JharkhandPalamu

पलामू : अंतरराष्ट्रीय विकलांग दिवस पर दिव्यांगों का प्रदर्शन, सरकार की घोषणा पर उठाये सवाल

Palamu : आज अंतरराष्ट्रीय विकलांग दिवस है. आज के दिन मेदिनीनगर में कई विकलांग अपनी मांगों के समर्थन में धरना प्रदर्शन करते नजर आये. पलामू विकलांग संघ के तत्वावधान में 11 सूत्री मांगों को लेकर दिव्यांगों ने जेलहाता स्थित पुराने दिव्यांग आवासीय विद्यालय के गेट पर धरना दिया. इस दौरान सरकार की पेंशन देने को लेकर की गयी घोषणा पर सवाल उठाया गया.

दिव्यांगों की मांगों में सरकार द्वारा घोषित एक हजार की जगह 2500 रूपए प्रति माह पेंशन देने, मनरेगा में सौ दिन का रोजगार मुहैया कराने, सभी 18 वर्ष से उपर के दिव्यांगों को आवास योजना का लाभ देने, सभी कार्यालयों में दिव्यांग बोर्ड लगाने एवं अधिनियम का प्रचार-प्रसार करने, संसदीय निर्वाचन क्षेत्र में जातियों की तरह दिव्यांगों को भी पांच प्रतिशत आरक्षण देने, सभी प्रखंडों में दिव्यांगों के लिए आवासीय वि़द्यालय खोलने, बंद पड़े दिव्यांग स्कूल को पुनः खोलने, सभी दिव्यांगों को बैटरी से संचालित ट्राइ साइकिल देने, लाल एवं पीला राशन कार्ड देने, दिव्यांगों की समस्या सुनने के लिए पदाधिकारियों को ग्राउंड फ्लोर पर सप्ताह में एक दिन समय देने, सात से उपर की पढ़ायी करने वाले सभी दिव्यांगों को रोजगार से जोड़ने आदि शामिल है.

इसे भी पढ़ें:बिहार में ‘सुंदर’ कांड के बाद जेडीयू और बीजेपी आमने-सामने, आखिर सीएम नीतीश ने क्या कह दिया था महिला विधायक को…

दिव्यांगों ने कहा है कि 15 दिनों के अंदर उनकी मांगों पर संतोषजनक कार्रवाई नहीं की गई तो वे आंदोलन करने को बाध्य होंगे.

धरना में रमेश कुमार मिस्त्री, सुरेन्द्र राम, अवधेश राम, पप्पू कुमार सिंह, मिथिलेश राम, महताब अंसारी, युनूस अहमद, उमेश कुमार पासवान, रंजीत कुमार सिंह, सुरेन्द्र कुमार, मुकेश कुमार, फूलचंद साव, संतू पांडे, अनिता कुमारी, रीता कुमारी, राजकइल कुमारी, अनुज कुमार मिश्रा, उपेन्द्र चौधरी, संदीप राम, इंदू उरांव, हीरा राम, अरविंद कुमार, सोमनाथ साव, मनोज प्रजापति सहित अन्य शामिल थे.

इसे भी पढ़ें:मांसपेशियों के दर्द को हल्के में ना लें, ओमिक्रोन वैरिएंट का यही एक लक्षण, रहें सतर्क

Advt

Related Articles

Back to top button