JharkhandPalamu

पलामू: खबर छपने का असर, पास के लिए प्रशासन ने लिया आवेदन- महिला ने बदला घर जाने का फैसला 

Palamu :  अपने बेटे के श्राद्ध कर्म में जाने के लिए फरियाद करने वाली सौ वर्षीया महिला ने अंतिम समय में अपना फैसला बदल दिया है. अब महिला अपने घर नहीं जाना चाहती. वह बेटी के घर पर ही रहकर कुछ दिन और समय बीताना चाहती है.

इसे भी पढ़ेंः अलविदा हीरो! अपने जैसा संसार बनाना, अपनी पृथ्वी गढ़ना, अपना सूरज बुनना…

बेटे की मौत से घर जाने की जिद पर अड़ी थी

दरअसल, पलामू जिले के हैदरनगर निवासी अखिलेश तिवारी की सास रामराजो देवी गत फरवरी महीने में अपनी बेटी से मिलने आयी थी. इसी बीच लॉकडाउन लगने से वह फंस कर रह गयी. इसी बीच रामराजो देवी के बड़े पुत्र हरिशचंद्र तिवारी बीमार पड़े और इलाज के दौरान उनकी गत 26 अप्रैल को निधन हो गया.

advt

बेटे के अंतिम दर्शन नहीं कर सकी महिला उसके श्राद्ध कर्म में जाना चाहती थी. लेकिन जाने का पास निर्गत नहीं होने के कारण वह अपने बिहार के रोहतास जिले के नासरीगंज नहीं जा पा रही थी. हालांकि इसके लिए उनके दामाद ने टॉल फ्री नंबर 181 पर संपर्क किया था.

इसे भी पढ़ेंः मांग में कमी के बावजूद घंटों कट रही बिजली, 23 अप्रैल से टीटीपीएस यूनिट टू है बंद

आवेदन को अनुशंसा कर भेजा जा रहा था मुख्यालय

न्यूज विंग में खबर छपने के बाद प्रशासन द्वारा तत्परता दिखायी गयी. हैदरनगर बीडीओ ने मंगलवार की रात 9 बजे महिला रामराजो देवी से पास निर्गत करने के लिए आवेदन लिया. आवेदन पर बीडीओ और थाना प्रभारी ने अनुशंसा कर अनुमंडल पदाधिकारी हुसैनाबाद कार्यालय को भेज दिया. बुधवार को आवेदन अनुमंडलीय कार्यालय से जिला में भेजा जा रहा था. इसी बीच महिला को ऐसी सूचना मिली कि उसने अपना निर्णय अचानक से बदल दिया.

क्यों बदला फैसला?

महिला को फोन पर बताया कि गया कि यूपी के वाराणसी में जिस अस्पताल में उसके बेटे का इलाज चल रहा था, वहां के एक मरीज में कोरोना पॉजिटिव पाया गया है. नासरीगंज में उसके घर पर स्वास्थ्य विभाग की टीम जांच के लिए पहुंची और गांव को सील कर दिया गया है. अचानक मिली इस सूचना के बाद रामराजो देवी ने घर जाने का फैसला बदल दिया और कुछ दिन और बेटी के घर पर ही रुकने का फैसला लिया.

adv

इसे भी पढ़ेंः #NewsWingImpact : मंत्री आलमगीर ने कोरोना आपदा से जूझ रही पाकुड़ गौशाला के लिए एक लाख रुपये की अनुशंसा की

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button