Palamu

पलामू: जमीन विवाद में हुई कांग्रेस नेता गुड्डू खान की हत्या ! 

विज्ञापन

Palamu: पलामू के मेदिनीनगर शहर के जेलहाता में सोमवार की शाम हुई कांग्रेस नेता राशिद अहमद सिद्दीकी उर्फ गुड्डू खान की हत्या के पीछे जमीन विवाद सामने आया है.

मुस्लिम नगर स्थित डा. राहत नेजाम के अस्पताल के बगल में एक प्लॉट को लेकर कांग्रेस नेता गुड्डू खान और मो. अली कुरैशी के बीच विवाद था. घटना को उस विवाद से जोड़कर देखा जा रहा है, लेकिन पुलिस अभी किसी निष्कर्ष पहुंच नहीं पायी है.

इसे भी पढ़ेंःअसमंजस में पड़ती झारखंड की राजनीति !

पुलिस इसके अलावा कई अन्य बिन्दुओं पर भी तफ्तीश में जुटी हुई है. इस बीच शाम 4 बजे जनाजे की नमाज के बाद गुड्डू खान की अंतिम यात्रा निकाली गयी. पुलिस लाइन स्थित कब्रिस्तान में उन्हें सुपूर्द-ए-खाक किया गया.

अज्ञात पर मामला दर्ज

शहर थाना प्रभारी आनन्द कुमा मिश्रा ने बताया कि परिजनों के बयान पर अज्ञात पर मामला दर्ज किया गया है. इसमें धारा 307, 302, 120बी 34 और 27 आर्म्स एक्ट लगाया गया है. उन्होंने कहा कि गुड्डू खान जमीन के कारोबार से जुड़े हुए थे.

शुरूआती छानबीन में पता चला है कि मुस्लिम नगर में डा. राहत नेजाम के अस्पताल से सटे एक प्लॉट पर मो. अली कुरैशी से विवाद था. मामले को उससे जोड़कर छानबीन तेज की गयी है. हालांकि इस मामले में अभी पुलिस किसी नतीजे पर नहीं पहुंच पायी है. अन्य मामलों पर भी छानबीन की जा रही है.

परिचित युवकों ने मारी गोली

विदित हो कि सोमवार की शाम 6-7 बजे के बीच जेलहाता स्थित आवास पर गुड्डू खान की गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी. गोली लगने से पहले गुड्डू खान अपने आवास पर तीन युवकों से बातचीत कर रहे थे. बातचीत के दौरान दो परिचित युवक वहां पहुंचे, जिसे देख तीनों युवक गुड्डू खान को बातचीत के लिए बाहर ले गए.

बाहर में कुछ देर बातचीत करने में तीनों युवकों ने गुड्डू खान को गोली मार दी. गोली की आवाज सुनने के बाद परिजन जैसे ही बाहर निकले युवकों ने हवाई फायरिंग की और बाइक से फरार हो गए. परिजन गुड्डू खान को लेकर पलामू मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पीटल ले गए, जहां डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित किया.

इसे भी पढ़ेंःजानें कैसे बीजेपी में विलय के बाद जिंदा रहेगा जेवीएम का वजूद

2010 और 2013 में हुई थी दो भाइयों की हत्या

गुड्डू खान की हत्या से पहले वर्ष 2010 एवं 2013 में उनके दो भाइयों छोटे भाई साजिद अहमद सिद्दीकी उर्फ बॉबी खान और बड़े भाई पप्पू की गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी.

बॉबी खान की छवि आपराधिक रही थी. उसकी हत्या जेलहाता स्थित आवास पर की गयी थी, जबकि पप्पू को आबादगंज काली मंदिर रोड में गोली मारी गयी थी. बॉबी खान ने दो बार डालटनगंज विधानसभा सीट से चुनाव भी लड़ा था.

इधर, सदर एसडीपीओ संदीप गुप्ता ने बताया कि मामले में जांच के लिए एसआइटी का गठन किया गया है. पूरे मामले की जांच तेज की गयी है. जल्द आरोपियों को गिरफ्तार कर मामले से पर्दा उठा दिया जायेगा.

इसे भी पढ़ेंःबाबूलाल ने विधायक बंधु तिर्की को #JVM से बाहर किया, साफ हुआ बीजेपी में विलय का रास्ता

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: