न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पलामू : बेतला में जुटे देश के जाने-माने ऑर्थोपेडिक सर्जन

 मिडकॉन 2018 समागम में इलाज की नयी तकनीक पर विस्तार से हुई चर्चा

156

Palamu : विश्व प्रसिद्ध बेतला नेशनल पार्क परिसर में शनिवार को झारखंड आर्थोपेडिक एसोसिएशन के द्वारा ऑर्थोपेडिक सर्जन का समागम मिडकॉन 2018 का आयोजन किया गया. कार्यक्रम का उद्घाटन एसोसिएशन के अध्यक्ष सह रिम्स के एचओडी डॉ. एलबी मांझी, डॉ राजीव राम,  डॉक्टर सुधीर कुमार, डॉ विजय कुमार, डॉ दिलीप सिन्हा, डॉ रजत शरण, आयोजन समिति के अध्यक्ष डॉ. अरुण कुमार शुक्ला बेतला के हाजी खुर्शीद आलम ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर किया.

इसे भी पढ़ें- सड़क हादसे में दो की मौत-दो जख्मी, दुर्घटना पर लोगों का हंगामा

मिडकान के बाद पत्रकारों से बात करते डॉक्टर  

पलामू में भी नयी तकनीक को लाया जाए

कार्यक्रम के दौरान हड्डी रोग से संबंधित बिंदुओं पर चर्चा की गई. यह बताया गया कि किस तरह से हड्डियों के इलाज के लिए नई तकनीकी इस्तेमाल में लायी जा सकती है. इस पर विशेष रूप से चर्चा की गई. बताया गया कि आजादी के बाद जो नई तकनीकी भारत में लांच की गई है,  वह सिर्फ आज बड़े शहरों में ही सीमित है, उसे पलामू जैसे छोटे जगह पर किस तरह से लाया जा सकता है. इस पर विचार किया गया.

इसे भी पढ़ें- जन आंदोलन के रूप में लेकर जिला को कुपोषण मुक्त बनाएं : सुदर्शन भगत

सड़कों में बने ब्रेकर से भी हड्डियों को नुकसान पहुंच रहा है

देश के प्रसिद्ध चिकित्सकों ने तकनीकी के बारे में विस्तार से जानकारी दी. बताया कि चिकित्सा के क्षेत्र में किस तरह से आधुनिक तरीके से इलाज संभव है. हड्डियों के सूख जाने पर पुनः हड्डियों को रिप्लेसमेंट किया जा सकता है. झारखंड के रांची, पटना, बेंगलुरु, रोहतक कोलकाता सहित देश के अन्य हिस्सों से प्रसिद्ध ऑर्थोपेडिक सर्जन ने अपने विचार शेयर किए.

palamu_12

कार्यक्रम के दौरान यह बताया गया कि सड़कों में बने ब्रेकर से भी हड्डियों को नुकसान पहुंच रहा है. वहीं कोल्ड ड्रिंक्स भी हड्डियों को कमजोर कर रहे हैं. कार्यक्रम के दौरान यह बताया गया कि जो दवाइयां बाजार में उपलब्ध है उसे प्रयोग करने में भी सावधानी बरतने की जरूरत है.

इसे भी पढ़ें- कोयलांचल में रंगदारी और कोयले की कमाई पर वर्चस्व को लेकर 29 साल में हुईंं 340 से ज्यादा हत्याएं

बेतला की जो नकारात्मक छवि है, वह कैसे दूर हो

कार्यक्रम के उद्घाटन के समय हाजी खुर्शीद आलम ने कहा कि यदि बेतला क्षेत्र में हड्डी रोग के संबंधित अस्पताल बनाने का प्रस्ताव आएगा तो हुए 1 एकड़ जमीन दान करेंग. कार्यक्रम के दौरान दूर दराज से आए चिकित्सकों ने बेतला की सराहना की. वहीं आयोजन समिति के अध्यक्ष डॉक्टर अरुण शुक्ला ने कहा कि बेतला में इस तरह के कार्यक्रम के आयोजन का उद्देश्य लोगों को यहां के बारे में बताना था। बेतला की जो नकारात्मक छवि है, वह कैसे दूर हो. इस पर विचार किया गया.

मौके पर कचोरी डॉक्टर एल.बी माइन, डॉक्टर भूषण, डॉ मंजीत सिंह, डॉक्टर सुधीर कुमार, डॉ. जगदीश शिव शंकर, डॉ राजेश शरण, डॉ पुरुषोत्तम, डॉ. नीतीश कुमार, डॉ रोहित लाल, डॉ. संजय कुमार, डॉ. रवि कुमार सहित सहित कई शहरों के चिकित्सक उपस्थित थे.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: