JharkhandPalamu

पलामू: नेवी जवान हत्याकांड की सीबीआइ से जांच कराने का मामला लोकसभा में उठाया गया

Palamu : लोकसभा में शून्यकाल के दौरान पलामू के नेवी जवान सूरज दुबे हत्याकांड की सीबीआइ से जांच कराने का मामला उठाया गया. पलामू के सांसद विष्णु दयाल राम ने मामले को उठाते हुए इसे अति आवश्यक बताया. कहा कि इसका संबंध उनके संसदीय क्षेत्र के केवल एक नेवी जवान से नहीं, बल्कि यह देश की नौसेना से भी है.

Advt

बताते चलें कि आइएनएस अग्रणी, क्वायंबटूर में सेलर के पद पर कार्यरत नौसैनिक सूरज दुबे गत 30 जनवरी को ड्यूटी ज्वाइन करने जाते समय हैदराबाद एयरपोर्ट से लापता हो गए थे. सूरज दुबे पलामू जिले के चैनपुर थाना क्षेत्र के पूर्वडीहा के कोल्हूआ के निवासी थे. बाद में 5 फरवरी को गंभीर रूप से जली अवस्था में हैदराबाद से 1500 किलोमीटर दूर महाराष्ट्र के मुम्बई (पालघर) इलाके से बरामद हुए थे. इसी दिन देर रात उनकी इलाज के दौरान नेवी अस्पताल में मौत हो गयी थी.

मुंबई पुलिस की जांच में सामने आया है कि नौसैनिक सूरज दुबे का हैदराबाद एयरपोर्ट से अपहरण किया गया था. तीन दिनों के बाद पालघर के जंगली इलाके में ज्वलनशील पदार्थ उनके शरीर पर डालकर जला दिया गया था. इस संबंध में तीन लोगों के खिलाफ प्राथमिकी भी दर्ज करायी गयी है. जांच के लिए मुंबई पुलिस पिछले दिनों जवान के पैतृक गांव में भी आयी थी.

सांसद ने मामले को उठाते हुए कहा कि नौसैनिक की नृशंसा हत्या हुई है. इसलिए इसकी जांच सीबीआइ से कराना अति महत्वपूर्ण है. सांसद ने कहा कि वही पालघर है, जहां कुछ महीने पूर्व पीट-पीटकर साधुओं की नृशंस हत्या कर दी गयी थी. सूरज कुमार दूबे को अपहरणकर्ताओं ने तीन दिनों तक बंधक बनाकर रखा, परन्तु पुलिस उसे खोज नहीं पायी. यह उसकी विफलता है.

प्रश्न यह है कि अपहरणकर्ताओं द्वारा चेन्नई से पालघर 1500 कि.मी. दूर क्यों ले जाया गया? एवं उनकी नृशंस हत्या करने के पूर्व 10 लाख रूपए की फिरौती क्यों मांगी गयी. यह मामला सेना के एक जवान से जुड़ा हुआ है और इसका उद्भेदन अत्यंत आवश्यक है.
सांसद ने कहा कि गृह मंत्री से अनुरोध है कि इस कांड की जांच सीबीआइ से कराने की कृपा करें, क्योंकि इस कांड का इंटर स्टेट रेमिफिकेशन है. साथ ही रक्षा मंत्री से अनुरोध किया कि सेना की दृष्टिकोण से नौ सेना के पदाधिकारियों एवं पुलिस की संयुक्त टीम बनाकर इस कांड की जांच कराने का कष्ट करें.

Advt

Related Articles

Back to top button