Crime NewsJharkhandPalamu

पलामू: बिहार के युवक की हरिहरगंज में हत्या, निजी कंपनी का था सेल्समैन 

Palamu: पलामू जिले के हरिहरगंज थाना से महज आधा किलोमीटर दूर पर मंगलवार रात एक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी गयी. युवक की पहचान बिहार के औरंगाबाद जिले के कुटुंबा थाना क्षेत्र के महराजगंज निवासी अरविंद ठाकुर (24 वर्ष) के रूप में हुई है. अरविंद एक निजी कंपनी का सेल्समैन था. घटना के बाद पुलिस मामले की छानबीन में जुट गयी है.

बुधवार की सुबह घटना की सूचना मिलने पर छतरपुर के एसडीपीओ शम्भू सिंह, पुलिस निरीक्षक सह हरिहरगंज थाना प्रभारी दीपक कुमार मौके पर पहुंचे. छानबीन के बाद एसडीपीओ ने बताया कि
महराजगंज, थाना कुटुंबा औरंगाबाद (बिहार) निवासी अरबिंद ठाकुर (उम्र 24 वर्ष) (पिता सुरेंद्र ठाकुर) की हत्या हरिहरगंज के बैद्यबीघा में गोली मार कर की गयी है. शव को पोस्टमॉर्टेम के लिए मेदिनीनगर पीएमसीएच में भेज गया है.

प्रारंभिक जानकारी के अनुसार अरविंद हरिहरगंज में ही एक एजेंसी में काम किया करता था. मंगलवार को उसने हरिहरगंज बाजार में एक जगह अपने दोस्तों के साथ शराब का सेवन किया. शराब पीने के क्रम में अरविंद को उसके दोस्तों से विवाद हुआ. जिसके बाद अरविंद वहां से अपने एक साथी के साथ निकल गया. घटना के संबध में सभी बिंदुओं पर अनुसंधान किया जा रहा है. प्रारंभिक जानकारी में कई अहम सुराग मिले हैं. जल्द ही पूरे मामले का खुलासा कर अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया जायेगा.

Catalyst IAS
ram janam hospital

The Royal’s
Pushpanjali
Pitambara
Sanjeevani

मंगलवार रात की है घटना

ग्रामीणों के अनुसार बीती रात करीब 10 बजे के आसपास तेज आवाज हुई. जैसे लगा टायर फट्टा हो. सुबह में हरिहरगंज न्यू सब्जी मंडी के समीप बैधविगहा में एक युवक की लाश देखी गयी. युवक की पहचान ग्रामीणों ने की. ग्रामीणों ने बताया कि अरविंद ठाकुर अक्सर उनके इलाके में अपने दोस्तों के पास आया करता था.

काम कर हर दिन लौट जाता था घर

मृतक के भाई सतीश ठाकुर ने जानकारी दी कि हर दिन सेल का काम करने के बाद अरविंद ठाकुर घर लौट जाता था. लेकिन मंगलवार रात नहीं आया. घटना से पहले बातचीत के दौरान अरविंद ने बताया था कि उसके पास मंगलवार को सेल कलेक्सन के 18 हजार रुपये हैं.

वह उस पैसे को जमा करके घर आयेगा. लेकिन वह देर रात तक घर नहीं लौटा जिसके बाद बुधवार सुबह उसका शव मिला. घटनास्थल पर मिले अरविंद के शव के पास से केवल एक मास्क और मोटरसाइकिल की चाभी मिली है. उसका मोबाइल, सोने का चैन और सेल का हिसाब रखने वाली डायरी गायब है. घटनास्थल से 50 मीटर की दूरी पर उसकी बाइक मिली है.

नजदीक से मारी गयी गोली

घटनास्थल पर पड़े अरविंद ठाकुर के शव को देखने से प्रतीत होता है कि उसे काफी नजदीक के सटाकर गोली मारी गयी है. गोली उसके बाएं तरफ सीने में मारी गयी है. गोली मारने से पहले उसे जमीन पर पटका गया होगा क्योंकि गोली उसके सीने को छेदते हुए जमीन में गड़ गयी थी. पुलिस ने शव हटाकर जमीन में गड़ी गोली का खोखा बरामद किया. गोली का जिस तरह से असर हुआ है उससे लगता है कि 315 बोर के पिस्टल से गोली चलायी गयी होगी.

क्या हो सकता है घटना का कारण?

घटनास्थल का परिदृश्य और मृतक के पास से गायब सोने के चैन, नगद रुपये और डायरी से घटना के पीछे कई कारण हो सकते हैं. लूटपाट के दौरान विरोध करने पर युवक को गोली मारी गयी होगी या फिर किसी अन्य कारण से युवक की हत्या कर मामले को लूटपाट से जोड़ने का प्रयास किया गया होगा. बहरहाल, पुलिस सभी बिंदुओं पर छानबीन कर रही है और जल्द खुलासा का दावा करती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button