NEWS

पलामू: एनपीयू में कार्यरत व एलिजिबल कर्मियों को जुलाई 2020 से मिलेगा एसीपी-एमएसीपी का लाभ

Palamu: नीलांबर पीतांबर विश्वविद्यालय में कार्यरत एवं एलिजिबल कर्मियों को जुलाई 2020 से एसीपी-एमएसीपी का लाभ दिया जाएगा. आनलाइन वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से हुई अभिषद (सिंडिकेट) की 59वीं बैठक में इस पर मुहर लगायी गयी. बैठक में पूर्व की अलग अलग बैठकों में लिए गए निर्णयों पर भी संपुष्टि प्रदान की गई. अध्यक्षता कुलपति प्रोफेसर डॉक्टर राम लखन सिंह ने की.

विदित हो कि मंगलवार से एसीपी-एमएसीपी का लाभ देने और छूटे हुए कर्मियों का वेतन निर्धारण कराने की मांग को लेकर नीलाम्बर-पीताम्बर विश्वविद्यालय प्रक्षेत्र के कर्मचारियों  ने अनिश्चितकाली हड़ताल शुरू की थी. एनपीयू प्रशासनिक भवन परिसर में धरना दिया था. मांगे पूरी हो जाने से उनकी हड़ताल समाप्त हो गयी है. 

बैठक में निर्णय लिया गया कि जिन कर्मियों का वेतन निर्धारण राज्य सरकार से प्राप्त नहीं हुआ है उन्हें सशर्त शपथ पत्र समर्पित करने के उपरांत इंटरनल रिसोर्स के जरिए जुलाई माह से छह माह तक का वेतन भुगतान किया जाएगा. इस बीच एनपीयू के वेतन निर्धारण समिति की तीन सितंबर को संपन्न बैठक में लिए गए निर्णयों को संपुष्टि प्रदान की गयी.

advt

संबद्धता एवं नव पाठ्यक्रम समिति की छह सितंबर को संपन्न बैठक में लिए गये निर्णयों को भी संपुष्ट किया गया. वनांचल नर्सिंग कॉलेज को बीएससी नर्सिंग में 2019-20 के लिए नवसंबंधन, कुमारेश इंटरनेशनल कॉलेज को एमएड के 2020-21 के लिए संबंधन दीर्घीकरण, पलामू फार्मेसी कालेज को बी फार्मा के लिए एनओसी प्रदान करने की स्वीकृति दी गयी. आरोग्यम नर्सिंग कालेज को बीएससी नर्सिंग के 2020-21 के लिए राज्य सरकार से स्वीकृति प्राप्त होने पर नवसंबंधन देने पर कार्रवाई की जायेगी.

इसे भी पढ़ें – पलामू: दिव्यांग स्कूल में पांचवीं कक्षा की छात्रा गर्भवती

21 अस्थायी अनुबंध व दैनिक कर्मियों की सेवा सामंजन पर सहमति 

अभिषद सदस्य डा वीरेंद्र कुमार ने उच्च न्यायालय के निर्णय के आलोक में विश्वविद्यालय में कार्यरत 21 अस्थाई अनुबंध व दैनिक कर्मियों की सेवा सामंजन करने के लिए प्रस्ताव रखा. इसपर कई सदस्यों ने सहमति प्रदान की है.

कुलानुशासक डा विभेष कुमार चौबे व वित्त पदाधिकारी डा नकुल प्रसाद ने कहा गया कि यह मामला नई नियुक्ति का नहीं है. सेवा सामंजन का है. सभी संबंधित कर्मी स्थापना काल से ही कार्य कर रहे हैं. ऐसी स्थिति में इसपर सकारात्मक निर्णय लिया जा सकता है.

adv

कुलपति ने कहा कि इस मामले में विश्वविद्यालय स्तर पर एक समिति का गठन किया गया है. समिति का प्रतिवेदन प्राप्त होते ही सकारात्मक प्रयास किया जाएगा.

इसे भी पढ़ें – झारखंड में 8 सितंबर को 1858 नये कोरोना संक्रमित मिले, 10 मौतें भी, टोटल केस 54502

एके सिंह कॉलेज कर्मियों के वेतन नहीं मिलने का मामला उठाया गया

अभिषद सदस्य अरुण कुमार सिंह के द्वारा घंटी आधारित शिक्षकों के वेतन से संबंधित एवं एके सिंह कॉलेज जपला में डोनर मेंबर के बगैर ही जीबी का गठन किये जाने का मामला उठाया गया. संतोष कुमार पासवान ने भी एके सिंह कॉलेज जपला के कर्मियों को वेतन नहीं मिलने का मामला उठाया. कुलपति ने बताया कि एके सिंह कॉलेज जपला के प्राचार्य को सभी दस्तावेजों के साथ विश्वविद्यालय बुलाकर इस संबंध में विस्तृत जांच करते हुए यथाशीघ्र उचित कार्रवाई की जायेगी.

बैठक में प्रतिकुलपति प्रो दीप नारायण यादव, प्रो एनआर राय, डीएसडब्ल्यू डा मोहिनी गुप्ता, डा वीरेंद्र कुमार, संतोष कुमार पासवान, अरुण कुमार सिंह, रेणुका पांडेय, डा विभेश कुमार चैबे, डा श्रवण कुमार, डा अनीता सिन्हा, डा आरपी सिंह, डा आईजे खलखो व कुलसचिव प्रो जयंत शेखर समेत आमंत्रित सदस्य के रूप में सीसीडीसी डा एके पांडेय व वित्त पदाधिकारी डा नकुल प्रसाद उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें – अपर समाहर्ता अब कर सकते हैं अवैध जमाबंदी को रद्द, डीसी के यहां होगी अपील, जानिए किन बातों पर कैबिनेट में लगी मुहर

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button