न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

पलामू : नक्सलियों के नाम पर रंगदारी वसूलने वाले तीन अपराधी हथियारों के साथ गिरफ्तार

कार्रवाई के लिए दो टीमों का गठन किया गया. एक टीम हुसैनाबाद के अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी मनोज कुमार महतो के नेतृत्व में बनायी गयी.

59

Palamu : जिले की हुसैनाबाद पुलिस को बड़ी सफलता मिली है. गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस ने नक्सलियों के नाम पर रंगदारी वसूलने वाले तीन अपराधियों को हथियारों के साथ गिरफ्तार किया है. गिरोह में शामिल अन्य अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी तेज की गयी है.

eidbanner

जिले के पुलिस अधीक्षक इन्द्रजीत माहथा ने मंगलवार को पत्रकारों को बताया कि हुसैनाबाद थाना क्षेत्र के भैरोपुर गांव में बड़ी घटना अंजाम देने की फिराक में थे. फिर कार्रवाई के लिए दो टीमों का गठन किया गया. एक टीम हुसैनाबाद के अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी मनोज कुमार महतो के नेतृत्व में बनायी गयी. इसमें पुलिस निरीक्षक सह थाना प्रभारी हुसैनाबाद रासबिहारी लाल को शामिल किया गया. जबकि दूसरी टीम एएसपी अभियान अरूण कुमार सिंह के नेतृत्व में तैयार की गयी.

दोनों टीमों की ओर से पूरे क्षेत्र की घेराबंदी कर सर्च अभियान चलाया गया. इस दौरान भैरोपुर के बधारटांड़ के पास कुछ अपराधी हथियार के साथ भागते हुए दिखाई दिए. उन्हें घेर कर पकड़ा गया तो उनके पास से बंदूक, पिस्टल और गोलियां बरामद की गयी. पुलिस अधीक्षक ने बताया कि अपराधियों के पास से 315 बोर की एक राइफल, 315 बोर की आठ जिन्दा गोलियां, 315 बोर की तीन देशी पिस्तौल और सात मोबाईल फोन बरामद किए गए हैं. उन्होंने जानकारी दी कि पकड़े गये तीनों अपराधकर्मियों की पहचान राजगृह पासवान उर्फ संजय पासवान उर्फ कामता पासवान (पिपरवार थाना हुसैनाबाद), दिनेश विश्वकर्मा (डीहपर-हैदरनगर) और अजय पासवान (सरहू-हैदरनगर) के रूप में हुई है. इस गिरोह का मुख्य सरगना राजगृह पासवान उर्फ संजय पासवान उर्फ कामता पासवान है. कामता द्वारा डूमरहत्था गांव में रविन्द्र सिंह की हत्या भी की गयी थी, जिसमें वह फरार चल रहा था.

इन अपराधियों की तलाश तेज

पुलिस अधीक्षक ने यह भी बताया कि रंगदारी और लेवी वसूलने में उपरोक्त तीनों अपराधियों के अलावा इनका एक बड़ा गिरोह काम करता है. उस गिरोह में डब्लू विश्वकर्मा, संजय पासवान, कृष्णा रवि उर्फ करण रवि, विकास तातो, मुकेश पासवान उर्फ मून्ना उर्फ राहुल भी शामिल हैं.

जेजेएमपी और माओवादियों के नाम पर मांगते थे रंगदारी

गिरफ्तार अपराधियों के अलावा चिन्हित किये गये अन्य अपराधकर्मी नक्सली संगठन जेजेएमपी और भाकपा माओवादी के नाम पर इलाके में दहशत फैलाते थे. कुछ दिनों से क्षेत्र में हथियार का भय दिखाकर विभिन्न योजनाओं में बाधा डालने और संवेदकों से रंगदारी मांगने की घटनाएं इनके द्वारा की जा रही थी. ईट भट्ठों में जाकर मजदूरों को धमकाना और भट्ठा मालिकों को फोन कर धमकी देना  इनका मुख्य काम था. इसके अलावा रंगदारी वसूलने के लिए कभी जेजेएमपी तो कभी माओवादी के नाम पर पर्चा भी देते थे.

इसे भी पढ़ें – नवजात का शव गोद में लिए बूढ़ी दादी को है एंबुलेंस का इंतजारः रिम्स में निजी एंबुलेंस चालकों की हड़ताल

इसे भी पढ़ें – जेपीएससी की मार-झारखंड प्रशासनिक सेवा लाचार !

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: