न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

अल्पवृष्टि से जूझ रहे पलामू और गढ़वा सुखाड़ क्षेत्र घोषित, तीन स्तर पर मिलेगी किसानों को राहत

सीएम रघुवर दास ने 238. 88 करोड़ कीयोजनाओं का किया शिलान्यास और उद्घाटन

35

Palamu: मुख्यमंत्री रघुवर दास के पलामू आगमन पर सोमवार को कई तरह की सौगात मिली. मुख्यमंत्री ने जहां करोड़ों रूपये की परिसंपतियों को वितरण किया, वहीं सूखे से प्रभावित पलामू और गढ़वा जिले को सूखा क्षेत्र घोषित किया गया. राज्य की कृषि सचिव पूजा सिंघल ने स्थानीय पुलिस लाइन में आयोजित पलामू प्रमंडलीय ‘चौपाल’ कार्यक्रम में इसकी घोषणा की.

इसे भी पढ़ेंःपारा शिक्षक आंदोलन के नाम पर कर रहे हैं गुंडागर्दी : रघुवर दास

कृषि सचिव ने दोनों जिले को सुखाड़ क्षेत्र घोषित करते हुए, इसमें सभी प्रखंडों को शामिल किया गया है. और तीन स्तर के राहत पैकेज की घोषणा की. वहीं राहत के लिए केंद्र सरकार को प्रस्ताव भी भेजा गया है. ज्ञात हो कि पलामू और गढ़वा जिले में औसत से काफी कम बारिश होने के कारण खरीफ फसल बुरी तरह प्रभावित हुई थी. और किसानों के साथ राजनीतिक दलों द्वारा दोनों जिले को सुखाड़ क्षेत्र घोषित करने की मांग की जा रही थी.

तीन स्तर पर राहत पैकेज

कृषि सचिव ने कहा कि बड़े राहत पैकेज के लिए केंद्र सरकार को प्रस्ताव भेजा गया है. पलामू और गढ़वा के किसानों की फसल बीमा मुफ्त होगी. वहीं, रबी फसल के बीज किसानों को 90 प्रतिशत अनुदान पर दिये जाएगे. साथ ही पशुपालन से जुड़े सभी कार्य महिला सखी मंडल के माध्यम से होंगे. कृषि सचिव ने कहा कि पलामू और गढ़वा को सुखाड़ घोषित करने के बाद राहत के लिए कई तरह की पहल की जाएगी.

इसे भी पढ़ेंःन्यूजविंग ब्रेकिंग: मुख्य सचिव सुधीर त्रिपाठी को फिर एक्सटेंशन!

238.88 करोड़ की योजनाओं का उद्घाटन-शिलान्यास

इधर सीएम रघुवर दास ने अपने पलामू दौरे जन चौपाल कार्यक्रम के दौरान 238 .88 करोड़ की योजनाओं का उद्घाटन व शिलान्यास किया. इसमें 25.47 करोड़ में बने नये समाहरणालय भवन का उन्होंने उद्घाटन किया. चैनपुर के नए प्रखंड सह अंचल कार्यालय का भी उद्घाटन हुआ. 5.32 करोड़ की लागत से बने जीएनएम कॉलेज का उद्घाटन, इसके अलावे बी मोड़ ओर से विश्रामपुर रोड के चौड़ीकरण का भी शिलान्यास किया गया. साथ ही नौडीहा, गुरी और लालगढ़ स्वास्थ्य केंद्र का उद्घाटन हुआ. इसके साथ ही 2016-17 की लंबित फसल बीमा राशि का वितरण किया गया. वही ग्यारह हजार लाभुकों के बीच रसोई गैस का भी वितरण हुआ. पांकी और छतरपुर जलापूर्ति योजनाओं की भी आधारशिला रखी गई.

इसे भी पढ़ेंःपलामू ODF की हकीकत: खुले में शौच करने गयी महिला की ट्रेन से कटकर मौत

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: