न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पलामू : डीडीसी ने किया छत्तरपुर प्रखंड कार्यालय का निरीक्षण, गड़बड़ियां हुई उजागर

94

Palamu : जिले के उपविकास आयुक्त बिंदू माधव सिंह ने बुधवार को छत्तरपुर प्रखंड कार्यालय का निरीक्षण किया. निरीक्षण के दौरान कई गड़बड़ियां उजागर हुई. शिकायत पर डीडीसी ने जांच की और प्रखंडकर्मियों को जमकर फटकार लगायी. खाटीन गांव में प्रधानमंत्री आवास योजना में पिलिंथ लेबल तक कार्य कराकर 1 लाख 23 हजार की राशि निकालने का मामला सामने आया. डीडीसी ने मामले में उस क्षेत्र के पंचायत सेवक अजय कुमार तिवारी के खिलाफ प्रपत्र ‘क’ गठित करने, स्वयं सेवक को हटाने का निर्देश दिया. क्लर्क किरण देवी पर कार्रवाई करने का निर्देश दिया है. साथ ही तत्कालीन बीडीओ रामरतन कुमार वर्णवाल की भूमिका की जांच कर कार्रवाई की बात कही.

इसे भी पढ़ें- 27 अक्टूबर से सुदेश शुरू करेंगे स्वराज स्वाभिमान यात्रा का दूसरा चरण

क्या है मामला

खाटीन गांव में इसहाक मियां को वित्तीय वर्ष 2017-18 में प्रधानमंत्री आवास योजना स्वीकृत हुई थी. जिस जगह पर इसहाक मकान बना रहे थे, उस जमीन को मदरसा की भूमि बताकर स्थानीय लोगों द्वारा काम रोक दिया गया. नतीजा मकान का निर्माण नहीं हुआ. विवाद के समय तक मकान का पिलिंथ लेबल तक काम हुआ था. बावजूद 1 लाख 30 हजार रुपये की पीएम आवास योजना में चार किस्त निकालते हुए 1 लाख 23 हजार की निकासी लाभुक के खाते से हो गयी.

इसे भी पढ़ें- चतरा लोकसभा सीट पर ताल ठोंक रहे उम्मीदवार, कई कद्दावार नेता तलाश रहे दल

भौतिक सत्यापन किए बगैर हुआ भुगतान

पूरे मामले को देखा जाए तो स्पष्ट होता है कि पंचायत सेवक और बीडीओ ने भौतिक सत्यापन की रिपोर्ट देखे बिना या किए बगैर राशि की निकासी कर दी है. ऐसे में पीएम आवास के नाम पर हुई लूट में बीडीओ से लेकर पंचायत सेवक और लाभुक तक कसूरवार साबित होते हैं. लाभुक ने बताया कि मकान निर्माण के दौरान विवाद होने पर जो राशि उसके खाते से आयी, उससे वह अबतक मुकदमा लड़ रहा है. सारे पैसे खर्च हो गए हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: