JharkhandPalamu

पलामू: हिंडालको के 300 मजदूरों की रोजी-रोटी को लेकर प्रदर्शन, कार्रवाई की मांग

Palamu : गुरूवार को पलामू समाहरणालय के गेट पर हिंडालको ई. लि. कठौतिया कोल माइंस के एएमपीएल कंपनी राजहरा रेलवे कोल साइडिंग में कार्यरत 300 मजदूरों की रोजी-रोटी के बचाव को लेकर आंदोलन किया. जनता मजदूर संघ, राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस (इंटक), कठौतिया कोल माइंस ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन पंडवा के मजदूर नेताओं ने मजदूरों के साथ धरना देते हुए कहा कि करीब 300 मजदूरों को रोजगार से वंचित रहना पड़ रहा है.

एक दिवसीय धरना के बाद कार्यरत कर्मचारी मजदूर राजहारा कोलियरी के द्वारा उपायुक्त को राजहारा रेलवे साइडिंग पर रेक लोडिंग कार्य शुरू कराने के लिए एक ज्ञापन सौंपा गया.

इसे भी पढ़ें :शादी से पहले ही टूट गयी सिद्धार्थ शुक्ला – शहनाज गिल की जोड़ी, शहनाज की हालत खराब

Catalyst IAS
ram janam hospital

अध्यक्षता जनता मजदूर संघ के नेता राकेश सिंह ने की, जबकि संचालन इंटक यूनियन के जिला उपाध्यक्ष नितेश सिंह ने किया. सिंह ने कहा कि कुछ शरारती, गुंडा तत्व के लोगों के द्वारा 21 अगस्त से असंवैधानिक, गैरकानूनी, रंगदारी एवं गुंडागर्दी के तहत लोडिंग कार्य बाधिक कर दिया है.

The Royal’s
Pushpanjali
Sanjeevani
Pitambara

श्रमिको को डरा-धमका एवं दिगभ्रमित कर अशांति फैलाने की मुहिम चलाकर इस कार्य से जुड़े लगभग 300 श्रमिकों को रोजगार से वंचित कर नजायज वूसली, निजी स्वार्थ के फिराक में है.

राकेश सिंह ने कहा कि उपायुक्त से आग्रह है कि जल्द से जल्द इस मामले को संज्ञान में लेकर रेक लोडिंग को चालू करवाएं.

इसे भी पढ़ें :मध्य प्रदेश में OBC को 27 फीसदी आरक्षण का आदेश जारी, 8 मार्च 2019 से मिलेगा लाभ

राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस (इंटक) जिला अध्यक्ष साधन दादा ने कहा कि जिन 43 मजदूरों को आगे कर कुछ शरारती तत्व राजहारा साइडिंग बंद कराने की फिराक में हैं. उसमें सच्चाई यह है कि 43 दैनिक मजदूर पूर्व में राजहारा रेलवे साइडिंग पर कार्यरत इंटक यूनियन के माध्यम से बाला जी कंपनी में कार्यरत थे.

आज से लगभग दो वर्ष पूर्व में इस कंपनी का कोयला ट्रांसपोर्टिंग व लोडिंग का ठेका का कार्य समाप्त हो जाने के बाद ये 43 मजदूर इंटक यूनियन की सदस्यता से इस्तीफा एवं कंपनी के कामों से भी स्वेच्छा पूर्वक शपथपत्र के माध्यम से वंचित रह गए.

बाद में इंटक एवं एएमपीएल कंपनी की सहमति से 43 नए स्थानीय मजदूरों को दैनिक मजदूर के रूप में रख लिया. इस मामले को तूल देकर कुछ शरारती तत्व कंपनी को पैसों के लिए ब्लैकमेल कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ें :झारखंड विधानसभा का मानसून सत्र शुक्रवार से, हंगामेदार होने के आसार

उपाध्यक्ष नीतेश सिंह ने कहा कि एएमपीएल कंपनी के द्वारा वैसे गुंडा, शरारती लोगों पर दर्ज किया गया है. जिला प्रशासन से मांग करते हैं कि उनको जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाए.

मौके पर ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष अखिलेश सिंह, अशोक चौहान, अजमल अंसारी, सूरज राम, अजय चौहान, मुना चौहान, मनोज चौहान, जितेन्द्र चौहान, सूजित कुमार, बिरेन्द्र सिंह, बलवंत कुमार, उपेन्द्र चौहान सहित सैकड़ों मजदूर उपस्थित थे. धन्यवाद ज्ञापन कर्मचारी नेता पवन सिंह ने किया.

इसे भी पढ़ें :टाइम्स वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग 2022 जारी, भारत के सिर्फ 3 विश्वविद्यालय टॉप 400 में शामिल

Related Articles

Back to top button