NEWS

पलामू: कोरोना रिकवरी दर 98 प्रतिशत, 24 घंटे में 3965 की हुई कोविड जांच, मात्र 2 पॉजिटिव

Palamu: कोविड-19 संक्रमण को लेकर पलामू जिले से राहत भरी खबर आयी है. यहां की रिकवरी दर 98 प्रतिशत पाया गया है. पिछले 24 घंटे के दौरान 3965 लोगों की हुई कोविड जांच में मात्र 2 लोग पॉजिटिव पाये गये हैं. जिले में मात्र 36 पॉजिटिव मरीज रह गये हैं.

Jharkhand Rai

अबतक 1 लाख 47 हजार 411 की हुई कोविड जांच

जिले में अबतक 1 लाख 47 हजार 411 लोगों की कोविड जांच हुई है. इसमें से मात्र 3015 लोग पॉजिटिव पाये गये हैं. इसमें से 2965 लोग स्वस्थ होकर अपने घर चले गये हैं. इसके बावजूद जिला प्रशासन लगातार लोगों से संक्रमण से बचने की अपील कर रहा है.

मीडिया एडवोकेसी पर हुई कार्यशाला

पलामू समाहरणालय के ब्लॉक-ए के सभागार में आज सूचना एवं जनसंपर्क विभाग एवं जिला स्वास्थ्य समिति के संयुक्त तत्वावधान में कोविड-19 उचित व्यवहार कैंपेन के तहत मीडिया एडवोकेसी पर कार्यशाला का आयोजन किया गया.

कार्यशाला में जिले के उपायुक्त शशि रंजन ने कहा कि पलामू के लोगों को कोरोना को लेकर सतर्क और गंभीर होने की आवश्यकता है. त्योहारी मौसम में भीड़-भाड़ होने की संभावना रहती है. इस दौरान संक्रमण का खतरा बना रहता है. इसमें मीडिया की अहम भूमिका है. मीडिया प्रतिनिधियों का कर्तव्य बनता है कि वे लोगों को इस संबंध में जागरूक करें, जिससे स्वस्थ समाज का निर्माण हो सके.

Samford

उपायुक्त ने राज्य एवं पलामू जिले में संक्रमितों की आंकड़ों पर प्रकाश डालते हुए कहा कि यह सुखद बात है कि पलामू जिले का रिकवरी दर 98 प्रतिशत है. बावजूद सुरक्षा बेहद जरूरी है, क्योंकि अब करोना पॉजिटिव पाये जाने वाले व्यक्तियों की स्थिति गंभीर हो रही है. ऐसे में बेहतर है कि हमलोग खुद से खुद का बचाव करें.

त्योहारों को लेकर बढ़ायी जायेगी कोरोना टेस्टिंग: उपायुक्त

उपायुक्त ने कहा कि त्योहार एवं मौसम में बदलाव को देखते हुए करोना जांच बढ़ाया जा रहा है. उन्होंने ज्यादा आबादी वाले क्षेत्रों में जांच के दायरे को बढ़ाने हेतु सभी की सहयोग की अपेक्षा जतायी. उन्होंने कहा कि कोरोना जांच के लिए लोगों को खुद आगे आने की आवश्यकता है. इसके लिए जागरूकता जरूरी है. जांच नहीं कराने पर कोरोना की पहचान नहीं हो सकेगी और वह धीरे-धीरे लंग्स एवं लीवर को प्रभावित करेगा. कार्यशाला में मीडिया के प्रतिनिधियों ने कोरोना की रोकथाम व बचाव के लिए आवश्यक सुझाव दिये.

उप विकास आयुक्त शेखर जमुआर ने कहा कि कोविड-19 उचित व्यवहार कैंपेन 15 अक्टूबर से शुरू हुआ है, जो 15 नवंबर तक चलाया जायेगा. इस कैंपेन के प्रति आम जनमानस को जागरूक करने हेतु विभिन्न माध्यमों से इसका व्यापक प्रचार-प्रसार किया जा रहा है.

सिविल सर्जन डॉ. जॉन एफ केनेडी ने कहा कि कोविड-19 से बचाव के लिए सावधानी बरतनी होगी. जब तक दवाई नहीं, तबतक ढिलाई नहीं. इसे बचाने के लिए हमसबों को मास्क पहनना अनिवार्य है, साथ ही फिजिकल व सोशल डिस्टेंसिंग काफी आवश्यक है.

इसके पूर्व प्रमंडलीय सूचना एवं जनसंपर्क कार्यालय के उप निदेशक-सह-जिला जनसंपर्क पदाधिकारी आनंद ने सभी का स्वागत किया.

कार्यशाला में प्रशिक्षु आईएएस दिलीप प्रताप सिंह शेखावत, अपर समाहर्ता सुरजीत कुमार सिंह, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी संदीप गुप्ता, डीपीएम दीपक कुमार, सुखराम बाबू के अलावा इलेक्ट्रॉनिक एवं प्रिंट मीडिया के प्रतिनिधिगण उपस्थित थे.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: