JharkhandPalamu

पलामू : मानदेय भुगतान के लिए दत्तक ग्रहणकर्मी आमरण अनशन पर

कर्मचारियों के समक्ष आर्थिक संकट के कारण भुखमरी की स्थिति उत्पन्न हो गयी है.

Palamu : अनाथ बच्चों की दो वर्ष तक देखभाल करने के बाद भी मानदेय नहीं मिलने से नाराज विशिष्ट दत्तक ग्रहण अधिकरण के तात्कालिक कर्मचारियों ने बुधवार से आमरण अनशन शुरू कर दिया. पलामू समाहरणालय परिसर में अपनी मांगों के समर्थन में अनशन पर बैठे हैं. अनशन पर बैठने वालों में प्रबंधक पूजा कुमारी, सुनील उरांव, प्रीति कुमारी, जूही खातून, मंजू देवी, अनीता कुमारी, बेली देवी, रानी कुमारी, सकीना बेगम आदि शामिल हैं.
मौके पर विशिष्ट दत्तक ग्रहण अधिकरण की प्रबंधक पूजा कुमारी ने कहा कि विभागीय लापरवाही के कारण पिछले दो वर्षों से विशिष्ट दत्तक ग्रहण अधिकरण के तात्कालिक कर्मचारियों का मानदेय लंबित है. नतीजा कर्मचारियों के समक्ष आर्थिक संकट के कारण भुखमरी की स्थिति उत्पन्न हो गयी है.

Jharkhand Rai

राशि कल्याण विभाग में है, पर मानदेय का भुगतान नहीं किया जा सका है.

दो वर्षों से लंबित मानदेय का भुगतान कराने के अलावा अन्य मामलों में हमें इंसाफ चाहिए. विशिष्ट दत्तक ग्रहण अधिकरण का संचालन इसडो के नेतृत्व में होता था. अब उसे हटा दिया गया है. कहा कि कर्मचारियों के मानदेय भुगतान के लिए पिछले वर्ष से राशि कल्याण विभाग में है. बावजूद अब तक मानदेय का भुगतान नहीं किया जा सका है.

इसे भी पढ़ेः JBVNL ने बिजली सप्लाई एरिया के महाप्रबंधक और अधीक्षण अभियंताओं का किया तबादला

बालिका गृह का संचालन स्वयंसेवी संस्था की तरह किया जा रहा है.

कहा है कि इसडो की ओर से बच्चों के हित में 2017 से संचालित विशेष दत्तक अभिकरण (एसएए) में उनकी देखभाल की जा रही थी. एक वर्ष पहले कुछ असामाजिक तत्वों के अलावा बाल संरक्षण कार्यालय के पदाधिकारियों के असहयोग से इस संस्था को बंद करा दिया गया.
विभाग की ओर से आज भी अवैध व नियम विरूद्ध बाल व बालिका गृह का संचालन स्वयं एक स्वयंसेवी संस्था की तरह किया जा रहा है. यह कई मानकों को पूरा नहीं करता है. दत्तक ग्रहण संस्थान के बच्चों को ही स्थानंतरित किया गया है. इसके कारण यहां के कर्मी बेरोजगार हो गये हैं.
कर्मियों ने संस्थान को बंद करने की साजिश व स्थानीय विभाग की लालफीताशाही जांच कराने, किशोर न्यास अधिनियम, नियमावली व समेकित बाल सरंक्षण योजना की अवहेलना की पड़ताल करने के अलावा दिये गये आवेदन पर पुलिस की निष्क्रियता की जांच कराने की मांग की है.

Samford

इसे भी पढ़ेः प्रेमिका की हत्या कर शव को कुएं में फेंका

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: