न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पलामू : खुलेआम की जा रही स्टाम्प पेपर की कालाबाजारी, वेंडर कर रहे मनमानी

eidbanner
35

Palamu : जिला मुख्यालय मेदिनीनगर में स्टाम्प पेपर की कमी दिखाकर वेंडर कालाबाजारी कर रहे हैं. स्टाम्प पेपर की किल्लत के नाम पर निर्धारित दर से काफी ऊंचे दामों पर लोगों को यह उपलब्ध कराया जा रहा है. सबसे बड़ी बात यह है कि प्रज्ञा केन्द्रों के माध्यम से ई-स्टाम्प की भी कालाबाजारी की जा रही है. जिसपर अंकुश लगाने में जिला प्रशासन अक्षम साबित हो रहा है.

इस संबंध में भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के जिला सचिव रुचिर तिवारी ने पलामू के उपायुक्त को पत्र लिखकर स्टाम्प पेपर की कालाबाजारी पर अविलंब रोक लगाने की मांग की है.

उपायुक्त को लिखे पत्र में सचिव ने कहा है कि मेदिनीनगर स्थित कचहरी परिसर में अनुज्ञप्तिधारी स्टाम्प वेंडर ई-स्टाम्प के अलावा, अन्य स्टाम्प पेपर फिक्स रेट दस-बीस गुणा ज्यादा पर बेच रहे हैं. जबकि अनुज्ञप्तिधारी वेंडरों को स्टाम्प पेपर की बिक्री करने पर सरकार द्वारा उन्हें उचित कमीशन भी दिया जाता है.

इसे भी पढ़ें – डैमों की सफाई के लिए होती है 2.60 करोड़ के फिटकिरी, चूना,ब्लीचिंग की खरीदारी, आपूर्तिकर्ता हैं…

स्टाम्प की किल्लत दिखाकर वेंडर लगा रहे चूना

इसके बावजूद आम जनता के बीच स्टाम्प की किल्लत दिखाकर वेंडर उन्हें चूना लगा रहे हैं. यही कारण है कि 20 रुपये का स्टाम्प पेपर दो सौ रुपये में और ई-स्टाम्प तीन सौ रुपये में लोगों के बीच बिक्री की जा रही है. इस प्रकार आम लोगों का शोषण बदस्तूर जारी है.

भाकपा नेता ने पत्र में कहा है कि ई-स्टाम्प की बिक्री करने का लाइसेंस सीमित लोगों को दिया गया है. जिससे अब लोग ई-स्टाम्प भी ऊंचे दाम पर खरीदने को मजबूर हैं. उन्होंने उपायुक्त के माध्यम से राज्य सरकार को सुझाव दिया है कि रेलवे टिकट की तर्ज पर आम लोगों को ई-स्टाम्प ऑनलाइन खरीदने का अधिकार दिया जाये, जिससे कालाबाजारी पर रोक लग सके.

इसे भी पढ़ें – कोचांग गैंगरेप : फादर अल्फांसो समेत सभी छह दोषियों को आजीवन कारावास

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

hosp22
You might also like
%d bloggers like this: