JharkhandPalamu

पलामू : प्रशासन ने रुकवाई नाबालिग लड़की की शादी, 17 वर्ष की थी युवती

Palamu : जिला मुख्यालय मेदिनीनगर के रामजानकी मंदिर में हो रही एक नाबालिग लड़की की शादी प्रशासन ने रोक दी है. साथ ही प्रशासनिक पदाधिकारियों ने नाबालिग लड़की के परिजनों को निर्धारित उम्र होने के बाद ही शादी करने की सलाह दी है. प्रशासनिक हस्तक्षेप के बाद शादी का सारा कार्यक्रम रूक गया है. इससे खासकर लड़की पक्ष के लोग परेशान हैं. लड़की की मां का रो रोकर बुरा हाल है.

जानकारी के अनुसार रामजानकी मंदिर में मंगलवार की दोपहर मेदिनीनगर सदर प्रखंड की रजवाडीह पंचायत क्षेत्र की 17 वर्षीय किशोरी की शादी गढ़वा जिले के रंका के 23 वर्षीय युवक के साथ हो रही थी. चाइल्ड लाइन पर शिकायत के बाद इसकी जानकारी जिले के उपायुक्त को मिली.

इसे भी पढ़ें:CM हेमंत लीज प्रकरण और शेल कंपनी मामले पर 19 मई को होगी सुनवाई

Catalyst IAS
ram janam hospital

उपायुक्त के निर्देश पर सदर प्रखंड विकास पदाधिकारी अमिताभ भगत, सदर थाना प्रभारी कमलेश कुमार एवं टीओपी वन के प्रभारी रेवाशंकर राणा मौके पर पहुंचे और शादी रोक दी.

The Royal’s
Pitambara
Sanjeevani
Pushpanjali

जिस समय प्रशासन पहुंचा, उस वक्त लड़का का तिलक चढ़ गया था और आगे के कार्यक्रम में लोग जुटे हुए थे.
अचानक प्रशासनिक टीम को देखकर परिजन और अन्य लोग अवाक रह गए. छानबीन के दौरान लड़की के परिजनों से बीडीओ, थाना प्रभारी एवं टीओपी वन प्रभारी ने बातचीत की.

इसे भी पढ़ें:होल्डिंग टैक्स में बढ़ोतरी से व्यापारी परेशान, लोगों को सता रही चिंता

जांच के बाद सामने आया कि लड़की की उम्र 17 वर्ष है, जबकि लड़के की उम्र 23 वर्ष पाया गया. बीडीओ ने तत्काल शादी पर रोक लगा दी और 18 वर्ष पुरने के बाद ही शादी करने की सलाह परिजनों को दी.

लड़की की मां का कहना था कि किसी तरह एक से डेढ़ लाख रूपए कर्ज लेकर शादी की तैयारी पूरी की थी. शादी रूकने से कर्ज का बोझ बढ़ गया है. महिला ने आरोप लगाया कि उसके देवर के साथ जमीन विवाद चल रहा है. उसके द्वारा ही परेशान करने के लिए इस संबंध में शिकायत की गयी है.

इसे भी पढ़ें:CM हेमंत लीज प्रकरण और शेल कंपनी मामले पर 19 मई को होगी सुनवाई

इधर सदर बीडीओ अमिताभ भगत ने बताया कि फोन पर सूचना मिली कि एक नाबालिग लड़की की शादी रामजानकी मंदिर में हो रही है. सूचना पर सदर थाना प्रभारी और टीओपी वन प्रभारी के साथ मौके पर पहुंचे और जांच पड़ताल की.

लड़की की पहचान पत्र से उसकी जन्म तिथि 6.07.2005 है, जबकि लड़के की जन्म तिथि 1.1.1999 है. इसके हिसाब से लड़के की उम्र 23 वर्ष, जबकि लड़की की 17 वर्ष साबित होती है. मामले में लड़की के परिवार को समझाया गया है और शादी योग्य उम्र होने पर ही विवाह करने की सलाह दी गयी है.

इसे भी पढ़ें:EX MLA ताला मरांडी और EX MLC प्रवीण सिंह की BJP में वापसी, दीपक प्रकाश ने जतायी पार्टी के मजबूत होने की उम्मीद

Related Articles

Back to top button