JharkhandPalamu

पलामू: फंदे पर लटकी मिली बुजुर्ग की लाश

Palamu : जिले के सतबरवा थाना के खामडीह गांव के नावाटोली में एक बुजुर्ग का शव फंदे से लटका मिला है. बुजुर्ग की पहचान नावाटोली निवासी शंभू सिंह के रूप में हुई है.

उसके पॉकेड से एक सुसाइड नोट भी मिला है, जिसमें घरेलु विवाद और प्रताड़ना की जानकारी दी गयी है. डाक्टर ने सुसाइड नोट पुलिस को सौंप दिया है. पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है.

जानकारी के अनुसार बुधवार को नावाटोली के आस पास के लोगों ने शंभू सिंह का शव फंदे पर लटका देखा. शव एक मकान की छत के पीछे वाले हिस्से में नायलॉन की रस्सी के सहारे लटका हुआ था. शव देखे जाने की सूचना तेजी से फैली और देखते देखते घटनास्थल पर लोगों की भीड़ जमा हो गयी. सूचना पर सतरबवा पुलिस भी मौके पर पहुंच गयी.

सुसाइड नोट के अनुसार बेटा पतोहु के प्रताड़ना से तंग आकर बुजुर्ग शंभू सिंह ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है. शव को कब्जे में लेने के बाद पुलिस ने शव का पंचनामा तैयार कर मेदिनीनगर के राजा मेदिनी राय मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. चिकित्सकों को पोस्टमार्टम के दौरान मृतक के अंडरवियर के जेब से एक सुसाइड नोट मिला, जिसे डॉक्टर ने पुलिस को सौंप दिया है.

इसे भी पढ़ें:4जी और 5जी के जमाने में भी लोग चुआड़ी का पानी पीने को विवश

बताया जाता है कि मरने के पूर्व बुजुर्ग ने उक्त सुसाइड नोट में बेटा-पतोहू पर मारपीट करने तथा रोज झगड़ा करने की बातों का उल्लेख किया है. मंगलवार की रात्रि में बेटा पतोहु के ऊपर आरोप लगाते हुए बुजुर्ग ने लिखा है कि घर में दोनों से कहासुनी हुई थी. बुजुर्ग ने अपनी पत्नी धानो देवी का आत्महत्या में हाथ नहीं होने का जिक्र किया है.

मृतक की पत्नी धानो ने कहा कि मैं और मेरे पति एक खाट पर सोए हुए थे. रात्रि में आंख लग गई. सुबह पति को खाट पर नहीं पाकर अपनी पुतोह नागो देवी से कहा कि बुढ़वा नहीं है, कहां चले गए. उनका चलने वाला डंडा और चप्पल खाट के पास ही पड़ा था.

इधर, नागो देवी ने बताया कि 6 माह से मेरे ससुर की मानसिक स्थिति ठीक नहीं थी. कुछ समय पूर्व उन्हें लकवा मार दिया था. लकवा का इलाज कराया पर मानसिक अवसाद का इलाज पैसे के अभाव में नहीं कराया गया. हम दोनों पति पत्नी से ससुर के साथ किसी प्रकार का कोई विवाद कभी नहीं हुआ है.

मालूम हो कि शंभू सिंह का एक बेटा है. बेटा पुतोह के समेत तीन पोता और एक पोती है. पत्नी चलने फिरने से असमर्थ है. थाना प्रभारी कर्मपाल कुमार नाग ने बताया कि प्रथम दृष्टया घटना आत्महत्या लगता है या फिर किसी के उकसाने के मामले में ऐसा कदम उठाने जैसा लगता है.

पुलिस हर पहलुओं पर छानबीन कर रही है. मृतक के बेटा पुतोह के साथ कहासुनी और अन्य मामलों की गहन जांच पड़ताल पुलिस करेगी.

इसे भी पढ़ें:कोरोना संकट: सिमडेगा, दुमका और रांची के आवासीय प्रशिक्षण केंद्रों में बच्चे हुए संक्रमित, विभाग ने लिया संज्ञान

Related Articles

Back to top button