न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पलामू: रंगदारी नहीं मिलने पर अपराधियों ने बीड़ी पत्ता लदे ट्रक को फूंका, छानबीन में जुटी पुलिस

757

Palamu: इन दिनों पलामू के जंगलों से बीड़ी पत्ता तोड़ने के बाद उसे बाहर भेजने का कार्य चल रहा है. ऐसे में बीड़ी पत्ता के कारोबार से जुड़े लोगों से लेवी और रंगदारी भी मांगी जा रही है.

रंगदारी नहीं देने पर बड़ी कार्रवाई की धमकी दी जाती है.
बीती रात पांकी थाना क्षेत्र में कुछ इसी तरह की घटना सामने आयी. उग्रवादी संगठन पीएलएफआई के नाम पर अपराधियों ने बीड़ी पत्ता ले जा रहे एक ट्रक में आग लगा दी. घटना में ट्रक पूरी तरह जलकर खाक हो गया है.

इसे भी पढ़ेंःबालू लूट की खुली छूटः पुलिस, प्रशासन और दबंगों ने मिलकर कर ली 600 करोड़ की अवैध कमायी-2

कहां हुई घटना?

पांकी प्रखंड मुख्यालय से 25 किलोमीटर दूर होताई गांव में बीड़ी पत्ता ला रहे एक ट्रक को रोककर उसे आग के हवाले कर दिया गया.

रविवार की रात साढ़े नौ बजे दो मोटरसाइकिलों पर सवार आधा दर्जन अपराधी होताई गांव पहुंचे और पैसों की मांग करते हुए मुंशी के बारे में पूछताछ करने लगे.

बाद में अपराधियों ने ट्रक में आग लगा दी. नक्सल प्रभावित क्षेत्र होने के कारण रात 11 बजे तक पुलिस घटनास्थल पर नहीं पहुंची थी.

कोई जवाब नहीं मिलने पर लगायी आग

अपराधियों द्वारा घटनास्थल पर पहुंचने पर वहां उपस्थित मजदूर व अन्य लोगों से मुंशी के संबंध में जानकारी मांगी गयी. जब लोग कोई जवाब नहीं दे सके तो अपराधियों ने लोगों को धमकाते हुए बीड़ी पत्ता लदे ट्रक को आग के हवाले कर दिया. जिसके बाद लोगों ने इसकी सूचना थाने को दी.

इसे भी पढ़ेंःचौपारणः खड़े ट्रक से जा टकरायी बस, 11 लोगों की मौत-23 से अधिक जख्मी

घटना के पीछे पीएलएफआई का हाथ सामने आ रहा है. लेकिन पुलिस घटना के पीछे अपराधियों का हाथ बता रही है. पांकी थाना के प्रभारी प्रकाश यादव ने कहा कि इस घटना को अपराधियों ने अंजाम दिया है. पुलिस मामले की जांच कर रही है. नक्सल प्रभावित क्षेत्र होने के कारण पुलिस विशेष सतर्कता बरत रही है.

इसे भी पढ़ेंःदर्द-ए-पारा शिक्षक : किस-किस का मुंह बंद करें, इतना उधार है कि रातभर नींद नहीं आती

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
क्लर्क नियुक्ति के लिए फॉर्म की फीस 1000 रुपये, कितना जायज ? हमें लिखें..
झारखंड में नौकरी देने वाली हर प्रतियोगिता परीक्षा विवादों में घिरी होती है.
अब JSSC की ओर से क्लर्क की नियुक्ति के लिये विज्ञापन निकाला है.
जिसके फॉर्म की फीस 1000 रुपये है. यह फीस UPSC के जरिये IAS बनने वाली परीक्षा से
10 गुणा ज्यादा है. झारखंड में साहेब बनानेवाली JPSC  परीक्षा की फीस से 400 रुपये अधिक. 
क्या आपको लगता है कि JSSC  द्वारा तय फीस की रकम जायज है.
इस बारे में आप क्या सोंचते हैं. हमें लिखें या वीडियो मैसेज वाट्सएप करें.
हम उसे newswing.com पर  प्रकाशित करेंगे. ताकि आपकी बात सरकार तक पहुंचे. 
अपने विचार लिखने व वीडियो भेजने के लिये यहां क्लिक करें.

you're currently offline

%d bloggers like this: