JharkhandPalamu

पलामू : वन विभाग के खिलाफ ग्रामीणों में आक्रोश, वन्य भूमि पर मांगा मालिकाना हक

Palamu : पलामू जिले के तरहसी प्रखंड के गोईंदी में ग्रामीणों में वन विभाग के खिलाफ जबरदस्त आक्रोश देखा जा रहा है. ग्रामीणों द्वारा रविवार को पंचायत भवन के सामने ग्राम सभा की गई. इस सभा में पांकी विधानसभा के पूर्व प्रत्याशी सह पांकी अनुमंडल संघर्ष समिति पलामू के संयोजक बीजेपी नेता लाल सूरज उपस्थित थे. सभा में सैकड़ो के संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें : दर्जन से ज्यादा बेस्टसेलर नॉवेल लिखनेवाली लेखका शिवानी, महिलाओं में था जबरदस्त क्रेज

advt

ग्रामसभा को संबोधित करते हुए लाल सूरज ने कहा कि वन संपदा पर सबसे पहले ग्रामीणों का हक है. ग्रामीण जनता के भरोसे ही जंगल बचे हुए हैं. जंगल के बीच में रहने वाले लोगों के पास वन भूमि के अलावा खेती करने के लिए और कोई साधन नहीं है. वन भूमि की वैसी जमीन जो बंजर और खाली पड़ी है, उस भूमि पर मेहनत कर पिढ़ी दर पिढ़ी खेती करते एवं मकान बना कर रहते आ रहें हैं, ग्रामीणों को कानूनी रूप से मालिकाना हक सरकार को दे देना चाहिए. ऐसा वन अधिकार अधिनियम 2006, 2008, 2012 में भी है, परन्तु वन विभाग द्वारा मुकदमा दर्ज कर ग्रामीणों को परेशान किया जा रहा है.
यह दुर्भाग्य की बात है. लाल सूरज ने कहा ऐसी व्यवस्था के खिलाफ संघर्ष किया जाएगा.

सभा को पांकी अनुमंडल संघर्ष समिति पलामू के प्रधान सचिव निरंजन कुमार यादव, पारस नाथ सिंह, श्रवन यादव, नागेन्द्र पासवान, पदार्थ साव, प्रवक्ता हाजी अकमल खान, लाल मुन्नी राम, लखन यादव, सत्यदेव सिंह, लाल देव गंझू, कन्हाई लाल सिंह, सुरेन्द्र सिंह, कामख्या सिंह, गिरेंद्र सिंह, संतोष महतो, अमरनाथ मिश्रा, सोमर भुईयां, अर्जुन सिंह, मनोज सिंह, शिवन यादव ने भी संबोधित किया.

इसे भी पढ़ें : आदिवासी कुड़मी समाज ने यूपीएससी की परीक्षा में 446वां रैंक लगाने वाले विकास महतो को किया सम्मानित

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: