Palamu

पलामू: हाथरस और बलरामपुर घटना के खिलाफ कलाकारों ने सड़क पर दिखाई प्रतिरोध की कला

गैंगरेप पीड़िता के लिए मांगा न्याय

Palamu: यूपी के हाथरस और बलरामपुर में हुई बेटियों के साथ मानवता को शर्मसार कर देने वाली विभत्स घटना के खिलाफ कलाकारों ने अपनी एकजुटता दिखाई है. सड़क पर प्रतिरोध की कला का प्रदर्शन कर पीड़ितों के लिए न्याय मांगा. पलामू जिला मुख्यालय मेदिनीनगर के समाहरणालय परिसर के नुक्कड़ पर लाइव पेंटिंग के जरिए समाज में बढ़ रहे दरिंदगी और हैवानियत के बीच आदमी के चेहरे को कलाकारों ने बेनकाब किया.

गौरतलब है कि पिछले दिनों उत्तर प्रदेश के हाथरस गांव में खेत में घास काटने गई एक युवती के साथ आमनवीय व्यवहार किया गया. बाद में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. इस घटना के बाद सरकार, प्रशासन और मीडिया की चुप्पी पर कलाकारों ने यह सवाल किया कि बेटियों की जान इतनी सस्ती क्यों है?

इसे भी पढ़ेंः बेरमो उपचुनाव: कांग्रेस कैंडिडेट पर संशय, बोकारो जिला अध्यक्ष से 3 अक्टूबर तक मांगी गयी इच्छूक उम्मीदवारों की सूची

कलाकारों ने जताया विरोध

इप्टा के आयोजन में चित्रकार दिनेश शर्मा, प्रेम प्रकाश के अलावा मासूम आर्ट ग्रुप के कलाकार संजीत कुमार प्रजापति, कशिश आर्ट की छात्रा साक्षी व पूजा और अंशु आर्ट सेंटर से आशा के साथ उनके स्टूडेंट अर्पित, आशुतोष व अनुभव ने ऑन स्पॉट पेंटिंग बनाकर जनता से मानवता को बचाने के लिए एकजुटता की अपील की.

पेंटिंग के जरिये कलाकारों ने जताया विरोध

मल्टी आर्ट एसोसिएशन से पूनम विश्वकर्मा के नेतृत्व में तैबा खातून, गुलाबसा खातून, इशरत, नेहा, पूजा, सुमन, शिवानी व निकिता आदि ने पोस्टर के जरिए समाज में महिलाओं को बराबरी और आजादी से जीने का हक मांगा. अंत में सामूहिक रूप से कलाकारों ने ‘हम होंगे कामयाब’ गीत के साथ कार्यक्रम का समापन किया.

इसे भी पढ़ेंः  गिरिडीह : यूपी में गैंगरेप के खिलाफ झामुमो ने योगी सरकार का किया पुतला दहन
कार्यक्रम में सामाजिक कार्यकर्ता शर्मिला सुमि, मुनमुन चक्रवर्ती, इंदु तिवारी, प्रेम भसीन, अमन चक्र, विकास कुमार पप्पू, शैलेन्द्र कुमार, शिव शंकर प्रसाद, केडी सिंह, इंतखाब असर, गौतम कुमार, संजीव कुमार संजू, राजीव रंजन, शशि पांडे, अजीत ठाकुर, संजीत, मनीष, भूपेश समेत अन्य लोग मौजूद थे.

इप्टा के सचिव रविशंकर ने बताया कि अभी हाथरस की बच्ची के साथ बर्बर और वीभत्स घटना और उसके खिलाफ देश में जारी उबाल ठंडा नहीं पड़ा है कि यूपी में एक और उससे भी ज्यादा क्रूर और वहशी घटना सामने आ गयी है. बलरामपुर जिले में 22 साल की एक दलित महिला के साथ इंजेक्शन दिए जाने के बाद गैंगरेप किया गया है.
रेप के बाद आरोपियों ने पहले उसके दोनों पैर तोड़े और फिर उसकी हत्या कर दी. उन्होंने कहा कि एक के बाद एक मानवता को शर्मसार कर देने वाली घटना यह बताने के लिए काफी है कि समाज में दरिंदगी और हैवानियत किस हद तक बढ़ गई गई है. इसके खिलाफ लोगों के सामूहिक स्वर को बुलंद करना होगा, ताकि दोषियों को कड़ी सजा मिले और हमारी मां, बहन और बेटियों को सही समय पर न्याय मिल सके.

इसे भी पढ़ेंः पलामू: किराना दुकान की आड़ में अवैध शराब का धंधा,  अरूणाचल प्रदेश की शराब बरामद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button