JharkhandPalamu

पलामू: हाइटेंशन तार की चपेट में आने से फिर हुई मौत, भड़के ग्रामीण, सड़क जाम कर प्रदर्शन

Palamu: पलामू जिले में हाइटेंशन तार की चपेट में आने से एक बार फिर मौत हो गयी. एक सप्ताह के दौरान दूसरी मौत होने से भड़के ग्रामीणों ने सड़क जाम कर दिया और जमकर प्रदर्शन किया. करीब डेढ़ घंटे तक सड़क को जाम रखा. बाजार बंद करा दिया गया.

हुसैनाबाद में जिंदा जला युवक

जिले के हुसैनाबाद थाना अंतर्गत देवरी कला गांव निवासी प्रमोद चैधरी के 22 वर्षीय पुत्र मुन्ना कुमार चैधरी की मौत करंट लगने से हो गयी. मुन्ना कुमार चैधरी देवरी बाजार से कुछ दूरी पर स्थित अपने खेत में गया था. इसी क्रम में वह ग्यारह हजार वोल्ट बिजली तार की चपेट में आ गया. खेत से गुजरा तार काफी नीचे होने के कारण वह उसकी चपेट में आ गया, जिससे घटनास्थल पर ही उसकी मौत हो गयी.

इसे भी पढ़ेंः पलामू : टीचर्स ट्रेनिंग कॉलेज की जमीन पर अतिक्रमण कर बनाये गये हैं आधा दर्जन से अधिक सरकारी भवन

घटना की सूचना मिलते ही ग्रामीणों ने शव के साथ जपला-देवरी मुख्य पथ को जाम कर दिया है. जाम में शामिल गुसाये लोगों ने टायर जलाकर सड़क को पूरी तरह बाधित कर दिया है. जबकी देवरी बाजार बंद करा दिया गया है. जाम में शामिल लोग बिजली विभाग के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर रहे थे. उचित मुआवजा व परिजन को सरकारी नौकरी की मांग भी की गयी.

कई महीने से नीचे झूल रहा था हाइटेंशन तार

ग्रामीणों का कहना है कि ग्याहर हजार वाल्ट का तार कई महीनों से काफी नीचे झूल रहा है. तार को दुरूस्त कराने को लेकर विभाग के वरिय अधिकारियों को ग्रामीणों ने सूचना दी थी. मगर कोई कार्रवाई नही की गयी. लोगों का कहना है कि 11 हजार वोल्ट का तार कई लोगों के खेत से गुजरा है. कभी बड़ा हादसा हो सकता है.

घटना की सूचना मिलते ही जाम स्थल पर पूर्व विधायक संजय कुमार सिंह यादव, देवरी ओपी प्रभारी गुप्तेश्वर तिवारी, एएसआई कुशेश्वर सिंह, संजय सिंह पहुंचकर लोगों को समझाने का प्रयास किया. ग्रामीण बिजली विभाग के वरीय अधिकारी को जाम स्थल पर बुलाने की मांग पर अड़े थे. जाम की वजह से आने जाने वाले लोगों को भारी परेशानी हुई.

इसे भी पढ़ेंः 12 सितंबर को रांची आयेंगे पीएम मोदी, विधानसभा भवन का करेंगे उद्घाटन

हालांकि बाद में मौके पर पहुंचे विद्युत विभाग के अधिकारियों ने ग्रामीणों को मुआवजा देने और तार को उंचा कराने का आश्वासन दिया. इसके बाद ही जाम हटाया गया. प्रदर्शन में मुख्य रूप से मुखिया सुंदरी देवी, पूर्व मुखिया रामशंकर चैधरी, सुरेंद्र चैधरी, पंसस सुनीता देवी, प्रमोद कुमार, गोपाल चंद्रवंशी, सुरेंद्र चैधरी, अरविंद चैधरी, अजय कुमार, सुनील कुमार समेत कई ग्रामीण शामिल हैं.

इसे भी पढ़ेंः गिलुवा ने कहा- 9 सितंबर से ‘घर-घर रघुवर’ अभियान, नड्डा ने कहा था- तीन तलाक व 370 होंगे मुद्दा

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: