JharkhandLead NewsPalamu

Palamu : गर्म माड़ से भरे टब में गिरने से गंभीर रूप से जली दोनों बच्चियां भेजी गयीं रिम्स, उपायुक्त ने दिये 50 हजार

Palamu : गर्म माड़ से भरे टब में गिरने से गंभीर रूप से जली जिले के तरहसी प्रखंड की सेलारी के छेचानी आंगनबाड़ी केन्द्र की दो बच्चियों का बेहतर इलाज कराने में जिला प्रशासन सक्रियता दिखा रहा है. जिले के उपायुक्त आंजनेयुलु दोड्डे के निर्देश पर शनिवार की रात मेदिनीनगर के एक निजी अस्पताल से दोनों को रांची रिम्स ले जाया गया.

तरहसी के बाल विकास परियोजना पदाधिकारी सह प्रखंड विकास पदाधिकारी सच्चिदानंद महतो अपनी देखरेख में इलाज के लिए दोनों को रिम्स ले गये हैं. रांची रोड स्थित निजी अस्पताल में शनिवार की रात एंबुलेंस पहुंची. यहां से रात को ही दोनों बच्चियों को रांची ले गया. उपायुक्त के द्वारा बच्चियों के इलाज में 50 हजार रुपये की आर्थिक मदद दी गयी है. बाल विकास परियोजना पदाधिकारी ने 50 हजार रुपये का चेक बच्चियों के परिजन को सौंपा.

बाल विकास परियोजना पदाधिकारी ने बताया कि अपने नेतृत्व में दोनों बच्चियों को बेहतर इलाज के लिए रिम्स में बने नये ट्रामा सेंटर में भर्ती करायेंगे. परिवार वालों को भरोसा दिलाया गया है कि बच्चियों का बेहतर इलाज होगा. रिम्स में स्पेशल बर्न केस के लिए ट्रामा सेंटर इन दिनों बनाया गया है. हालांकि परिजन रांची जाने से हिचक जा रहे हैं, लेकिन प्रशासन लगातार उन्हें भरोसा दे रहा है. उपायुक्त स्तर से बेहतर इलाज कराने के संबंध में दिशा निर्देश मिला है.

बाल विकास परियोजना पदाधिकारी ने कहा कि तीन दिनों तक बच्चियों का मेदिनीनगर के निजी अस्पताल में इलाज किया गया. उनके स्वास्थ्य में सुधार है, लेकिन पूरी तरह ठीक करने के लिए रांची ले जाना जरूरी है. उन्होंने कहा कि इस मामले में सेविका को तो शोकॉज किया गया है. उपयुक्त जवाब नहीं मिलने पर विभागीय कार्रवाई की जायेगी.

इधर बच्चियों की दादी पातो देवी सहित गांव की अन्य महिलाओं ने प्रशासन से बेहतर इलाज की मांग की है. ग्रामीणों ने कहा है कि दोनों को पूरी तरह ठीक करने में स़िक्रयता दिखाया जाये. ताकि प्रभावित परिवार को राहत मिल सके.

बताते चलें कि तरहसी प्रखंड के सेलारी पंचायत के उत्क्रमित मध्य विद्यालय छेचानी में चावल बना कर रखे गये गर्म माड़ में गिरने से आंगनबाड़ी केन्द्र की दो बच्चियां बुरी तरह झुलस गयी हैं. छेचानी में आंगनबाड़ी केन्द्र का अपना भवन नहीं रहने के कारण उत्क्रमित मध्य विद्यालय के पुराने भवन में आंगनबाड़ी केन्द्र का संचालन किया जाता है. इसी से सट कर उत्क्रमित मध्य विद्यालय भी चलता है. जख्मी बच्चियां इसी टोले के रहनेवाले परमेश्वर साहू की 5 वर्ष की शिबू कुमारी एवं 3 वर्ष की ब्यूटी कुमारी हैं.

इसे भी पढ़ें – पलामू: रात में न्यूनतम पारा पहुंचा 7.8 डिग्री, चौक चौराहों पर अलाव की व्यवस्था नहीं

Related Articles

Back to top button