न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पलामू : कांग्रेस ने खोला भाजपा सरकार के खिलाफ मोर्चा- हूल क्रांति दिवस पर दिया धरना

379

Palamu : जिले में गहराते बिजली-पानी संकट और स्वास्थ्य विभाग की लचर व्यवस्था के खिलाफ हूल क्रांति दिवस पर पलामू जिला कांग्रेस कमिटी के तत्वावधान में छहमुहान पर धरना-प्रदर्शन किया गया. राज्य की रघुवर सरकार पर गंभीर आरोप लगाए गए और आन्दोलन के लगातार जारी रखने का संकल्प लिया गया.

बिजली-पानी के संकट से लोग प्रतिदिन जूझ रहे 

जिला अध्यक्ष जैश रंजन पाठक (बिट्टू पाठक) ने कहा कि भाजपा के शासन में बिजली-पानी के संकट से लोग प्रतिदिन जूझ रहे हैं, लेकिन सरकार को जनता की समस्यों को कुछ भी मतलब नहीं रह गया है. बिजली संकट के निदान के लिए आज तक सरकार ने कोई ठोस पहल नहीं की है. इसी तरह शहर में पिछले कुछ दिनों से प्रतिदिन गंदे पानी की आपूर्ति की जा रही है. लोगों को पानी के रूप में सीधे जहर पिलाया जा रहा है. गंदे पानी की आपूर्ति के लिए पूरी तरह से नगर निगम और पेयजल स्वच्छता विभाग जिम्मेवार है. अफसोस की बात है कि प्रशासन के स्तर पर बैठे पदाधिकारी भी बिजली-पानी संकट के सामाधान के लिए कोई प्रयास नहीं कर रहे हैं।

इसे भी पढ़ेंः पलामू – बंगाल के जलपाइगुडी से लूट के 37 लाख व बिहार के कटिहार से 12 लाख 50 हजार बरामद

अभी चुनाव हो तो भाजपा की हार तय है : जावेद 

इसी तरह से पूरे राज्य में स्वास्थय विभाग की लचर व्यवस्था है. स्वास्थ्य मंत्री के गृह जिला में ही स्वास्थ्य व्यवस्था खराब है. जिले का सदर अस्पताल स्वयं बीमार है. सदर अस्पताल में न दवाई रहती है और न ही समय पर डाक्टर मरीजों का इलाज करने के लिए मौजूद रहते हैं. गरीबों को बाहर से महंगे दाम पर दवा मजबूरी में खरीदना पड़ता है.  पूर्व विधायक प्रतिनिधि कैशर जावेद ने कहा कि भाजपा के शासन से राज्य की जनता त्रस्त है. लोगों में सरकार के प्रति आक्रोश व्याप्त है. अगर अभी चुनाव हो तो भाजपा की हार तय है. पूरे देश में जहां-जहां लोकसभा और विधानसभा के उपचुनाव हुए हैं, वहां पर भाजपा की करारी हार हुई है.  झारखंड में दो विधानसभा उपचुनाव में विपक्ष की जीत हुई है. पूरा प्रशासनिक तंत्र लगा देने के बाद भी भाजपा और उसके सहयोगी चुनाव नहीं जीत सके.

धरना की अध्यक्षता जिला अध्यक्ष ने की, जबकि संचालन नसीम हैदर ने किया. मौके पर पार्टी नेता राजेश चौरसिया, पप्पू अजहर, एकराम हुसैन, शेर खान, अजय दुबे, छोटू सिंह, सागर दास, शमीम अहमद राईन, सज्जाद खान, हरिनाम साव, इमरान सिद्दीकी, बसंत सिंह, सिद्धनाथ प्रसाद, कामेश्वर तिवारी, विनोद तिवारी, विद्या सिंह, विकास सिंह, सुनिता श्रीवास्तव, गुप्तेश्वर पांडेय, लक्ष्मी तिवारी ने भी सरकार की कथित विफलताओं के खिलाफ हल्ला बोला.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: