न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

पलामू : केन्द्रीय मंत्रीमंडल में बीडी राम और राज्य में राधाकृष्ण किशोर बनेंगे मंत्री !

368

Dilip Kumar

eidbanner

Palamu : लोकसभा चुनाव में प्रचंड बहुमत के साथ बीजेपी ने फिर से वापसी की है. अब पार्टी केन्द्र में सरकार बनाने की तैयारी में है. इस चुनाव से जहां विपक्ष हाशिये पर चला गया है, वहीं भारतीय जनता पार्टी के कई सांसद और विधायकों के अच्छे दिन आ गए हैं.

पलामू जिले में इसकी सुगबुगाहट तेज है. पलामू संसदीय सीट से दूसरी बार रिकॉर्ड मतों से सांसद निर्वाचित हुए पूर्व पुलिस महानिदेशक बीडी राम और उनके साले और छत्तरपुर के विधायक सह भाजपा के मुख्य सचेतक राधाकृष्ण किशोर के मंत्री बनने पर चर्चा है.

इसे भी पढ़ें – जिस महतो वोट बैंक पर था जगरनाथ को भरोसा, उसी ने किया किनारा, कांग्रेसियों का प्यार तो मिला पर वोट…

रघुवर कैबिनेट में मंत्रियों की दो सीटें रिक्त

पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री चंद्रप्रकाश चौधरी के सांसद बनने के बाद झारखंड में दो मंत्रियों के पद खाली हो गये हैं. राज्य के संवैधानिक ढांचे के मुताबिक, यहां कुल 12 मंत्री होने चाहिए.

लेकिन झारखंड में फिलहाल 11 मंत्री ही हैं. रघुवर सरकार ने कभी भी यहां 12 मंत्री बहाल नहीं किए. आजसू के चंद्रप्रकाश चौधरी कुछ दिनों में सांसद पद की शपथ लेंगे और ऐसे में यहां मंत्री पद की संख्या घटकर 10 रह जायेंगी.

मंत्री बनेंगे या भाजपा विधायक को मंत्री पद मिलेगा

राजनीतिक गलियारे में इस बात पर बहस छिड़ी हुई है कि क्या रघुवर सरकार बचे हुए कार्यकाल 10 मंत्रियों से ही पूरा करेंगे या फिर किसी को मंत्री पद से नवाजा जायेगा? बहस इस बात की भी है कि मंत्री का यह पद आजसू कोटे से ही भरा जायेगा या फिर भाजपा विधायक को मंत्री पद दिया जायेगा?

आजसू के विधायकों की दावेदारी कमजोर

चन्द्रप्रकाश चौधरी के दिल्ली रवाना होने के बाद आजसू के पास अब केवल दो विधायक जुगसलाई से रामचन्द्र सहिस और टुंडी से राजकिशोर महतो हैं. इन दोनों विधायकों के राजनीतिक कद को देखते हुए उन्हें मंत्रीपद मिलना थोड़ा मुश्किल लग रहा है. ऐसे में भाजपा के किसी एक विधायक को मंत्रिपरिषद में शामिल किया जा सकता है.

इसे भी पढ़ें – धनबाद के कोचिंग सेंटर कितने सुरक्षित- अभिभावकों को सताने लगी है बच्चों की चिंता

mi banner add

राधाकृष्ण किशोर को मिल सकता है मौका!

ऐसा माना जा रहा है कि अक्तूबर महीने में चुनाव आयोग द्वारा विधानसभा चुनाव को लेकर आचार संहिता लगायी जा सकती है. ऐसे में केवल चार महीने के लिए किसी को मंत्री पद का सुख प्राप्त हो सकता है.

मंत्री पद के लिए जिन विधायकों के नाम के चर्चा है, उनमें छतरपुर विधायक राधाकृष्ण किशोर सबसे आगे हैं. इसके अलावा नवीन जयसवाल, विरंची नारायण, अनंत ओझा और ढुल्लु महतो भी रेस में शामिल हैं.

केन्द्रीय मंत्रीमंडल में बदल सकते हैं चेहरे

इधर राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की सुनामी विजय के बाद केन्द्रीय मंत्रीमंडल में झारखंड के चेहरों में बदलाव हो सकता है. राजनीतिक गलियारे में जोरदार चर्चा है कि इस बार सुदर्शन भगत के स्थान पर अर्जुन मुंडा मंत्री पद पा सकते हैं. इनके अलावा निशिकांत दुबे का नाम भी उछाला जा रहा है. हालांकि सूत्र बताते हैं कि जयंत सिन्हा की पदोनति हो सकती है.

अनुसूचित जाति के सदस्य को मौका मिलने की संभावना

सूत्र बताते हैं कि अनुसूचित जाति के सदस्य को भी इस बार मौका दिया जा सकता है. चर्चा है कि पलामू से जीतकर दूसरी बार लोकसभा में पहुंचे विष्णुदयाल राम को भी मंत्रीमंडल में स्थान मिलना तय है.

श्री राम एक सुलझे हुए शख्स हैं और सेवानिवृत पुलिस महानिदेशक हैं. इनके नाम की चर्चा से पलामू प्रमंडल में खुशी का माहौल है. भाजपा के कार्यकर्ता भगवान से प्रार्थना कर रहे हैं कि बीडी राम को मंत्रीपद मिले ताकि इस क्षेत्र के विकास में तेजी आ सके.

मंत्री पद के लिए आजसू भी लगाएगा दम

लेकिन इस चर्चा-परिचर्चा में एक पेंच यह भी है कि एनडीए के एक घटक आजसू पार्टी से चन्द्रप्रकाश चौधरी के लिए पार्टी प्रमुख सुदेश महतो पूरा जोर लगाएंगे. अब यह मुमकिन नहीं है कि झारखंड से पांच लोगों को मंत्रीमंडल में स्थान मिल सके. फिर भी ‘मोदी है, तो मुमकिन है.

इसे भी पढ़ें – फेसबुक पोस्ट को लेकर गुजरात के वडोदरा में 200-300 लोगों ने दलित दंपति पर हमला किया, 11 पर एफआइआर

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: