलामू डीडीसी सह झासा के अध्यक्ष, अपर समाहर्ता सह उपाध्यक्ष, मेदिनीनगर, हुसैनाबाद, डीआरडीए के डायरेक्टर समेत जिला के 27 वरीय अधिकारियों के हस्ताक्षर हैं.

इसे भी पढ़ें – योग दिवस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री, केंद्रीय आयुष मंत्री, झारखंड की राज्यपाल के साथ 35,000 से भी अधिक नागरिक रहेंगे मौजूदः सीएम

Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close