न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पलामू: BJP चुनाव कार्यालय उड़ाने के बाद नक्सलियों ने पुल निर्माण में लगी मशीनों में लगायी आग, दहशत

931

Palamu : पलामू संसदीय सीट पर 29 अप्रैल को वोटिंग होगी. इसके ठीक पहले बिहार की सीमा से सटे हरिहरगंज थाना क्षेत्र में नक्सलियों ने दो हिंसक घटनाओं को अंजाम देकर अपनी नापाक हरकत से अवगत करा दिया है.

गुरूवार की रात नक्सलियों ने हरिहरगंज थाना से महज 150 मीटर दूर ना सिर्फ भाजपा के चुनाव कार्यालय को उड़ाया, बल्कि इसी थाना क्षेत्र में तुरी गांव में बटाने नदी पर पुल निर्माण में लगी दो मशीनों को आग के हवाले कर दिया. मजदूरों के रहने वाले झोपड़ियों में आग लगा दी.

मजदूरों और कर्मियों के मोबाइल फोन भी लूट लिए. उन्होंने गोलीबारी करने के साथ-साथ पर्चे भी छोड़े और भाकपा माओवादी जिंदाबाद के नारे लगाए. वहीं चुनाव से पहले नक्सली हिंसा की दो-दो घटनाएं पुलिस की सक्रियता पर सवाल उठा रहे हैं.

इलाके में दहशत

नक्सलियों की इस कार्रवाई से हरिहरगंज समेत आसपास के इलाकों के लोग पूरी रात डरे सहमे रहे. कोई भी घर से बाहर नहीं निकला. बीजेपी चुनावी कार्यालय का निवर्तमान सांसद सह भाजपा प्रत्याशी वीडी राम ने गत 18 अप्रैल को चुनावी उद्घाटन किया गया था.

घटना की रात भाजपा कार्यकर्ता लखन साव कार्यालय में सोए हुए थे. नक्सलियों ने सो रहे लखन साव को हथियार का भय दिखाकर अपने कब्जे में लेते हुए गोली मारने की धमकी दी. डरे सहमे लखन साव मौका मिलते ही किसी तरह भागकर अपनी जान बचाई.

इसे भी पढ़ें – PM मोदी आज वाराणसी में दाखिल करेंगे नामांकन, NDA के कई दिग्गज रहेंगे मौजूद

धमाके से गूंजा हरिहरगंज

नक्सलियों ने कार्यालय में बम लगाकर उड़ा दिया. जोरदार धमाके के साथ कार्यालय पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया. कार्यालय के साथ ही कांप्लेक्स में बने कई अन्य कमरे क्षतिग्रस्त हो गए. घटना के तुरंत बाद नक्सलियों ने 8 से 10 राउंड फायरिंग की और माओवादी जिंदाबाद के नारे लगाते हुए निकल गए. इसी क्रम में नक्सलियों ने बड़ी मात्रा में वोट बहिष्कार सहित अन्य नक्सली पर्चे, साहित्य पंपलेट भी छोड़े.

तूरी में दूसरी घटना

कार्यालय उड़ाने के बाद थाना से तीन किलोमीटर की दूरी पर तूरी में बटाने नदी पर पुल निर्माण कार्य में लगे दो जनरेटर, मिक्सर मशीन को जला दिया. साथ ही मजदूरों के रहने के लिए बने झोपड़ी को भी आग के हवाले कर दिया. जसमें कर्मियों के राशन, कपड़े व पैसे सहित अन्य सामान जलकर खाक हो गए.

दो बाइक पर आए थे छह नक्सली

वहीं पुल निर्माण में लगे सरिया मिस्त्री राजीव दत्ता ने बताया कि घटना को अंजाम देने हरिहरगंज की ओर से दो बाइक पर सवार छह लोग आए थे. काम को बंद करा दिया और कर्मियों से कहा कि अपने-अपने मोबाइल फोन दे दो और भाग जाओ. कर्मियों ने अपने मोबाइल फोन नक्सलियों को दे दिया और जान बचा कर भाग गए. उसके बाद नक्सलियों ने घटना का अंजाम दिया. घटना के बाद पुल निर्माण कार्य बंद हो गया है.

इसे भी पढ़ें – चुनाव से पहले नक्सलियों का आतंक, उड़ाया BJP चुनावी कार्यालय

 छानबीन में जुटी पुलिस

घटना की सूचना मिलते ही पुलिस रात में ही घटनास्थल पहुंचकर पूरे मामले की छानबीन में जुट गयी. छत्तरपुर के डीएसपी शंभू कुमार सिंह ने दोनों घटनास्थल का जायजा लिया. इधर, सांसद और भाजपा उम्मीदवार वीडी राम, छत्तरपुर के विधायक राधाकृष्ण किशोर, भाजपा के जिला अध्यक्ष नरेन्द्र कुमार पांडेय सहित अन्य भाजपा नेता ने भी घटनास्थल का जायजा लिया. कार्यकर्ताओं से घटना की पूरी जानकारी ली.

मालूम हो कि लोकसभा चुनाव शांतिपूर्ण संपन्न कराने के लिए अन्तर्राज्यीय पुलिस पदाधिकारियों की दो अहम बैठक हरिहरगंज थाना में हो चुकी है. बावजूद इसके नक्सलियों ने पुलिस के रणनीति को चुनौती दी है. एक के बाद एक दो हिंसक घटनाओं के होने से पुलिस की सक्रियता और इलाके में नक्सलियों के नहीं होने के दावे की पोल खुल गयी है.

विस्फोट के लिए IED का हुआ इस्तेमाल : डीएसपी

घटना के बाद छानबीन में जुटे छत्तरपुर डीएसपी शंभू कुमार सिंह ने बताया कि नक्सलियों ने ही भाजपा कार्यालय उड़ाने और पुल निर्माण में लगे जनरेटर और मिक्सचर मशीन में आग लगायी है. दोनों घटनाओं में एक ही दस्ता का हाथ है.

घटना के बाद नक्सली बिहार सीमा की ओर प्रवेश कर गए हैं. दो मोटरसाइकिलों पर सवार थे और उनकी संख्या छह के आस-पास थी. चुनाव कार्यालय में विस्फोट को गुरुवार देर रात 12 बजे के आसपास अंजाम दिया गया. जबकि तूरी में आगजनी की घटना इसके कुछ देर बाद हुई. नक्सलियों की पहचान के लिए कई स्तरों पर कार्रवाई शुरू की गयी है. इस घटना से चुनाव के किसी कार्य पर असर नहीं पड़ेगा.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

hosp22
You might also like
%d bloggers like this: