Palamu

पलामूः मनरेगा में फर्जी निकासी पर कार्रवाई, मुखिया, पंचायत सचिव समेत चार से वसूली

Palamu: पलामू के उपायुक्त शशि रंजन के जनता दरबार का असर हो रहा है. जनता दरबार में आए आवेदनों के निपटारे में जिला के पदाधिकारी निरंतर लगे हुए हैं. इसी क्रम में उप विकास आयुक्त शेखर जमुआर ने जनता दरबार में प्राप्त शिकायत पत्र के आलोक में जिला स्तरीय जांच दल गठित कर पंडवा के मुखिया, पंचायत सचिव, ग्राम रोजगार सेवक एवं कंप्यूटर ऑपरेटर के विरुद्ध कार्रवाई की है.

Jharkhand Rai

इसे भी पढ़ेंः अहम की लड़ाई का अड्डा बना रांची नगर निगम, पिस रही शहर की जनता 

मनरेगा में फर्जी निकासी है मामला

उपायुक्त जनता दरबार में पंडवा से आए एक फरियादी ने ग्राम पंचायत पंडवा के मुखिया मेघनाथ महतो के विरुद्ध मनरेगा योजनाओं में फर्जी निकासी एवं वित्तीय अनियमितता संबंधित शिकायत की थी. उपायुक्त ने शिकायत की जांच करने हेतु उप विकास आयुक्त को निर्देश दिया था.

उप विकास आयुक्त ने आरोपों की जांच के लिए जिला स्तरीय जांच दल का गठन किया. जांच दल द्वारा समर्पित जांच प्रतिवेदन में बताया गया कि भुगतान के लिए गलत प्रक्रिया को अपना कर फर्जी तरीके से कुल 24 हजार 116 रुपए की निकासी की गई है, जो वित्तीय अनियमितता का मामला बनता है.

Samford

जांच दल की अनुशंसा के आधार पर हुई पैसों की रिकवरी

उपरोक्त अनियमितता के आलोक में जांच दल द्वारा की गई अनुशंसा के आधार पर सभी संबंधित दोषी कर्मियों कंप्यूटर ऑपरेटर, ग्राम रोजगार सेवक सूर्यदेसी राम, पंचायत सचिव देवेन्द्र कुमार तथा मुखिया मेघनाथ महतो से निर्धारित की गई (प्रत्येक से 6029) राशि की वसूली करते हुए स्पष्टीकरण मांगा गया है.

उप विकास आयुक्त ने बताया कि पंचायत सचिव, मुखिया तथा ग्राम रोजगार सेवक से वसूली नाजिर रसीद के माध्यम से कर ली गई है तथा कंप्यूटर ऑपरेटर से राशि की वसूली हेतु प्रखंड विकास पदाधिकारी पंडवा को निर्देश दिया गया है.

इसे भी पढ़ेंः अहम की लड़ाई का अड्डा बना रांची नगर निगम, पिस रही शहर की जनता

मजदूरों की जगह वेंडर के खाते में डाली गयी थी राशि

मामला वर्ष 2016-17 का है. पंडवा पंचायत क्षेत्र में मनरेगा के तहत पूरी की गयी योजनाओं में मजदूरों को खाते में पैसा देना था, लेकिन मुखिया सहित अन्य ने पैसे वेंडर (दुकानदार) के खाते में डाल दिया गया था.

इधर, अब तक जनता दरबार में आये कई पेंशन, राशन कार्ड, आवास, जमीन आदि के मामलों का निपटारा किया जा चुका है. उपायुक्त के जनता दरबार में फरियादी पेंशन, राशन, जमीन, आवास इत्यादि मामलों की शिकायत लेकर आते हैं, जिसे डीसी निष्पादन के लिए संबंधित पदाधिकारी को निर्देश देते हैं.

बता दें कि उपायुक्त का जनता दरबार समाहरणालय स्थित उनके कार्यालय में प्रत्येक मंगलवार तथा शुक्रवार को लगाया जाता है.

इसे भी पढ़ेंः राशन कार्ड बनवाने के लिए स्पेशल कैंप, बड़गाई, हेहल, अरगोड़ा समेत स्लम एरिया पर विशेष ध्यान

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: