Khas-KhabarPalamu

पलामू: भीषण ठंड बनी जानलेवा, मालगाड़ी से कटकर दो यात्रियों की मौत-पारा पहुंचा 4.7

Palamu: भीषण ठंड औऱ घना कोहरा पलामू जिले में जानलेवा साबित होने लगा है. शनिवार सुबह 9 बजे तक 50 फ़ीट की दूरी पर देखना मुश्किल साबित हो रहा था.

कोहरे के कारण डालटनगंज-सोन नगर रेलखंड के बीच स्थित जपला रेलवे स्टेशन पर बीती रात भीषण घटना हो गई. मालगाड़ी से कटकर दो यात्रियों की मौत हो गई.

advt

इसे भी पढ़ेंः#CongressFoundationDay: देशभर में ‘संविधान बचाओ, भारत बचाओ’ के संदेश के साथ फ्लैग मार्च

उनकी पहचान नहीं हो पाई है. एक की उम्र 35 एवं दूसरे की 45 के आसपास बताई गई है. रेल पुलिस ने दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए डालटनगंज ला रही है.

कोहरे के कारण नहीं दिखी ट्रेन

जानकारी के अनुसार शुक्रवार की रात पूर्व मध्य रेलवे के जपला रेलवे स्टेशन के समीप पोल संख्या-365/24 पर मालगाड़ी की चपेट में आने से दो अज्ञात यात्रियों की घटना स्थल ही मौत हो गयी.

बताया जाता है कि शुक्रवार को 19:45 बजे जपला रेलवे स्टेशन से अप लाइन पार करते समय दोनों मालगाड़ी के चपेट में आ गए, जिससे दोनों की मौत हो गयी. कोहरे के कारण दोनों यात्रियों को ट्रेन या उसकी लाइट नहीं दिखी. नतीजा यह हादसा हुआ.

पोर्टर के द्वारा इस घटना की खबर स्टेशन मास्टर व जपला आरपीएफ को दी गई. आरपीएफ ने शव को अपने कब्जे में कर इसकी जानकारी जीआरपी मेदिनीनगर को दी गई है. समाचार लिखे जाने तक उक्त दोनों की शिनाख्त नहीं हो सकी है.पुलिस पता लगा रही है.

कांप उठा पूरा पलामू, पारा 4.7 पहुंचा

पिछले हफ्ते पहाड़ों में हुई लगातार भारी बर्फबारी और मैदानी राज्यों में बारिश के साथ ओलों ने पूरे पलामू को कंपा दिया है. हाड़ कंपाने वाली हवाएं चल रही हैं. इससे पारा में भारी गिरावट दर्ज की गयी.

इसे भी पढ़ेंःगिरिडीह के मधुबन पहुंचे राजस्थान के दो जैन तीर्थयात्रियों की ठंड लगने से हुई मौत

कल तक 9.5 डिग्री के आसपास रहा न्यूनतम तापमान गिरकर 4.7 डिग्री तक पहुंच गया है. इस सीजन में जिले में सबसे ठंडा दिन शनिवार रहा. ऐसी स्थिति अगले एक-दो दिनों तक और रहने की संभावना है. इस दौरान न्यूनतम तापमान में औऱ गिरावट आ सकती है.

1-2 जनवरी को बादल छाने की संभावना

मौसम विज्ञान केंद्र, रांची के मौसम वैज्ञानिक अभिषेक आनंद ने बताया कि उत्तर पश्चिम की ओर से आ रही ठंडी हवा सीधे झारखंड में आ रही है. इसी वजह से तापमान में गिरावट आई है. शुक्रवार को आसमान बिल्कुल साफ रहा. धूप खिली रही, लेकिन ठंडी हवाओं ने कनकनी बढ़ा दी है.

राज्य में पश्चिमी विक्षोभ का असर खत्म हो गया है. आसमान साफ होने से तापमान में गिरावट आई है. ऐसी स्थिति 30 दिसम्बर तक बने रहने की संभावना है. मौसम विभाग ने अपने पूर्वानुमान में 1-2 जनवरी 2020 को बादल छाए रहने और बारिश हो सकती है.

स्वास्थ्य पर ज्यादा ध्यान देने की जरूरत

भीषण ठंड को देखते हुए लोगों को अपनी सेहद पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है. डॉक्टर रोहित पांडेय ने बताया कि तापमान में ज्यादा गिरावट हो रही है. इस समय अपने स्वास्थ्य पर ज्यादा ध्यान देने की जरूरत है. पूरे बदन को गर्म कपड़ों से ढंक कर रखें. गुनगुना पानी पीएं.

इसे भी पढ़ेंः..तो त्रिवेणी सैनिक कंपनी चला रही है “विलेज मोबेलाइजेशन फोर्स” नामक गुंडा गिरोह

जनजीवन पर पड़ा बुरा असर

शीतलहर के प्रकोप से जनजीवन पर बुरा असर पड़ा है. ठंड के कारण ज्यादातर लोग घरों में दुबके रहे और आग तापते नजर आए. ठंड का असर लोगों की दिनचर्या पर भी देखा जा रहा है.

सामान्य दिनों के बजाय देरी से दुकानें खुली. ठंड का असर पशुओं पर भी देखा जा रहा है. दूध देने की क्षमता घटने लगी है. कई दिनों से पड़ रही कड़ाके की ठंड के कारण कस्बे के मेन बाजार में ग्राहक नदारद हैं. उससे दुकानदारी फीकी पड़ी हुई है.

चैनपुर के शाहपुर निवासी अमित कुमार, विनोद, मनीष, कृष्णा प्रसाद, जगन्नाथ पांडेय, देव नंदन पांडेय ने बताया कि ने बताया कि पिछले दो दिनों से क्षेत्र में कड़ाके की ठंड पड़ रही है. तापमान गिरने से लोगों के काम-धंधे पर बुरा असर पड़ रहा है.

लोग मजबूरी में ही घरों से बाहर निकल रहे हैं. ठंड की मार बच्चों और बुजुर्गो पर अधिक पड़ रही है. ठंड के कारण बच्चे और वृद्ध बीमार हो रहे हैं. सरकारी और निजी अस्पतालों में रोगियों की भीड़ बढ़ गई है.

इसे भी पढ़ेंःहेमंत के शपथ ग्रहण समारोह में प्रणब मुखर्जी, राहुल गांधी समेत कई दिग्गज करेंगे शिरकत

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: