JharkhandPalamu

#Palamu: चुनाव नामांकन रद्द होने से आक्रोशित युवक ने ताला तोड़ कर एसडीओ ऑफिस में लगायी आग, सुरक्षा व्यवस्था पर उठे सवाल

Palamu: विधानसभा चुनाव संपन्न हो गया है, लेकिन इसके साइड इफेक्ट हर दिन देखने को मिल रहे हैं. क्षेत्रीय विधायक आलोक चौरसिया और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सह डालटनगंज सीट से प्रत्याशी रहे केएन त्रिपाठी के बीच बयानबाजी और उनके समर्थकों के बीच भिड़ंत के बीच नयी घटना सामने आयी है.

डालटनगंज सीट से नामांकन दाखिल करनेवाले और कागजात में त्रुटि के बाद चुनाव लड़ने से वंचित एक युवक ने बीती रात सदर एसडीओ कार्यालय में आग लगा दी. आग से कई महत्वपूर्ण दस्तावेज जल गये हैं, वहीं कार्यालय की सुरक्षा पर सवाल खड़ा हो गया है.

इसे भी पढ़ें – झारखंड में ब्यूरोक्रेसी की पहली पसंद रघुवर, उनके बूथों पर भाजपा को 1002 तो गठबंधन को सिर्फ 462 वोट मिले

चार तालों को तोड़ कर लगायी आग

पलामू जिला मुख्यालय स्थित मेदिनीनगर सदर अनुमंडल पदाधिकारी के कार्यालय में आगजनी की गयी. घटना को शुक्रवार रात में अंजाम दिया गया. अनुमंडल कार्यालय के चार ताला को तोड़ कर आग लगा दी गयी. इस मामले में पुलिस ने चैनपुर थाना क्षेत्र के अवसाने निवासी नयन चौधरी को गिरफ्तार कर लिया है.

गिरफ्तार नयन विधानसभा चुनाव में अपना नामंकन रद्द होने के कारण आक्रोशित था. उसने डालटनगंज विधानसभा से चुनाव लड़ने के लिए सदर अनुमंडल कार्यालय में पर्चा भरा था. त्रुटि के कारण उसका पर्चा रद्द कर दिया गया था. नयन ने एसडीओ कार्यालय के मुख्य प्रवेश द्वार, एसडीओ चेंबर और नजारत का ताला तोड़ कर कागजात को जलाया.

इसे भी पढ़ें – #Jharkhand में हर दूसरे दिन घट रही एक नक्सल घटना, पिछले एक महीने के दौरान हुईं 15 घटनाएं

दिन में दी धमकी, रात में लगायी आग

रात में गार्ड कार्यालय में नहीं था. इस कारण युवक आसानी से सारी घटनाओं को अंजाम देते हुए अंदर चला गया. शनिवार की सुबह जब गार्ड पहुंचा तो उसने ताला टूटा हुआ देखा. एसडीओ चेम्बर और नजारत में रखे कागजात जलाये गये थे. जब कर्मी ऑफिस पहुंचे तो उन्हें घटना की जानकारी हुई.

सूचना पर एसडीओ सुरजीत सिंह के अलावा सदर एसडीपीओ संदीप गुप्ता जांच के लिए पहुंचे. गिरफ्तार नयन ने शुक्रवार के दोपहर एसडीओ कार्यालय पहुंच कर हंगामा भी किया था. नामांकन रद्द होने पर उसने आग लगाने की धमकी भी दी थी.

मानसिक रूप से विक्षिप्त है युवक: एसडीओ

सदर एसडीओ सुरजीत कुमार सिंह ने बताया कि आरोपी युवक मानसिक रूप से विक्षिप्त है. हर दिन कचहरी परिसर में घूमा करता था. कल रात कार्यालय में घुस आया और आग लगाने की कोशिश की. इस घटना से कार्यालय को कोई क्षति नहीं हुई है.

अब तक नहीं हुई है प्राथमिकी: शहर थाना प्रभारी

मेदिनीनगरर शहर थाना प्रभारी आनन्द कुमार मिश्रा ने बताया कि अभी तक इस संबंध में किसी तरह की प्राथमिकी दर्ज नहीं की गयी है.

इसे भी पढ़ें – #Chidambaram ने कहा, जनरल रावत अपने काम से मतलब रखें, सेना प्रमुख ने CAA के खिलाफ हिंसक प्रदर्शन की आलोचना की थी 

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: