Palamu

पलामूः दरिंदगी पर उबाल, हैदराबाद वेटनरी डॉक्टर से गैंगरेप और हत्या मामले में आरोपियों को फांसी देने की मांग

Palamu: हैदराबाद में महिला डॉक्टर के साथ हुई अमानवीय और विभत्स घटना से पूरा देश आक्रोशित है. पलामू में भी विरोध-प्रदर्शन तेज हुआ है. कैंडल मार्च निकालने के बाद बुधवार को कई संगठनों द्वारा आक्रोश मार्च निकाला गया.

बड़ी संख्या में लोग शहर की सड़कों पर उतरे और दोषियों को फांसी देने की मांग की. साथ ही महिलाओं के साथ ऐसी घटना ना हो, इसके लिए ठोस कानून बनाने की मांग की गयी.

इसे भी पढ़ेंः#UddhavThackeray का #BhimaKoregaonViolence मामले में कार्यकर्ताओं के खिलाफ दर्ज मामले वापस लेने का आश्वासन

advt

संस्कृतिकर्मियों व आम नागरिकों ने किया पोस्टर प्रोटेस्ट

ईप्टा की पहल पर पोस्टर प्रोटेस्ट में मल्टी आर्ट एसोसिएशन, सवेरा कला मंच, मासूम आर्ट ग्रुप, प्रगतिशील लेखक संघ, भारत ज्ञान विज्ञान समिति के अलावा आम नागरिक व महिलाओं ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया. सभी कलात्मक पोस्टर के जरिए पीड़िता को न्याय दिलाने की मांग कर रहे थे.

सरकार से भी सवाल

साथ ही महिला सशक्तिकरण के इस दौर में बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ के नारे को धता बताते हुए पोस्टरों के जरिए सरकार से भी सवाल पूछा गया कि आखिरकार कब तक हमारी बहन-बेटियां ऐसे ही लुटती रहेंगी? आखिर उनको भी सम्मान के साथ जीने का पूरा हक है.

कचहरी परिसर में जमा हुए संस्कृतिकर्मियों का समूह कलात्मक पोस्टर लिए छहमुहान तक गया, जहां पोस्टर के माध्यम से लोगों से अपील की गई कि वह भी इस मुहिम का हिस्सा बनें.

साथ ही सरकार से मांग की गयी कि दोषियों को गिरफ्तार कर जल्द-से-जल्द कठोर सजा दी जाए और बलात्कार जैसे जघन्य अपराध के लिए कड़ा कानून भी बनाया जाये. ताकि आगे से ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति ना हो.

adv

प्रोटेस्ट में इनकी रही मौजूदगी

प्रोटेस्ट में आकाशवाणी उद्घोषिका स्मृति लाल, शालिनी श्रीवास्तव, सामाजिक कार्यकर्ता शर्मिला सुमि, कलाकार मुनमुन चक्रवर्ती, वंदना श्रीवास्तव, मनीषा कुमारी, पूनम विश्वकर्मा, दिव्या भगत, उपेंद्र मिश्रा, विनोद पांडेय, शब्बीर अहमद, मृत्युंजय शर्मा, संजीत प्रजापति, संजीव सिंह, अजीत पाठक, प्रेम प्रकाश, शिवशंकर प्रसाद, आलोक श्रीवास्तव समेत काफी संख्या में महिला व पुरुष उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ेंः#CitizenshipAmendmentBill पर मोदी कैबिनेट की मुहर, संसद में  पेश करने की कवायद शुरू, कांग्रेस ने अंसवैधानिक बताया  

एबीवीपी ने निकाला आक्रोश मार्च

इधर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की पलामू इकाई द्वारा आक्रोश मार्च निकाला गया. मार्च प्रमंडलीय कार्यालय गणपति धर्मशाला से निकलकर बाजार परिसर, पंच मुहान, डाबर गली होते हुए छहमुहान चौक पर नुक्कड़ नाटक के साथ समाप्त हुआ.

आक्रोश मार्च में महिलाओं के सम्मान में एबीवीपी मैदान में, दोषियों को फांसी दो, प्रियंका हम शर्मिंदा हैं तेरे कातिल जिंदा है सरीखे के नारे लगाए गए.

मौके पर राष्ट्रीय कार्यसमिति सदस्य विनीत पांडे ने कहा कि हैदराबाद की महिला डॉक्टर की दुष्कर्म के बाद हत्या कर क्रूरता की सारी हदें पार करने वालों को बीच चौराहे पर लटका देना चाहिए. इस तरह की घटना भारतीय संस्कृति के साथ मानवता को भी शर्मसार कर रहा है.

इसे भी पढ़ेंः#RapeAccused भगोड़े #Nityananda ने इक्वाडोर में आइलैंड खरीदा,  हिंदू देश घोषित कर नाम रखा कैलासा

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button