JharkhandPalamu

पलामू: छतरपुर में 24 घंटे में मुश्किल से दो घंटे की बिजली आपूर्ति, विधायक ने निदेशक को सौंपा ज्ञापन- कहा, 15 दिनों में हो सुधार नहीं तो आन्दोलन

Palamu : पलामू जिले के छतरपुर क्षेत्र में भीषण गर्मी के बीच बिजली का ब्रेक डाउन हो गया है. 24 घंटे में मात्र दो घंटे बिजली आपूर्ति की जा रही है. कोरोना वायरस से घरों में सिमट कर रह गए लोग बिजली नहीं मिलने से परेशान हैं.

लोगों की परेशानी को देखते हुए क्षेत्रीय विधायक पुष्पा देवी ने आज बिजली वितरण निगम लिमिटेड के प्रबंध निदेशक को ज्ञापन सौंपा और सुधार करने का आग्रह किया.

इसे भी पढ़ेंः रघुवर सरकार ने शौचालय निर्माण में केंद्र को छला था, अब भी जारी है 6 लाख शौचालयों का निर्माण कार्य : मिथिलेश कुमार ठाकुर

गर्मी में बिजली की आंखमिचैनी से पूरे छत्तरपुर अनुमंडलवासी परेशान हैं. आए दिन बिजलीं आपूर्ति में खराबी आना आम बात हो गई है. छत्तरपुर मुख्यालय में जब से कोरोना वायरस को लेकर लॉक डाउन हुआ है, तबसे बिजली विभाग में भी लॉक डाउन की इस्थिति बनी हुई है.

बिजली नहीं रहने के कारण इस उमस भरी गर्मी में उपभोक्ताओं का जीना मुहाल हो गया है.

पूरे 24 घंटे में महज दो घण्टे ही बिजली की आपूर्ति हो पा रही है. छत्तरपुर बिजलीं विभाग के सहायक अभियंता राजकिशोर सिंह का कहना है कि पूरे पलामू में ऊपर से ही बिजली बहुत ही कम मात्रा में मिल पा रही है. इसलिए बिजली की आपूर्ति करने में परेशानी हो रही है.

छत्तरपुर अनुमंडल के सभी चार प्रखंड छत्तरपुर, नौडीहा बाजार, हरिहरगंज, पिपरा क्षेत्र में  बिजलीं आपूर्ति की व्यवस्था ध्वस्त हो गयी है.

वही सरकारी कार्योलयों में बैठे पदाधिकारियों को इस समस्या से कोई लेना देना नहीं रह गया है.

इसे भी पढ़ेंः #Jharkhand: एक सप्ताह के अंदर मिलेगा पारा शिक्षकों को अप्रैल का मेहनताना, फंड की कमी से मई के मानदेय में होगी देर

इधर, क्षेत्रीय विधायक पुष्पा देवी ने आज रांची में झारखंड विद्युत वितरण निगम लिमिटेड के प्रबंध निदेशक को अनियमित बिजली आपूर्ति में सुधार, जले हुए ट्रांसफार्मर को बदलने एवं तार की स्थिति जर्जर होने के संबंध में ज्ञापन सौंपा.

विधायक ने कहा कि छतरपुर विधानसभा क्षेत्र में अनियमित बिजली की आपूर्ति से क्षेत्र के लोग परेशान हो चुके हैं. 24 घंटे में दो घंटा भी बिजली नहीं रहती. दर्जनों ट्रांसफार्मर जले पड़े हैं. छतरपुर नगर पंचायत क्षेत्र में बिजली के तार जर्जर हैं. हमेशा तार जहां-तहां तार टूटकर गिरते रहते हैं. समस्या के समाधान के प्रति अभियंताओं में हमेशा उपेक्षापूर्ण रवैया रहता है. समस्या लेकर जाने पर अभियंता ठीक से व्यवहार नहीं करते.

विधायक ने जनहित को ध्यान में रखते हुए पूरे क्षेत्र में नियमित बिजली आपूर्ति सुनिश्चित करने के साथ-साथ जले हुए ट्रांसफार्मर एवं बिजली के तार को बदलने का आग्रह किया है.

साथ ही उपेक्षापूर्ण रवैया रखने वाले अभियंताओं का स्थानांतरण करने की मांग की है. विधायक ने कहा है कि 15 दिनों में समस्या का समाधान नहीं होने पर उग्र आंदोलन किया जाएगा.

इसे भी पढ़ेंः नैक एक्रीडिएशन में राज्य के किसी विवि को ए ग्रेड नहीं, सिर्फ दो कॉलेजों को ही मिला है ए ग्रेड

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close